Bihar Politics: लालू यादव की रिहाई के लिए रोजा रखनेवाली बेटी रोहिणी की राजनीति में होगी एंट्री! जानें इनसाइड स्टोरी

लालू प्रसाद यादव के साथ बेटी रोहिणी आचार्य (फाइल फोटो)

Explained: रोहिणी के ट्विटर अकाउंट को देखें तो उनके निशाने पर न सिर्फ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, बल्कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी रहते हैं. गृहमंत्री अमित शाह के अलावा उन्होंने सुशील मोदी पर भी बेहद तीखी टिप्पणियां की हैं.

  • Share this:
पटना. राष्ट्रीय जनता दल के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव की बेटी मीसा भारती के बाद उनकी एक और पुत्री रोहिणी आचार्य बिहार की राजनीति में काफी सक्रियता दिखा रही हैं. हाल के दिनों में उन्‍होंने ट्विटर पर अपनी सक्रियता काफी बढ़ा दी है. ऐसे तो उनका यह अकाउंट वैसे तो नवंबर 2017 से है, लेकिन इस पर राजनीतिक सक्रियता पिछले कुछ महीनों से अधिक है. पहले पिता लालू प्रसाद की रिहाई के लिए ट्विटर पर रोजा रखने का ऐलान, फिर एक के बाद एक बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी पर ताबड़तोड़ हमले. स्पष्ट है कि रोहिणी के इस ट्वटिर हैंडल से ज्‍यादातर टिप्‍पणियां पूरी तरह राजनीतिक होती हैं. 'सुशील मोदी को थूर देंगे', हाल में ही रोहिणी का ट्विटर पर दिए गए इस बयान ने काफी सुर्खियां बटोरीं.

रोहिणी आचार्य का यह ट्विटर अकाउंट फिलहाल अनवेरिफाइड है. इस अकाउंट पर रोहिणी की जो प्रोफाइल तस्‍वीर लगी है, उसमें खुद के अलावा उन्‍होंने अपने पिता लालू यादव और छोटे भाई तेजस्‍वी यादव की तस्‍वीर लगा रखी है. उनकी प्रोफाइल तस्‍वीर के साथ जो बैज लगा है, उसमें 'युवा संकल्‍प, तेजस्‍वी विकल्‍प' लिखा हुआ है. यानी यह साफ है कि तेजस्वी यादव को आगे रखकर ही उनकी राजनीति आगे बढ़ने वाली है. सवाल यह है कि आखिर तेजस्वी के साथ उनकी पॉलिटिक्स किस रास्ते आगे बढ़ सकती है.

लालू परिवार के छठे सदस्य की राजनीति में होगी एंट्री!
बता दें कि लालू फैमिली में कई सदस्य पहले से राजनीति में बेहद सक्रिय हैं. स्वयं लालू प्रसाद यादव एवं पूर्व सीएम राबड़ी देवी के अलावा बड़ी बेटी मीसा भारती, बड़ा बेटा तेज प्रताप यादव और छोटा बेटा तेजस्वी यादव बिहार की सियासत को साध रहे हैं. अब लालू परिवार की छठी सदस्य भी राजनीति में आने को आतुर हैं. हालांकि, लालू परिवार में भी गाहे-बगाहे सियासी खटपट की बातें सामने आती रहती हैं. तेजप्रताप-तेजस्वी के बीच खींचतान के साथ ही मीसा भारती की महत्वाकांक्षा भी कई बार जाहिर हो चुकी है. अब रोहिणी कि ख्वाहिश के साथ राजनीति में एंट्री कर रही हैं, यह देखना दिलचस्प होगा.

पहली बार राजनीतिक सुर्खियों में आईं रोहिणी
रोहिणी के राजनीति में आने की चर्चा इसलिए भी तेज है, क्योंकि सबसे पहले उनका नाम खुलकर तब सामने आया था जब वर्ष 2016 में तेजस्वी यादव बिहार के डिप्टी सीएम थे. उसी दौर में तेजस्वी का नाम बेनामी संपत्ति मामले में सामने आया था. उस वक्त यह खबर भी सामने आई थी कि लालू परिवार तेजस्वी को हटाने पर विचार कर रहा है और उनकी जगह रोहिणी आचार्य को उपमुख्यमंत्री बनाया जा सकता है. इसकी वजह यह भी थी कि तब मीसा भारती और उनके पति शैलेश कुमार का भी नाम इसी मामले में आया था. जाहिर है ऐसे में मीसा भारती के नाम की चर्चा हो भी नहीं सकती थी.

लालू की रिहाई को रोजा रखने का ऐलान कर चर्चा में आईं
हालांकि तब भी आधिकारिक तौर पर रोहिणी का नाम सामने नहीं आया था. इसके बाद नीतीश कुमार ने राजद का साथ छोड़ा और भाजपा के साथ सरकार बन गई. तब रोहिणी पर हो रही चर्चा भी वहीं थम गई. हाल में चारा घोटाले में जेल जाने के बाद से लालू यादव की बेटी रोहिणी ने अपनी सक्रियता ट्विटर पर दिखाई और अपने पिता लालू प्रसाद यादव की रिहाई के लिए आवाज बुलंद करती रहीं. सबसे अधिक चर्चा तब हुई जब उन्होंने पिता की रिहाई के लिए रोजा रखने का ऐलान किया. इसके बाद तो वह अक्सर बिहार से संबंधित हर मुद्दे पर अपनी राय रखती हैं.

डॉ रोहिणी आचार्य के निशाने पर अक्सर रहते हैं ये नेता
रोहिणी के ट्विटर अकाउंट को देखें तो उनके निशाने पर न सिर्फ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बल्कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी रहते हैं. गृहमंत्री अमित शाह के अलावा उन्होंने सुशील मोदी पर भी बेहद तीखी टिप्पणियां की हैं. बक्‍सर में गंगा में मिलीं लाशों को लेकर एक्‍ट्रेस कंगना रानौत को भी उन्होंने आंख की अंधी और दिमाग के पैदल बताया था. विशेष तौर पर नजर देने की बात यह भी है कि लालू की बड़ी बेटी व राज्‍यसभा सांसद मीसा भारती उतनी सक्रिय नहीं दिख रही हैं और न ही उनका ट्विटर अकाउंट ही ज्यादा एक्टिव है.

पिता लालू यादव को बताते हैं मानवता का सच्चा हितैषी
रोहिणी अक्सर अपने पिता लालू प्रसाद यादव को पीड़ित और सच्चा बताती हैं. हाल में उनके द्वारा लिखी गई एक कविता ने भी काफी सुर्खियां बटोरी थीं. उन्होने लिखा, हम उस पापा की बिटिया हैं.. मानवता का पाठ पढ़ाया जिसने.. आदर्शों पर चलकर चलना.. हमें सिखलाया जिसने.. हिंदुस्तानी है हम.. हिंदुस्तानी ही बनकर हम रहने वाले. अपनी इसी ट्वीट में उन्होंने आगे लिखा, कौन सा धर्म अपनाए हम.. मंदिर मस्जिद गुरुद्वारे चर्च जाकर..क्या हिंदुस्तानी नहीं कहलाए हम.. एक ही धर्म की कट्टरता में.. क्या भूल जाए मानवता को हम.. सुन लो धर्म के ठेकेदारों.. हमें धर्म का ना पाठ पढ़ाना.. मानवता को हम मानने वाले.. हम उस पापा की बिटिया हैं.

रोहिणी के ट्वीट भी करते हैं कुछ इशारे, दे रहे ये संकेत
अपने एक ट्वीट में रोहिणी ने आरजेडी व लालू परिवार के लिए लिखा है कि वे सेवा करते हैं और करते रहेंगे. इस विपदा (कोरोना) की घड़ी में जनता का साथ तन मन से निभाएंगे. ऐसे में रोहिणी पॉलिटिकल एंट्री की चर्चा भी तेज हो गई है. बिहार की राजनीति को गहराई से जानने वाले वरिष्ठ पत्रकार अशोक कुमार शर्मा की मानें तो आने वाले समय में हम डॉ रोहिणी आचार्य को राज्यसभा में भी देख सकते हैं क्योंकि तेजस्वी यादव के चेहरे को लेकर राजद में फिलहाल कोई संशय नहीं है और न ही उनके सामने अब तेजप्रताप यादव या फिर मीसा भारती की कोई चुनौती ही है.

लालू प्रसाद यादव की दूसरी बेटी हैं डॉ रोहिणी आचार्य
गौरतलब है कि रोहिणी आचार्य लालू प्रसाद यादव की दूसरी बेटी हैं और पेशे से डॉक्टर हैं. उनके पति समरेश सिंह सॉफ्टवेयर इंजीनियर हैं और शादी के वक्त (2002) अमेरिका में जॉब कर रहे थे. फिलहाल सिंगापुर में एक कपंनी के मैनेजिंग डायरेक्टर हैं. हाल में जब से रोहिणी ट्विटर पर अधिक एक्टिव हुई हैं तो लोग उनके प्रोफाइल भी खंगाल रहे हैं. इसके साथ ही उनके समर्थकों की संख्या भी बढ़ती जा रही है. रोहिणी के इस अकाउंट के करीब 50 हजार फॉलोअर हैं जबकि, रोहिणी खुद केवल 69 लोगों को ही फॉलो करती हैं.

लालू यादव की सभी सात बेटियों का हो चुका है विवाह
बता दें कि लालू-राबड़ी की सात बेटियां हैं. मीसा और रोहिणी के बाद तीसरी बेटी चंदा यादव की शादी एयरलाइंस पायलट विक्रम सिंह, चौथी बेटी रागिनी की शादी यूपी के सपा नेता राहुल यादव, पांचवीं बेटी हेमा की शादी दिल्‍ली के नेता विनीत यादव, छठी बेटी धन्‍नु उर्फ अनुष्‍का की शादी हरियाणा के राजनेता चिरंजीवी राव और सातवीं बेटी राजलक्ष्‍मी की शादी यूपी में मुलायम सिंह यादव के पोते तेज प्रताप सिंह यादव से हुई है. बेटे तेज प्रताप यादव की शादी भी हो चुकी है, हालांकि उनका पारिवारिक जीवन विवादों में है. वहीं सबसे छोटे बेटे तेजस्वी यादव का विवाह अभी नहीं हुआ है.