Home /News /bihar /

ओडिशा तट से टकराया फानी तूफान, बिहार के इन जिलों पर भी तबाही का खतरा

ओडिशा तट से टकराया फानी तूफान, बिहार के इन जिलों पर भी तबाही का खतरा

फानी तूफान के दौरान उड़ीसा की तस्वीर

फानी तूफान के दौरान उड़ीसा की तस्वीर

फानी चक्रवात के बाद गोपालगंज में तेज धूल भरी आंधी शुरू हो गई. जिले के कई इलाकों में धूल भरी आंधी जारी है और इससे तापमान में भी गिरावट आई है.

    फानी तूफान को लेकर बिहार में भी हाई अलर्ट जारी किया गया है. तूफान का असर बिहार के सीमांचल इलाकों में सबसे ज्यादा हो सकता है. इसको लेकर मौसम विभाग ने अलर्ट जारी किया है. जिन जिलों में ये अलर्ट जारी किया गया है उनमें पश्चिमी चंपारण, पूर्वी चंपारण, गोपालगंज, शिवहर, सीतामढ़ी, सारण, सीवान बक्सर, मुजफ्फरपुर और भोजपुर शामिल हैं. इन जिलों में आंधी के साथ बारिश की भी संभावना है साथ ही 40 से 50 किमी की रफ्तार से हवा चलने की भी संभावना है. ये अलर्ट शाम 3 बजे तक के लिए जारी किए गए हैं.

    ये भी पढ़ें- सांसद के भाई पर गोली चलाने के आरोपी शख्स की पिटाई से मौत

    इसके साथ ही मौसम विभाग ने सहरसा, पूर्णिया, सुपौल, अररिया किशनगंज जिले में भी भारी बारिश की चेतावनी दी है. उड़ीसा तट से इस तूफान के टकराने के बाद इसका असर गोपालगंज मे दिखने लगा है.

    ये भी पढ़ें- तेजप्रताप ने तेजस्वी पर ली चुटकी- 'कुछ लोग महज चार प्रोग्राम करके लरूआ जाते हैं'

    फानी चक्रवात के बाद गोपालगंज में तेज धूल भरी आंधी शुरू हो गई. जिले के कई इलाकों में धूल भरी आंधी जारी है और इससे तापमान में भी गिरावट आई है. तूफान के कारण दिन में ही शाम जैसा अंधेरा हो गया है. आपको बता दें कि चक्रवात 'फानी' ओडिशा तट से टकरा गया है. मौसम विभाग के मुताबिक, ओडिशा के पुरी समेत कई इलाकों में 200 किलोमीटर/घंटे की रफ्तार से हवाएं चल रही हैं.

    तेज हवाओं के साथ बारिश भी हो रही है. फानी की वजह से ओडिशा के अनुमानित तौर पर 10,000 गांव और 52 शहर प्रभावित है. ऐसे में इलाके से करीब 11 लाख लोगों को हटा लिया गया और उन्हें सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया गया है. इनके रहने के लिए 5000 शेल्टर होम तैयार किए गए हैं.

    Tags: Bihar News, Cyclone fani

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर