Home /News /bihar /

कोटा में फंसे बिहार के बच्चों को लाने के लिए पप्पू यादव ने भेजीं 30 बसें

कोटा में फंसे बिहार के बच्चों को लाने के लिए पप्पू यादव ने भेजीं 30 बसें

कोटा में फंसे बिहार के बच्चों को लाने के लिए पप्पू यादव द्वारा भेजी गईं बसें

कोटा में फंसे बिहार के बच्चों को लाने के लिए पप्पू यादव द्वारा भेजी गईं बसें

जन अधिकार पार्टी (JAP) प्रमुख पप्पू यादव (Pappu Yadav) ने कहा कि बिहार में कुर्सी पर बैठे लोग सत्ता में रहने लायक नहीं हैं. पप्पू यादव ने बताया कि बिहार सरकार के पास धन नहीं है, मैं तन-मन-धन से हर बिहारी को बिहार लाने के लिए प्रतिबद्ध हूं.

अधिक पढ़ें ...
    पटना. कोरोना वायरस (Coronavirus) और लॉकडाउन (Lockdown) के कारण राजस्थान के कोटा में फंसे बिहार के बच्चों को लेकर राजनीति थमने का नाम नहीं ले रही है. इस कड़ी में पूर्व सांसद और जन अधिकार पार्टी के नेता पप्पू यादव (Pappu Yadav) ने वहां से बच्चों को निकालने के लिए 30 बसें भेजी हैं. पूर्व सांसद पप्पू यादव ने कहा कि मेरी कोटा के कलेक्टर और राजस्थान के मुख्यमंत्री के सचिव से बात हुई है, लेकिन उनका कहना है कि कम से कम 250 बसें भेजें तब जाकर हम बिहार के बच्चों को भेजेंगे.

    पप्पू यादव के मुताबिक, उन्होंने कोटा के प्रशासनिक अधिकारियों से कहा कि पहले बच्चियों को कोटा से बाहर निकालें और उनके घरों तक भेजें. लेकिन उनका कहना है कि कम से कम 100 बसें भेजने पर ही हम बच्चियों को यहां से भेज सकेंगे.

      पप्पू यादव ने ट्वीट में लिखा है कि बिहार सरकार के पास धन नहीं है, मैं तन-मन-धन से हर बिहारी को बिहार लाने को प्रतिबद्ध हूं। कोटा से छात्रों को लाने हेतु वहां 30 बस लगवा दिया है। राजस्थान के मुख्यमंत्री @ashokgehlot51 जी से आग्रह है कि वह बस सेनेटाइज करवा कर, छात्रों की सुरक्षित यात्रा का इंतज़ाम सुनिश्चित कराएं।

    सरकार पर निशाना

    पप्पू यादव के मुताबिक, बिहार सरकार से पप्पू ने कहा कि बिहार सरकार अपनी सभी 600 बसों को कोटा भेजे ताकि वहां फंसे बच्चों को वापस लाया जा सके. इस दौरान पप्पू ने यह भी कहा कि बिहार में कुर्सी पर बैठे लोग सत्ता में रहने लायक नहीं हैं. पप्पू यादव ने बताया कि बिहार सरकार के पास धन नहीं है, मैं तन-मन-धन से हर बिहारी को बिहार लाने को प्रतिबद्ध हूं.

    पीडीएस बंदरबांट का भी आरोप

    राशन कार्ड पॉलिटिक्स पर पप्पू ने कहा कि बिहार में पीडीएस यानी जन वितरण प्रणाली का बंदरबांट हो रहा है, यही कारण है कि अब तक यहां के लोगों को दाल उपलब्ध नहीं कराया गया है. पप्पू यादव ने यह भी पूछा कि 25 लाख मजदूर अगर बिहार में आएंगे तो उनके लिए खाने की व्यवस्था कैसे की जाएगी, इसको लेकर केंद्र और राज्य दोनों सरकारों को उपाय करने की जरूरत है.

    इनपुट- अमितेश कुमार

    ये भी पढ़ें- कोरोना: गोपालगंज में बांटे जा रहे लालू-तेजस्वी के स्टीकर वाले फूड पॉकेट्स

    ये भी पढ़ें- रेलपुल से गंगा नदी में गिरा UP से बिहार लौट रहा प्रवासी मजदूर, शव की तलाश जारी

    Tags: Bihar News, Kota news, Pappu Yadav

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर