बिहार: 5 साल बाद गंडक नदी में आया 9 गुना ज्यादा पानी, बाढ़ का खतरा बरकरार

बिहार में बाढ़: गंडक नदी के बांध में कई जगह रिसाव, खतरे के अलर्ट के बीच ड्रोन से निगरानी.

नेपाल में हो रही भारी वर्षा की वजह से गंडक बराज से लगातार पानी को डिस्चार्ज किया जा रहा. इधर बिहार के सीमावर्ती चंपारण व सटे अन्य जिलों में बाढ़ के खतरे को देखते हुए बिहार सरकार अलर्ट मोड पर है.

  • Share this:
पटना. नेपाल और बिहार (Bihar) में लगातार हो रही बारिश के कारण गंडक नदी (Gandak river) में बाढ़ जैसे हालात बने हुए हैं. चंपारण (Champaran) के कई इलाकों में बाढ़ का पानी फैल गया है. नेपाल में हो रही भारी वर्षा की वजह से गंडक बराज से लगातार पानी को डिस्चार्ज किया जा रहा. इधर बिहार के सीमावर्ती चंपारण व सटे अन्य जिलों में बाढ़ के खतरे को देखते हुए बिहार सरकार अलर्ट मोड पर है.

जल संसाधन विभाग के मुताबिक​ गंडक नदी के बांध में कई जगहों पर हो रहे रिसाव को ठीक कर लिया है. बाढ़ के बढ़ते खतरे को देख जल संसाधन विभाग ने ड्रोन से तटबंधों की निगरानी करने का फैसला लिया है. जल संसाधन मंत्री संजय झा ने कहा कि नेपाल में भारी बारिश के कारण जून महीने में ही बिहार में बाढ़ जैसी स्थिति उत्पन हो गयी है. पिछले 4- 5 सालों में ऐसी परिस्थिति नहीं हुई थी. भारी बारिश के कारण 8- 9 गुना ज्यादा पानी आया, लेकिन अब पानी निकलना शुरू हो गया है. शुक्रवार को 4 लाख 12 हज़ार क्यूसेक पानी गोपालगंज से निकला गया है. ज्यादा पानी आने से गंडक नदी के बांध में कई जगहों पर रिसाव हुआ था, जिसे ठीक कर लिया गया है. गोपालगंज के फैजलापुर के साथ साथ अन्य जगहों पर हो रहे रिसाव को ठीक कर लिया गया है.

मंत्री संजय झा ने कहा कि सत्तर घाट पुल को जहां बनाना है उस जगह के पास से 1- 2 जगहों पर पानी निकाला गया है, वहां के पूरे इलाके की ड्रोन से निगरानी की जाएगी. इसके साथ ही उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा बनाये जा रहे चैनल जिसे बिहार ने रोका था उसका भी ड्रोन से जायजा लिया जाएगा. यह देखा जाएगा कि जो नया चैलन बनाया जा रहा था, वहां तो कटाव नहीं हुआ है ? मंत्री संजय झा ने कहा कि विभाग के सभी अधिकारी और इंजीनियर अलर्ट मोड में काम कर रहे हैं. गंडक, कमला बलान, बूढ़ी गंडक के बांधों पर दबाब है लेकिन ज्यादा परेशानी गंडक नदी में है. फिलहाल बिहार के सभी तटबंध सुरक्षित हैं. जो लोग तटबंधों के अंदर रहते हैं उन्हें भी ऊपर सुरक्षित जगहों पर पहुंचाने का काम जारी है .

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.