Home /News /bihar /

आपके लिए इसका मतलब: पश्चिम बंगाल चुनाव में ममता के साथ राजद तो किसका बिगड़ेगा खेल?

आपके लिए इसका मतलब: पश्चिम बंगाल चुनाव में ममता के साथ राजद तो किसका बिगड़ेगा खेल?

तेजस्वी यादव व ममता बनर्जी (फाइल फोटो)

तेजस्वी यादव व ममता बनर्जी (फाइल फोटो)

West Bengal Election: राष्ट्रीय जनता दल (RJD) पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी (Mamta Banrjee) की पार्टी तृणमूल कांग्रेस (TMC) से समझौता कर चुनावी मैदान में उतर सकता है.

पटना. राष्ट्रीय जनता दल (RJD) ने अपना विस्तार करने के इरादे से पश्चिम बंगाल ( West Bengal) चुनाव लड़ने के लिए कमर कस ली है. पार्टी के दो बड़े नेता अब्दुल बारी सिद्दकी और श्याम रजक (Shyam Rajak) चुनाव पर रणनीति बनाने शनिवार को बंगाल रवाना हुए. माना जा रहा है कि ये दोनों नेता कोलकाता में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamta Banerjee) से मिलेंगे और आगे की रणनीति तय करेंगे. अब्दुल बारी सिद्दीकी ने कोलकाता (Abdul Bari Siddiqui) रवाना होने से पहले कहा कि पहले भी हम बंगाल में चुनाव लड़ते रहे हैं और हमारे वहां विधायक भी चुनाव जीत कर आए हैं. लिहाजा इस बार भी विधानसभा चुनाव लड़ने के लिए हम तैयारी कर रहे हैं. वहीं, राजद नेता श्याम रजक ने कहा कि हम  हम बंगाल के साथ-साथ असम में भी अपनी पार्टी का विस्तार करना चाहते हैं और दोनों जगहों पर हम चुनाव लड़ने की तैयारी में जुट गए हैं.

कांग्रेस-वाम का साथ छोड़ देगा राजद!
माना जा रहा है कि बंगाल के चुनाव में राजद का कांग्रेस और कम्युनिस्ट दलों से राह अलग होगी. दरअसल जो जानकारी सामने आ रही है उसके अनुसार राष्ट्रीय जनता दल पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस से समझौता कर चुनावी मैदान में उतर सकता है. जबकि कांग्रेस और कम्युनिस्ट पार्टियां बंगाल में ममता बनर्जी के खिलाफ चुनाव मैदान में रहेंगे. वहीं, बिहार में राष्ट्रीय जनता दल का कांग्रेस और वामदलों से गठबंधन है.

ममता की राह में कांग्रेस-कम्युनिस्ट
राजद के सूत्र बताते हैं कि पश्चिम बंगाल में वह महागठबंधन ममता बनर्जी की मदद करेगा. लेकिन कांग्रेस पहले ही ये साफ कर चुकी है कि जरूरत पड़ी तो भाजपा को रोकने के लिए वह पश्चिम बंगाल में मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी से गठबंधन कर सकती है. कांग्रेस का बिहार में भी मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी से गठबंधन है और पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस और मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के बीच सीधी राजनीतिक टक्कर होती है. इसलिए माकपा का साथ देते हुए कांग्रेस के लिए यह कतई संभव नहीं कि वो ममता बनर्जी के साथ भी खड़ी हो जाए.

ममता के लिए बूस्ट साबित होगा राजद का साथ
दरअसल कांग्रेस नेताओं का मानना है कि पश्चिम बंगाल में ममता और भाजपा दोनों को रोकना राज्य के हित में होगा और कांग्रेस इन दोनों को रोकने के लिए वहां चुनावी मैदान में उतरेगी. दूसरी ओर राजद का कहना है किपश्चिम बंगाल में भाजपा को रोकने के लिए ममता बनर्जी का साथ देना होगा और उनका दल तृणमूल कांग्रेस से गठबंधन कर पश्चिम बंगाल में चुनाव लड़ेगा. भाजपा के बढ़ते कदम को रोकने के लिए राजद पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से मिलकर चुनाव लड़ने की योजना बना रहा है.

भाजपा का खेल बिगाड़ने का राजद का इरादा
दरअसल जो जानकारी मिल रही है इसके अनुसार राजद पश्चिम बंगाल में उसी जगह से चुनाव लड़ेगा जहां बिहार के लोगों की संख्या ज्यादा है. कोलकाता, सिलीगुड़ी, वर्धमान, चितरंजन, जलपाईगुड़ी जैसी जगहों पर जहां बिहार के लोग ज्यादा संख्या में हैं वहां चुनाव लड़ने की योजना बनाई जा रही है.  जिसके लिए ये दोनों नेता ममता बनर्जी और उनके भतीजे अभिषेक बनर्जी के साथ मिलकर बातचीत करेंगे. यानी यहां भाजपा का खेल खराब करने के इरादे से राजद ने रणनीति बनाई है.

Tags: Congress, Mamta Banerjee, RJD, West bengal

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर