गुप्तेश्वर पांडेय को लोकसभा भेजने की तैयारी में JDU! उपचुनाव में इस सीट से दे सकती है मौका

फाइल फोटो
फाइल फोटो

बिहार कैडर के IPS रहे गुप्तेश्वर पांडेय (Gupteshwar Pandey) DGP बनने से पहले भी एक बार इस्‍तीफा दे चुके थे. इस बार उन्‍होंने VRS का विकल्‍प चुना.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 23, 2020, 8:18 PM IST
  • Share this:
पटना. बिहार में होने वाले विधानसभा चुनाव से ठीक पहले अपने पद से इस्तीफा देने वाले बिहार के पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय (Gupteshwar Pandey) लोकसभा का उपचुनाव लड़ सकते हैं. न्यूज़ 18 को सूत्रों के हवाले से जो जानकारी मिली है, उसके मुताबिक गुप्तेश्वर पांडेय को नीतीश कुमार (Nitish Kumar) की अगुआई वाली जनता दल यूनाइटेड वाल्मीकि नगर सीट से उपचुनाव में अपना प्रत्याशी बना सकती है.

गुप्तेश्वर पांडेय इस सीट से जदयू के टिकट पर उपचुनाव लड़ेंगे. मालूम हो कि मंगलवार की देर रात बिहार पुलिस के डीजीपी रह चुके गुप्तेश्वर पांडेय ने अपने पद से स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति ले ली थी. उन्होंने सरकार को वीआरएस के लिए आवेदन दिया था, जिसे सरकार ने स्वीकृत कर लिया था. दूसरी और उनके बिहार विधानसभा चुनाव में भी बक्सर के किसी विधानसभा सीट से खड़े होने की उम्मीद जताई जा रही है, लेकिन इस बीच वाल्मीकि नगर चुनाव में उनकी दावेदारी ने सियासी रुख मोड़ दिया है.

ऐसा माना जा रहा है कि अगले कुछ दिनों में तस्वीर साफ हो जाएगी कि गुप्‍तेश्‍वर पांडेय को नीतीश कुमार विधानसभा या फिर लोकसभा का टिकट देते हैं. बता दें कि VRS लेने वाले बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय 1987 बैच के IPS अधिकारी थे.




फिल्म अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत मौत मामले में सुर्खियों में आए डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने अभिनेता की मौत पर मुंबई पुलिस की जांच पर कई सवाल उठाए थे. महाराष्ट्र सरकार और मुंबई पुलिस द्वारा बिहार के पुलिस अधिकारी एवं जांच टीम के साथ जिस तरह का दुर्व्यवहार किया गया था, इससे डीजीपी काफी आहत थे. उन्होंने कई टीवी चैनलों पर इस प्रकरण की आलोचना की थी.

गुप्तेश्वर पांडेय के स्वैच्छिक सेवानिवृत्त के बाद डीजीपी का अतिरिक्त प्रभार एसके सिंघल को दिया गया है. दरअसल, गुप्तेश्वर पांडेय का बतौर डीजीपी टर्म पूरा होने में अभी लगभग 5 महीने का समय बचा था, लेकिन इससे पहले ही उन्‍होंने वीआरएस ले लिया.

इनपुट- आनंद अमृतराज
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज