फेसबुक लाइव 'मेरी कहानी मेरी जुबानी' के जरिये बड़ा खुलासा करेंगे DGP की कुर्सी छोड़ने वाले गुप्तेश्वर पांडेय

आज शाम फेसबुक के जरिए लोगों से संवाद करेंगे पूर्व DGP-Gupteshwar-Pandey (फाइल फोटो)
आज शाम फेसबुक के जरिए लोगों से संवाद करेंगे पूर्व DGP-Gupteshwar-Pandey (फाइल फोटो)

Gupteshwar Pandey: बिहार के डीजीपी रहे गुप्तेश्वर पांडेय ने पोस्ट कर बताया कि बुधवार को शाम में 6 बजे वो लोगों से सीधा संवाद करेंगे. वो अपने ऑफिसियल फेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर "मेरी कहानी, मेरी जुबानी" कार्यक्रम के तहत लाइव जुड़ेंगे

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 23, 2020, 7:01 AM IST
  • Share this:
पटना. बिहार में होने वाले विधानसभा चुनाव से ठीक पहले वीआरएस लेकर सभी को चौंकाने वाले बिहार के पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय (DGP Gupteshwar Pandey) आज सोशल मीडिया के माध्यम से लोगों से रू-बरू होंगे. पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने फेसबुक वॉल पर इसकी जानकारी देते हुए लिखा है कि मैं 23 सितंबर 2020 को शाम 6 बजे अपने सोशल मीडिया अकाउंट के फेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब प्लेटफार्म पर लाइव आऊंगा. डीजीपी रह चुके गुप्तेश्वर पांडेय ने अपने इस कार्यक्रम का नाम 'मेरी कहानी, मेरी जुबानी' दिया है, जिसके तहत वो लोगों से साक्षात्कार कर सकेंगे.

अपने सेवा काल के दौरान सोशल मीडिया पर काफी सक्रिय रहने वाले बिहार के पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय इस कार्यक्रम के दौरान ही वीआरएस को लेकर लोगों से अपनी बात रखेंगे. मालूम हो कि गुप्तेश्वर पांडेय ने मंगलवार को अपने पद से स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति यानी वीआरएस के लिए आवेदन दिया था जिसे बिहार सरकार ने फौरन मंजूर कर दिया है. पुलिस की नौकरी छोड़ने वाले गुप्तेश्वर पांडे के वीआरएस लेने के बाद अब उनके राजनीति में हाथ आजमाने के कयास लगाए जा रहे हैं और माना जा रहा है कि वह अपने गृह क्षेत्र बक्सर के किसी विधानसभा सीट से एनडीए के उम्मीदवार होंगे.

हांलांकि ऐसी उम्मीद मात्र जताई जा रही है और ये माना जा रहा है कि फेसबुक लाइव के कार्यक्रम मेरी कहानी मेरी जुबानी में गुप्तेश्वर पांडेय अपने भविष्य को लेकर खुलासा करेंगे. बता दें कि गुप्तेश्वर पांडेय 1987 बैच के IPS अधिकारी थे. वो हाल में ही फिल्म अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत मौत मामले में सुर्खियों में आए थे. डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने अभिनेता की मौत पर मुंबई पुलिस की जांच पर कई सवाल उठाए थे. महाराष्ट्र सरकार और मुंबई पुलिस के द्वारा बिहार के पुलिस अधिकारी एवं जांच टीम के साथ जिस तरह का दुर्व्यवहार किया था इससे डीजीपी काफी आहत थे उन्होंने कई टीवी चैनलों पर इस प्रकरण की आलोचना की थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज