होम /न्यूज /बिहार /

बिहार: जिनके बच्चे AES से मरे, पुलिस ने उन पर ही दर्ज की FIR!

बिहार: जिनके बच्चे AES से मरे, पुलिस ने उन पर ही दर्ज की FIR!

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एनएच-22 से होकर जाएंगे, इस सूचना पर सड़क किनारे स्थित गांव के लोगों ने रोड का घेराव कर दिया था. पुलिस ने सड़क घेराव के कारण ही 19 नामजद और 20 अन्य के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है.

    बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) एक्यूट इन्सेफेलाइटिस सिंड्रोम (Acute Encephalitis Syndrome (AES) यानी चमकी बुखार से पीड़ित लोगों से मिलने मुजफ्फरपुर जाने वाले थे. हरिवशंपुर गांव के लोगों को लगा था कि नीतीश कुमार सड़क के रास्ते जाएंगे, इसी उम्मीद में लोगों ने उस रास्ते को जाम कर दिया. लेकिन प्रशासन को यह नागवार गुजरा. पानी के लिए और बुखार के इलाज की मांग को लेकर सड़क जाम किए जाने पर हरिवंशपुर गांव के 19 लोगों पर मामला दर्ज किया गया. इसमें 4 लोग ऐसे भी हैं, जिनके बच्चे चमकी बुखार से मरे हैं. 18 जून को भगवानपुर थानाध्यक्ष संजय कुमार के बयान पर मामला दर्ज किया गया है. बता दें, हरिवंशपुर गांव में भी 7 बच्चे चमकी बुखार से मरे थे.

    18 जून को जिस दिन मुख्यमंत्री नीतीश कुमार दिमागी बुखार के मरीज़ों का हाल जानने के लिए मुजफ्फरपुर के श्रीकृष्ण मेडिकल कॉलेज अस्पताल का दौरा करने गए थे. टोले वालों ने अपने यहां की समस्याओं मसलन पीने का पानी, बुखार से इलाज की व्यवस्था की मांग के साथ विरोध प्रदर्शन किया था. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एनएच-22 से होकर जाएंगे, इसी को देखते हुए सड़क किनारे स्थित गांव के लोगों ने रोड का घेराव कर दिया था. पुलिस ने रोड घेराव के कारण ही 19 नामजद और 20 अन्य के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है.

    FIR की कॉपी


    'हम क्या करें! कोई तो हमें देखने आता नहीं'
    यहां के निवासी सुरेश कहते हैं, 'हम लोग तो पहले से पीड़ित हैं जबकि पुलिस कहती है कि हमने रोड जाम किया, इसलिए केस किया गया है. हम क्या करें! कोई तो हमें देखने आता नहीं है. हम लोगों ने सोचा कि मुख्यमंत्री इस रास्ते से जाएंगे तो उनको रोककर अपना हाल सुनाएंगे. लेकिन वो हेलिकॉप्टर से गए.' पुलिस ने राजेश सहनी, रामदेव सहनी, उमेश मांझी और लल्लू सहनी को नामजद अभियुक्त बनाया है. इनके बच्चों की मौत भी चमकी बुखार से हुई है. कई लोग पुलिस के डर से गांव के बाहर रह रहे हैं.

    कांग्रेस ने साधा बिहार सरकार पर निशाना
    उधर, कांग्रेस ने बिहार में बच्चों की मौत को लेकर राज्य की भाजपा-जदयू सरकार पर निशाना साधते हुए सोमवार को आरोप लगाया कि बच्चों की ‘हत्या' के लिए डबल इंजन वाली सरकार जिम्मेदार है. पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा, ‘भाजपा की डबल इंजन की सरकार व कुशासन बाबू की बिहार सरकार ही मुजफ्फरपुर में सैकड़ों बच्चों की हत्या के लिए सीधे जिम्मेदार हैं. विशेष पोषण कार्यक्रम में बजट घटाकर आधा कर दिया गया. अनुसूचित जाति व जनजातियों के बच्चों के बजट में भारी कटौती की गई.'

    ये भी पढ़ें...

    'चमकी बुखार' से बिहार में अब तक 170 बच्चों की मौत

    BJP नेता पर दुकानदार ने डाल दिया खौलता हुआ पानी, जानें-मामला

    Tags: Acute Encephalitis Syndrome (AES), BJP, Jdu, Muzzafferpur, Nitish kumar

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर