Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    50 हजार से अधिक रकम लेकर चलने वाले रहें सावधान, इनकम टैक्स और पुलिस की आप पर है नजर

    चुनाव को लेकर पटना में अति महत्वपूर्ण बैठक करते अधिकारी
    चुनाव को लेकर पटना में अति महत्वपूर्ण बैठक करते अधिकारी

    Bihar Assembly Elections: बिहार में तीन चरणों में होने वाले चुनाव को लेकर निर्वाचन आयोग ने कई तरीके के गाइडलाइन जारी किए हैं. चुनाव आयोग की नजर वैसे लोगों पर भी है जो धन के बल पर चुनव को प्रभावित करने की कोशिश करते हैं.

    • News18 Bihar
    • Last Updated: September 27, 2020, 7:04 AM IST
    • Share this:
    पटना. बिहार में होने वाले विधानसभा चुनाव (Bihar Elections 2020) के तारीखों की घाेषणा हाेने के साथ ही पटना पुलिस और जिला प्रशासन की टीम फुल एक्शन माेड में है. चुनाव के दाैरान अगर किसी के पास से 50 हजार से अधिक रकम (Cash) मिलेगी ताे उनसे पूछताछ की जाएगी कि रकम कहां से ला रहे हैं और कहां ले जाना है. अगर आपके जवाब से पुलिस संतुष्ट नहीं हुई ताे पुलिस इस रकम काे जब्त भी कर सकती है. कहीं आपके पास 10 लाख से अधिक रुपए मिले ताे पुलिस ताे पूछताछ करेगी साथ ही ये मामला आयकर अधिकारी (Income Tax) के हवाले कर दिया जाएगा.

    आयकर अधिकारी उनसे इस रकम का पूरा ब्याेरा लेंगे, सारा डिटेल्स बताना हाेगा. दरअसल चुनाव आयोग के गाइडलाइन के अनुसार, पुलिस ऐसाा करने जा रही है. पटना समेत सभी शहरों के हर इलाके में अब हरेक वाहन की चेकिंग तेज की जाएगी. इसके लिए पटना जिले में 140 चेक पाेस्ट बनाए गए हैं. पटना जिले के लिए कुल 84 फ्लाइंग स्क्वाॅयडाें की टीम की तैनाती की गई है. हर स्क्वाॅयड में एक मजिस्ट्रेट, एक पुलिस अफसर और दो जवान रहेंगे. शहरी से लेकर ग्रामीण इलाकों में भी टीम रहेगी.

    पटना जिला की सीमा 8 जिलाें नालंदा, आरा, वैशाली, छपरा, जहानाबाद, अरवल, लखीसराय और अरवल से जुटती है. इन जिले की सीमाओं पर भी पुलिस की तैनाती रहेगी. पटना के एसएसपी ने बताया कि अभी और चेकपाेस्ट बनाए जाएंगे. बिहार में होने वाले चुनावों को लेकर जारी की गई अधिसूचना और आर्दश आचार संहिता लागू होने के बाद जिला प्रशासन ने चुनाव को लेकर ही सख्ती बरतनी शुरू की है. बिहार में होने वाले चुनाव में पैसे के खेल को रोकने के लिए बड़े पैमाने पर पूरे राज्य में चेकिंग अभियान भी चलाए जा रहे हैं ताकि अवैध तरीके से रूपये लेनदेन को रोका जा सके. ऐसे में बड़ी रकम लेकर चलने पर उसके स्त्रोत कार्य, जरूरत एवं प्रमाण भी खोजे जाएंगे
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज