Home /News /bihar /

MLA रहते पत्नी को बनवाया था MLC, कुछ ऐसा है जेडीयू के पूर्व विधायक राजू सिंह का राजनीतिक रसूख

MLA रहते पत्नी को बनवाया था MLC, कुछ ऐसा है जेडीयू के पूर्व विधायक राजू सिंह का राजनीतिक रसूख

राजू सिंह (फाइल फोटो)

राजू सिंह (फाइल फोटो)

राजू कुमार सिंह के परिवार की पहचान दवा के बड़े व्यवसायी के रूप में होती है. उनका दवाओं का कारोबार नोएडा, अहमदाबाद समेत कई बड़े शहरों फैला है. इसके अलावा रूस और अमेरिका में भी उनका दवाओं का कारोबार बताया जाता है.

    न्यू ईयर पार्टी के दौरान दिल्ली के एक फार्म हाउस में महिला की हत्या के आरोप में गिरफ्तार किये गए जेडीयू के पूर्व विधायक राजू सिंह की गिनती बिहार के रसूखदार सियासतदारों में होती है. राजू न केवल राजनीति की चर्चित हस्ती हैं बल्कि उद्योग और व्यवसाय में भी उनकी तूती बोलती है.

    व्यवसायी से उद्योगपति से राजनेता बने राजू सिंह की गोली से न्यू ईयर पार्टी के दौरान एक महिला अर्चना गुप्ता की मौत हो गई. आरोप है कि राजू ने अपने फार्म हाउस पर आयोजित पार्टी में नशे में धुत्त होकर पिस्टल से फायरिंग की और इसी दौरान ये घटना हुई.

    राजू फिलहाल जेडीयू के निवर्तमान विधायक हैं लेकिन वो राजनीति में लोजपा के बाद जेडीयू और फिलहाल बीजेपी के साथ हैं. साहेबगंज के पूर्व जेडीयू विधायक राजू कुमार सिंह को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. राजू कुमार सिंह पर दिल्ली के फतेहपुर बेरी के मांडी गांव में स्थित अपने फार्म हाउस पर आयोजित न्यू ईयर पार्टी के दौरान फायरिंग करने का आरोप है.

    ये भी पढ़ें- न्यू ईयर पार्टी के दौरान नशे में धुत्त जेडीयू के पूर्व विधायक ने की फायरिंग, महिला की मौत

    राजू सिंह की गोली का शिकार हुई महिला पूर्व विधायक के दोस्त विकास कुमार की पत्नी बताई जा रही है. विकास की शिकायत पर ही पुलिस ने पूर्व विधायक के खिलाफ हत्या के प्रयास एवं सबूत मिटाने की धाराओं में मामला दर्ज किया है. पुलिस ने पूर्व विधायक के फार्म हाउस से दो राइफल और सैकड़ों कारतूस को भी जब्त किए हैं.

    खुद विधायक तो पत्नी रह चुकी है एमएलसी

    राजू कुमार सिंह मुजफ्फरपुर के पारू प्रखंड के बड़ा दाउद गांव के रहने वाले हैं. 48 वर्षीय राजू सिंह तीन भाइयों में मंझले हैं. उनके पिता उदय प्रताप सिंह पारू प्रखंड के आनंदपुर खरौनी पंचायत के कई बार मुखिया रहे हैं. राजू कुमार सिंह ने 2005 में राजीनित में एंट्री ली थी. वे पहली बार लोजपा की टिकट पर साहेबगंज से विधायक चुने गए थे. उसके बाद फिर 2005 में ही हुए अक्टूबर माह के चुनाव में पार्टी बदलकर जेडीयू के टिकट पर साहेबगंज से विधायक चुने गए. फिर साल 2010 में यहीं से दोबारा विधायक बने. इस तरह चार बार वे विधायक चुने गए. इसके बाद राजू कुमार सिंह ने 2015 में जेडीयू को छोड़ बीजेपी का दामन थाम लिया था. 2015 के विधानसभा चुनाव में उन्हें हार का मुंह देखना पड़ा.राजू कुमार सिंह साल 2009 में अपनी पत्नी रेणु सिंह को निर्दलीय चुनाव लड़ाकर एमएलसी बनाने में सफल रहे थे. पूर्वी चंपारण से पंचायती राज कोटे से चुने जाने वाले एमएलसी के सीट पर रेणु सिंह विजयी हुई थी.
    विदेश तक फैला है व्यवसाय 

    राजू कुमार सिंह के परिवार की पहचान दवा के बड़े व्यवसायी के रूप में होती है. उनका दवाओं का कारोबार नोएडा, अहमदाबाद समेत कई बड़े शहरों फैला है. इसके अलावा रूस और अमेरिका में भी उनका दवाओं का कारोबार बताया जाता है. बताया जाता है कि सोवियत संघ के विघटन और आर्थिक मंदी के समय राजू सिंह के परिवार ने दवा के कारोबार को सोवियत संघ तक लेकर गए और फिर करोड़ों का दवाओं का साम्राज्य विकसित किया.

    अरबपति हैं राजू सिंह

    हत्या के आरोप में गिरफ्तार हुए पूर्व विधायक के नाम पर काफी संपत्ति है. पैतृक गांव बड़ा दाउद में उनका कोल्ड स्टोरेज, पारू प्रखंड में चीनी मिल, मुजफ्फरपुर शहर में कलम बाग चौक और मोतीझील में दो व्यवसायिक प्रतिष्ठान, फेमस डीआरबी मॉल में हिस्सेदारी भी है. इसके अलावा नई दिल्ली के 96 नेहरू पैलेस-807 में सिद्धार्थ बिल्डिंग भी है. राजू कुमार सिंह इंजीनियरिंग में पढ़ाई की है. उन्होंने 1984 में मैट्रिक पास इसके बाद 1996 में महाराष्ट्र से बी-टेक की पढ़ाई पूरी की. बाद में एम-टेक करने के बाद महाराष्ट्र से ही पीएचडी की डिग्री हासिल की.

    अपराध से है पुराना नाता

    पूर्व विधायक राजू कुमार सिंह के खिलाफ 2015 के चुनाव के समय 5 अपराधिक मामले दर्ज थे. जिसमें धमकी देने, मारपीट करने जान से मारने का प्रयास और आर्म्स एक्ट से जुड़ी कई संगीन धाराओं में उनके खिलाफ मामले दर्ज हैं. हाल ही के दिनों में अमर भगत हत्याकांड में भी उनका नाम उछाला गया था, लेकिन पुलिस ने उनके खिलाफ कोई साक्ष्य नहीं मिला. राजू सिंह हमेशा नक्सलियों और माओवादियों से खुद को खतरा बताते रहे हैं. यही कारण रहा कि उन्हें प्रशासन ने विशेष सुरक्षा भी मुहैया कराई थी.

    इनपुट- प्रवीण ठाकुर

    Tags: Bihar News, PATNA NEWS

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर