होम /न्यूज /बिहार /Famous Litti Chokha: पटना शहर में बिकती हैं 'Code Word' में लिट्टी, कस्टमर्स की लगती है भीड़, जानें पता

Famous Litti Chokha: पटना शहर में बिकती हैं 'Code Word' में लिट्टी, कस्टमर्स की लगती है भीड़, जानें पता

Patna Litti Chokha News: सीसी जैसे नाम वाली ये लिट्टी असल में कस्टमर के डिमांड के अनुरूप गर्मागर्म तरीके से मक्खन से फ् ...अधिक पढ़ें

रिपोर्ट- उधव कृष्ण

पटना. आपने अक्सर लोगों को किसी विषय को लेकर कोडवर्ड में सवाल-जवाब करते हुए सुना होगा. आज हम भी आपको एक ऐसे ही कोडवर्ड के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसे सुनकर आप भी वाह-वाह कर उठेंगे. इस तरह के कोडवर्ड का इस्तेमाल आपने अक्सर बाइक की खरीदारी करते समय लोगों को करते हुए सुना होगा. पर यहां यह कोडवर्ड लिट्टी का स्वाद बढ़ाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है. जी हां! पटना जंक्शन के पास गोपी-कृष्ण नाम से चार पुश्तों से इनकी लिट्टी की दुकान है. इस दुकान में सें कुआ लिट्टी का कोडवर्ड 125, 250, 350 और 450 है. गोपी कृष्ण भंडार के नाम से प्रसिद्ध इस दुकान में लिट्टी का स्वाद लेने के लिए दूर-दूर से लोग यहां आते हैं.

कोडवर्ड में दुकानदार पूछते हैं ग्राहकों से सवाल
पटना की इस दुकान पर जब आप लिट्टी-चोखा खाने के लिए जाएंगे, तो दुकानदार आपसे कोड वर्ड में सवाल करेंगे और आपको जवाब भी उसी कोडवर्ड में देना होता है. इसके बाद उसी के अनुसार आपकी थाली में लिट्टी-चोखा परोसा जाता है. बता दें कि लिट्टी खाने के लिए इस दुकान में लोगों की भीड़ उमड़ती है. इतना ही नहीं दूर- दराज से लोग अपने मुंह का स्वाद बदलने भी यहां इस दुकान में पहुंचते हैं. मालूम हो कि ये लिट्टी दुकान जंक्शन से कुछ ही दूरी पर स्थित है, ऐसे में दूसरे राज्यों के लोग भी आते-जाते यहां रुककर इन स्पेशल लिट्टियों का स्वाद लेना बिल्कुल नहीं भूलते हैं.

कैसे पहुंचें इस दुकान पर
अगर गोपी कृष्ण लिट्टी भंडार की लिट्टी आपको भी खाना हो तो आप भी पटना जंक्शन के समीप न्यू मार्केट में पीपल के पेड़ के नीचे आ सकते हैं. कोडवर्ड वाली अनोखी लिट्टी दुकान पिछले 40 वर्षों से यहां सजती है. इस दुकान में सुबह खाने का उत्तम प्रबंध रहता है, तो वहीं शाम 4:30 के बाद से यहां मक्खन वाली स्पेशल लिट्टी का स्वाद लिया जा सकता है. दुकान मालिक गोपी कृष्ण बताते हैं कि दिन में यहां शाकाहारी और मांसाहारी दोनों प्रकार के भोजन मिलते हैं. वहीं स्पेशल लिट्टियों का बिकना शाम 4:30 के बाद ही शुरू हो पाता है.

‘सीसी’ वाले नामों की लिट्टी के पीछे ये है रहस्य
आपको बताते चलें कि बाइक की सीसी जैसे नाम वाली ये लिट्टी असल में कस्टमर के डिमांड के अनुरूप गर्मागर्म तरीके से मक्खन से फ्राई कर दी जाती है. जितना ग्राम मक्खन और लिट्टी कस्टमर को चाहिए होता है, वो वैसा ही नाम दुकान वाले को बताता है.

जैसे 225 का मतलब 2 लिट्टी और 25 ग्राम पैक्ड मक्खन से है. जिसमें सेंकी गई लिट्टी को डीप फ्राई किया जाता है. इसके बाद इसे अन्य सामग्रियों के साथ कस्टमर को परोसा जाता है.

Tags: Bihar News, PATNA NEWS

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें