नीतीश से नजदीकी पर बोले गवर्नर फागू चौहान- राजनीति में दोस्ती-दुश्मनी परमानेंट नहीं

नीतीश कुमार से नजदीकी के सवाल पर फागू चौहान ने कहा कि 1985 में नीतीश कुमार और हम दोनों विधायक बने और कई बार मिले भी थे. वे एक अच्छे आदमी हैं, लेकिन राजनीति में न दोस्ती परमानेंट होती है,, न दुश्मनी.

News18 Bihar
Updated: August 2, 2019, 1:21 PM IST
नीतीश से नजदीकी पर बोले गवर्नर फागू चौहान- राजनीति में दोस्ती-दुश्मनी परमानेंट नहीं
बिहार के राज्यपाल फागू चौहान ने कहा कि राजनीति में दोस्ती-या दुश्मनी स्थायी नहीं होती.
News18 Bihar
Updated: August 2, 2019, 1:21 PM IST
बिहार के नए राज्यपाल फागू चौहान पदभार संभालने के बाद पहली बार दिल्ली पहुंचे हैं. न्यूज 18 से खास बात करते हुए उन्होंने प्रदेश की प्रतिभा की तारीफ करते हुए कहा कि जो बिहार आज सोचता है दूसरे लोग बाद में सोचते हैं. मुझे नई जिम्मेदारी मिली है और मैं अपनी जिम्मेदारी को ठीक से निभाने की कोशिश करुंगा. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से उनकी दोस्ती और तालमेल पर कहा कि राजनीति में कोई दोस्ती परमानेंट नहीं होती है.

'नीतीश से पुरानी जान-पहचान'
फागू चौहान ने नीतीश कुमार से नजदीकी के सवाल पर कहा कि 1985 में नीतीश कुमार और हम दोनों विधायक बने और कई बार मिले भी थे. वे एक अच्छे आदमी हैं, लेकिन राजनीति में न दोस्ती परमानेंट होती है , न दुश्मनी. समय-समय की बात है, जैसा आएगा वैसा किया जाएगा. उन्होंने बताया कि लालू यादव, रामविलास पासवान और शरद यादव सभी जे पी आंदोलन में थे. हमलोग चौधरी चरण सिंह की दलित किसान मजदूर पार्टी में थे.

पीएम मोदी से करेंगे मुलाकात

उन्होंने कहा कि हम आजमगढ़ के है नजदीक के हैं इसलिए इसका फायदा होगा. बिहार को समझने में इसका भी होगा. बता दें कि राज्यपाल बनने के बाद शुक्रवार को वे पहली बार दिल्ली पहुंचे हैं. वे शाम पांच बजे दिल्ली में पीएम मोदी से मुलाकात करेंगे. इसके पहले वे रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह भी मिलेंगे.

'नहीं बदला हूं मैं'
फागू चौहान ने कहा कि राज्यपाल बनने से उनके हाव-भाव और व्यवहार में कोई फर्क नहीं आया है. आज भी वही सादगी है और धोती-कुर्ता और जैकेट में हैं. उन्होंने कहा कि छात्रों के भविष्य को लेकर सख्त कदम उठाएंगे. गौरतलब है कि फागू चौहान ने 29 जुलाई को बिहार के 40वें राज्यपाल के रूप में शपथ ली है.
Loading...

(इनपुट- अमितेश)

ये भी पढ़ें:


बिना शव के निकली अर्थी, सांकेतिक रूप में हुआ अंतिम संस्कार, पढ़ें पूरा मामला...




शीला ने अपनी जवानी से बुढ़ापे तक बच्चियों-महिलाओं को बेचा, अब चढ़ी पुलिस के हत्थे

First published: August 2, 2019, 12:59 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...