बिहार में एक हुए नीतीश कुमार के 'विरोधी', तीसरे मोर्चे का औपचारिक ऐलान आज

बिहार में बन रहे इस मोर्चा में पूर्व सांसद, मंत्री से लेकर पूर्व विधायक तक हैं. मोर्चे को आकार कभी नीतीश कुमार के खास कहे जाने वाले पूर्व मंत्री नरेंद्र सिंह के हाथों में है.

News18 Bihar
Updated: August 27, 2019, 10:38 AM IST
बिहार में एक हुए नीतीश कुमार के 'विरोधी', तीसरे मोर्चे का औपचारिक ऐलान आज
बिहार के इस तीसरे मोर्चे के संयोजक पूर्व मंत्री नरेंद्र सिंह ही हैं (नीतीश कुमार के साथ नरेंद्र सिंह की फाइल फोटो)
News18 Bihar
Updated: August 27, 2019, 10:38 AM IST
बिहार में विधानसभा चुनाव (Bihar Election) के पहले एक बार फिर से नए राजनीतिक समीकरण बनाने की कवायद जारी है. लोकसभा चुनाव में महागठबंधन को मिली करारी हार के बाद अब किसी जमाने में नीतीश कुमार (Nitish Kumar) के करीबी रहे नेताओं की टोली ही उनके खिलाफ मोर्चा खोलने की तैयारी में हैं. नीतीश कुमार के दुत्कारे हुए नेता आज पटना (Patna) में ही तीसरे मोर्चे के गठन का ऐलान कर रहे हैं और मंगलवार को ही दोपहर दो बजे इस फ्रंट (Third Front) की औपचारिक घोषणा होगी. जानकारी के मुताबिक इस मोर्चे का नाम बिहार नव निर्माण मोर्चा दिया गया है.

मोर्चे में पूर्व मंत्री से लेकर सांसद तक

इस मोर्चा में पूर्व सांसद, मंत्री से लेकर पूर्व विधायक तक हैं. मोर्चे को आकार देने का जिम्मा किसी जमाने में नीतीश के खास कहे जाने वाले पूर्व मंत्री नरेंद्र सिंह के हाथ में है. जानकारी के मुताबिक इस मोर्चे में जहानाबाद के पूर्व सांसद अरुण कुमार, बिहार सरकार की पूर्व मंत्री रेणु कुशवहा, खुद नरेंद्र सिंह समेेत लोजपा के विक्षुब्ध नेता सत्यानंद शर्मा भी शामिल हो रहे हैं. कहा जा रहा है कि पूर्व मंत्री नरेंद्र सिंह ने ही  नीतीश कुमार के तमाम विरोधियों को इस मोर्चे के लिए एकजुट किया है. इस मोर्चे का हिस्सा बनाने के लिए पप्पू यादव और जीतन राम मांझी से भी संपर्क किया गया है लेकिन अभी तक उनके साथ आने की पुष्टि नहीं हो रही है.

मांझी और पप्पू पर सस्पेंस

लोकसभा चुनाव में मिली हार के बाद जहां पप्पू यादव के राजनीतिक वजूद पर सवाल उठने लगे हैं वहीं जीतन राम मांझी भी महागठबंधन से नाराज हैं ऐसे में माना जा रहा है कि आने वाले दिनों में ये दोनों चेहरे भी इस खेमे में जा सकते हैं, लेकिन दोनों के इस मोर्चा में आने पर सस्पेंस बरकरार है.

कुछ ही दिन पहले हुई थी बैठक

इस मोर्चे के गठन की कवायद पिछले कई दिनों से चल रही थी और कुछ ही दिन पहले पटना के एक होटल में इन सभी नेताओं की मीटिंग हुई थी. मोर्चा के संयोजक नरेंद्र सिंह की मानें तो उनके मोर्चे में कुछ और नेता भी जुड़ेंगे लेकिन वो नेता कौन हैं इसकी जानकारी वो देने से बच रहे हैं. तीसरे मोर्चे के गठन का मकसद और स्वरूप कैसा होगा ये बातें आज होने वाले औपचारिक ऐलान के साथ ही समाप्त होगा.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 27, 2019, 10:13 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...