'खिचड़ी में छौंक लगा रहे वामपंथी दल, राजद-कांग्रेस-लेफ्ट अलायंस के कारण महागठबंधन में बिखराव तय'
Patna News in Hindi

'खिचड़ी में छौंक लगा रहे वामपंथी दल, राजद-कांग्रेस-लेफ्ट अलायंस के कारण महागठबंधन में बिखराव तय'
सूत्रों के मुताबिक आरजेडी की तरफ से अपने सहयोगी दलों को बता दिया गया है कि सीटों के बंटवारे से पहले उसकी शर्तों को मानना होगा.

आरजेडी नेता भाई वीरेंद्र (RJD leader Bhai Virendra) ने कहा कि महागठबंधन (Grand Alliance) में सीटों को लेकर कोई परेशानी नहीं है और सीटों के बंटवारे की जानकारी बहुत जल्द ही साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस कर दी जाएगी. 

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 3, 2020, 1:03 PM IST
  • Share this:
पटना. महागठबंधन (Grand Alliance) में सीटों का बंटवारा तय होने की खबर है. जल्द ही इसकी घोषणा भी की जा सकती है. हालांकि, बीजेपी इसे महज राजद-कांग्रेस का अलायंस कह रही है. बीजेपी के पूर्व सांसद आरके सिन्हा (Former BJP MP RK Sinha) ने यह भी कहा है कि बिहार में महागठबंधन बनने के पहले ही बिखर रहा है. अलायंस के नेताओं को शायद जमीनी हकीकत का पता नहीं है, इसलिए वे राजद और कांग्रेस के गठबंधन को ही महागठबंधन साबित करना चाहते हैं. पूर्व सांसद ने वामपंथी दलों के महागठबंधन में आने और उपेंद्र कुशवाहा एवं मुकेश सहनी जैसे नेताओं के हाशिये पर चले जाने पर भी तंज कसा है. उन्होंने कहा कि थोड़े बहुत वामपंथी दल (जो कहीं हैं भी नहीं) नाम के लिए अपनी खिचड़ी में छौंक लगाकर सरकार बनाने का सपना देख रहे हैं.

भाजपा के पूर्व सांसद ने कहा कि वामपंथी दलों का भारत में इतिहास है कि वे परजीवी तत्व हैं जो दूसरे के ऊपर चढ़कर फलते हैं. पहले कांग्रेस ने उनपर भरोसा करके धोखा खाया, अब राजद के रहनुमां भी उसी राह पर चल रहे हैं. इससे छोटे दलों में बड़ा भारी हड़कंप है. पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी वापस एनडीए में चले ही आए हैं. अब यही अकुलाहट उपेन्द्र कुशवाहा, मुकेश सहनी आदि ऐसे तमाम नेताओं में भी फ़ैल रही है. देखिए क्या होता है? कहीं चुनाव घोषित होने से पहले ही महागठबंधन बिखर न जाये.

महागठबंधन में सीटों के बंटवारे पर कांग्रेस सांसद अखिलेश सिंह ने फिर दावा किया है कि अलायंस के घटक दलों के साथ बात बनी हुई है. कौन कहां मज़बूत है, इन तमाम मुद्दों पर बात चलती रहती है. लेकिन, सबकुछ तय होने की स्थिति में आ गयी है. उन्होंने कहा कि अभी चुनाव की तारीखों की घोषणा नहीं हुई है. वहीं, कांग्रेस के ज़्यादा सीटों पर लड़ने के सवाल पर अखिलेश सिंह ने कहा कि पिछली बार जेडीयू महागठबंधन के साथ में था, लेकिन इस बार नहीं है, लिहाज़ा सभी पार्टियों की सीटें बढ़ेंगी.



गौरतलब है कि महागठबंधन के सबसे बड़े घटक दल राजद (RJD) ने सीटों के बंटवारे को लेकर सब कुछ फाइनल होने की बात कही है. राजद के वरिष्‍ठ नेता भाई वीरेंद्र ने बताया कि महागठबंधन में सीट शेयरिंग को लेकर सब कुछ तय हो चुका है. सूत्रों से जो जानकारी मिली है उसके मुताबिक आरजेडी 135-140, कांग्रेस 45 से 50, रालोसपा 23-25, सीपीआई माले 12 से 15, मुकेश सहनी की वीआईपी को 8-10, सीपीआई-3-5 और सीपीआई-एम को 2-3 सीटें मिल सकती हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading