लाइव टीवी
Elec-widget

बलात्कार-हत्या की घटनाओं पर तेजस्वी का CM नीतीश पर तंज, राबड़ी बोलीं- न जाने क्यों आहत नहीं होते?

News18 Bihar
Updated: December 4, 2019, 1:41 PM IST
बलात्कार-हत्या की घटनाओं पर तेजस्वी का CM नीतीश पर तंज, राबड़ी बोलीं- न जाने क्यों आहत नहीं होते?
बक्सर, बेतिया और समस्तीपुर जैसी घटनाओं पर सीएम नीतीश ने अब तक एक भी शब्द नहीं कहा. इसपर राबड़ी देवी और तेजस्वी यादव ने सवाल उठाए हैं.

राबड़ी देवी ने लिखा, बिहार के सत्ताधारी छलात्कारी रामजाने क्यों बलात्कारियों की दरिंदगी, क्रूरता और जघन्यता पर आहत नहीं होते? बिहार में बच्चियों के साथ रोज़ सैंकड़ों बलात्कार हो रहे हैं, लेकिन सरकार के सरदार इन असाधारण घटनाओं पर आहत होना तो दूर दो शब्द संवेदना और खेद के भी प्रकट नहीं करते.

  • Share this:
पटना. मंगलवार को बक्सर में युवती के साथ कथित रेप के बाद उसे गोली मारी गई और फिर जला भी दिया गया. कुछ इसी तरह की घटना बुधवार की सुबह समस्तीपुर के वारिसनगर क्षेत्र से भी सामने आई जहां एक विवाहिता की हत्या कर दी गई और उसे भी जला दिया गया. इससे पहले सोमवार को बेतिया में भी एक युवती की हत्या कर दी गई थी. महिला आयोग के एक आंकड़े के अनुसार पटना में हर रोज 4 से 5 मामले किसी न किसी थाने या हेल्पलाइन में बलात्कार, छेड़छाड़ या अपहरण के दर्ज होते हैं. जाहिर है लगातार ऐसी घटनाएं सामने आ रही हैं ऐसे में सीएम नीतीश कुमार की चुप्पी पर विरोधी दल सवाल खड़े कर रहे हैं. नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने एक बार फिर ट्वीट कर सीएम पर निशाना साधते हुए कहा कि बिहार अराजक राज्य बन गया है.

उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, बिहार वास्तव में एक अराजक राज्य बन गया है. लगातार बेकाबू हो रहे अपराध, क्रूर सामूहिक बलात्कार, लड़कियों की हत्या और कई कारोबारियों की दिन के उजाले में हत्या पर सीएम नीतीश कुमार का एक भी बयान नहीं. इस अराजकता पर सीएम से सवाल क्यों नहीं किया जाना चाहिए?

Loading...



वहीं बिहार की पूर्व सीएम राबड़ी देवी ने भी राज्य सरकार की कथित नाकामी पर सवाल उठाए हैं. उन्होंने भी एक के बाद कई ट्वीट किए और राज्य सरकार को कठघरे में खड़ा करने की कोशिश की है. राबड़ी देवी ने अपने ट्वीट में लिखा,  बिहार में बलात्कार की ऐसी विभत्स घटनाएं असामान्य, अनैतिक और असंवेदनशील सरकार में सहज, सरल और सामान्य बन चुकी है.

राबड़ी ने आगे लिखा, समाज की संवेदनाएं और सरकार मर चुकी है. बलात्कारियों के खिलाफ सख्त कदम उठाने के बजाय सत्तासीन लोग ख़ुद ऐसे घिनौने अपराधों में शामिल होकर उन हैवानो की ढाल बन रहे हैं.

पूर्व सीएम ने एक और ट्वीट किया जिसमें उन्होंने लिखा, बिहार के सत्ताधारी छलात्कारी रामजाने क्यों बलात्कारियों की दरिंदगी, क्रूरता और जघन्यता पर आहत नहीं होते? बिहार में बच्चियों के साथ रोज़ सैंकड़ों बलात्कार हो रहे हैं, लेकिन सरकार के सरदार इन असाधारण घटनाओं पर आहत होना तो दूर दो शब्द संवेदना और खेद के भी प्रकट नहीं करते.



इससे पहले भी राबड़ी देवी ने एक ट्वीट किय जिसमें उन्होंने लिखा, बिहार में चारों तरफ़ सिहरा देने वाली जनबलात्कार की घटनाओं के विरुद्ध सरकार की उदासीनता घोर निंदनीय है. क़ानून व्यवस्था ध्वस्त है. बहन-बेटियों के साथ सरकारी संरक्षण में जो जघन्य क्रूरता हो रही है वह किसी भी सभ्य इंसान और लोकतांत्रिक सरकार को-शर्मिंदा करने के लिए काफ़ी है.



बता दें कि सोमवार, मंगलवार और बुधवार को लगातार एक के बाद सामने आई हत्या के मामले में अब तक पुलिस शिनाख्त तक करने में भी कामयाब नहीं हो पाई है.

ये भी पढ़ें

अपराधी युवती का शव जला रहे थे पर ग्रामीणों ने समझा कोई अलाव जला रहा है

बिहार में फिर मिला महिला का अधजला शव, पहचान करने में जुटी पुलिस

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 4, 2019, 1:09 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...