45 मजदूरों के साथ नेपाल पहुंचा अभियंताओं का दल, युद्धस्तर पर बांध मरम्मत का काम शुरू

जल संसाधन विभाग ने फिलहाल किसी भी तरह के तटबंध पर खतरे की आशंका से इनकार किया है.

प्रत्येक वर्ष बाढ़ आने से पूर्व जल संसाधन विभाग गंडक बराज के दोनों तरफ के बाध का मरम्मत का कार्य करता रहा है. कोरोना को लेकर लॉकडाउन के बीच बॉर्डर सील होने के कारण इस वर्ष काम पूरा नहीं हो सका था.

  • Share this:
पटना. भारत- नेपाल बॉर्डर (India-Nepal Border) पर गतिरोध समाप्त होने के बाद जल संसाधन विभाग की टीम ने नेपाल स्थित एप्लेक्स बांध (Applex Dam) पर फ्लड फाइटिंग के तहत बांध मरम्मत का कार्य शुरू कर दिया है. 45 मजदूरों की टीम अभियंताओं के साथ कोरोना जांच रिपोर्ट के साथ नेपाल पहुंच गई है और बांध मरम्मत काम शुरू हो गया है. काम शुरू होने के साथ ही दोनों देशों के बीच तटबंध मरम्मत को लेकर बना गतिरोध समाप्त हो गया है. जल संसाधन विभाग के पत्र के आलोक में बाल्मीकि नगर स्वास्थ्य केंद्र से मजदूरों के साथ संवेदक और अभियंताओं (Engineers) की भी कोरोना जांच के बाद रिपोर्ट तैयार की गई है. कोरोना रिपोर्ट के साथ सभी कर्मचारियों को नेपाल जाने की अनुमति दी गई है.

मजदूरों के साथ ट्रैक्टर और जरूरी सामान भी भारतीय क्षेत्र से होकर नेपाल पहुंचा है. कार्यपालक अभियंता मो. जमील अहमद ने बताया कि गतिरोध समाप्त होने के बाद युद्धस्तर पर विभाग पहले चरण में बांध मरम्मत का काम कर रहा है. साथ ही पर्याप्त मात्रा में मैटेरियल भी स्टॉक किया जा रहा है. उन्होंने बताया कि फिलहाल बांध मरम्मत को लेकर किसी तरह का कोई अवरोध नहीं है. फिलहाल बांध पर कोई खतरा नहीं है.

खतरे की आशंका से इनकार किया है
जल संसाधन विभाग ने फिलहाल किसी भी तरह के तटबंध पर खतरे की आशंका से इनकार किया है. विभाग के अभियंताओं का कहना है कि युद्धस्तर पर एप्लेक्स बांध में जो भी क्षतिग्रस्त बिंदु हैं उन्हें दुरुस्त किया जा रहा है. साथ ही गंडक बराज बांध से जुड़े अन्य मरम्मत का कार्य समय रहते पूरा कर लिया जाएगा.

आने- जाने पर पाबंदी में छूट देने से इनकार कर दिया था
बता दें कि ऐसे भी प्रत्येक वर्ष बाढ़ आने से पूर्व जल संसाधन विभाग गंडक बराज के दोनों तरफ के बाध का मरम्मत का कार्य करता रहा है. कोरोना को लेकर लॉकडाउन के बीच बॉर्डर सील होने के कारण इस वर्ष काम पूरा नहीं हो सका था. जब जल संसाधन विभाग ने काम शुरू करना चाहा तो नेपाल ने बॉर्डर सील होने का हवाला देकर किसी के आने- जाने पर पाबंदी में छूट देने से इनकार कर दिया था. इसके कारण अबतक बांधों की मरम्मत का कार्य नेपाल के क्षेत्र में नहीं हो पाया था, जिससे उत्तर बिहार में  बड़े खतरे की आशंका बढ़ गई थी.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.