• Home
  • »
  • News
  • »
  • bihar
  • »
  • Explained: तेजस्वी, चिराग और कन्हैया..., तो क्या अब युवाओं के बूते चलेगी बिहार की सियासत

Explained: तेजस्वी, चिराग और कन्हैया..., तो क्या अब युवाओं के बूते चलेगी बिहार की सियासत

Bihar Politics: तेजस्वी यादव, कन्हैया कुमार और चिराग पासवान बिहार की राजनीति का रंग बदलने में जुटे हैं.

Bihar Politics: तेजस्वी यादव, कन्हैया कुमार और चिराग पासवान बिहार की राजनीति का रंग बदलने में जुटे हैं.

आपके लिए इसका मतलब: बिहार की राजनीति में इन दिनों जो युवा चेहरे सबसे अधिक सुर्खियों में हैं, उनमें तेजस्वी यादव, कन्हैया कुमार और चिराग पासवान का नाम प्रमुख है. तीनों नेता अलग-अलग दलों से हैं, लेकिन इनमें बिहार की राजनीति के भविष्य को लेकर काफी संभावनाएं दिखती हैं.

  • Share this:

पटना. वक्त के साथ-साथ बिहार की सियासत के रंग भी बदलने वाले हैं. बिहार की राजनीति की कमान अब तजुर्बेकार और बुजुर्ग नेताओं की जगह, यहां के युवा-तुर्कों के हाथ में आने वाली है. या यूं कहें कि इन उभरते नेताओं ने सियासत की बागडोर संभाल भी ली है. बिहार विधानसभा चुनाव में जो तस्वीर दिखी, उससे यह तो साफ हो गया कि बिहार की राजनीति का रंग अब बदल चुका है. लंबा अनुभव और राजनीति के दांव-पेच में माहिर बुजुर्ग राजनेताओं की जगह, सियासी ऊर्जा से लबरेज और 21वीं सदी की पॉलिटिक्स करने वाले नौजवान नेता खूब सक्रिय दिखने लगे हैं. बात चाहे राष्ट्रीय जनता दल (RJD) की हो या लोक जनशक्ति पार्टी यानी लोजपा (LJP) की. या फिर देश की सबसे पुरानी पार्टी कांग्रेस (Congress) ही क्यों न हो, इन दलों में युवा नेताओं ने अपनी जगह बनाई है, स्थापित की है.

राजद की ओर से तेजस्वी यादव, लोजपा नेता चिराग पासवान और कांग्रेस में शामिल होने जा रहे कन्हैया कुमार, बिहार के ये युवा चेहरे राजनीति में लंबी पारी खेलने के लिए पूरी तरह तैयार दिख रहे हैं. बिहार की सियासत को जानने-समझने वालों को भी इन चेहरों से बड़ी उम्मीदें होंगी. ऐसे में इन नेताओं के उभरते राजनीतिक करियर पर आइए डालते हैं एक नजर…

तेजस्वी यादव- NDA को नाकों चने चबाने वाला नेता

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज