चिराग पासवान को मिला नीतीश कुमार के प्रबल विरोधी का साथ, मांझी को भी न्योता

चिराग पासवान को मिला पूर्व सांसद अरूण कुमार का समर्थन

Lok Janshakti Party Crisis: चिराग पासवान को नीतीश कुमार के सबसे बड़े विरोधी कहे जाने वाले पूर्व सांसद अरुण कुमार का साथ मिला है. पूर्व सांसद ने अपनी भारतीय सबलोग पार्टी को भी चिराग का समर्थन करने की बात कही है.

  • Share this:
पटना. बिहार की राजनीति में इन दिनों लगातार करवटें ले रही है. लोजपा (Lok Janshakti Party) में चिराग के चाचा पशुपति पारस सहित पांच सांसदों के पार्टी तोड़कर अलग हो जाने के बाद चिराग पासवान को बड़ा झटका लगा था. लोजपा से सांसद तो अलग हो ही गए, इकलौता विधायक भी पहले ही अलग होकर जेडीयू में शामिल हो गया था, ऐसे में अकेले बचे चिराग को जहां किसी का साथ नही मिल रहा था लेकिन बिहार के ही जहानाबाद से पूर्व सांसद और भारतीय सबलोग पार्टी के प्रमुख डॉ अरुण कुमार (MP Arun Kumar) चिराग के समर्थन में खुलकर उतर गए हैं. अरुण कुमार बिहार के सीएम नीतीश कुमार के प्रबल विरोधी माने जाते हैं, ऐसे में उन्होंने चिराग को खुलकर अपना समर्थन दिया है.

अरुण कुमार ने चिराग का खुलकर समर्थन करते हुए कहा कि चिराग में बड़ा नेता बनने की पूरी संभावना है. चिराग पासवान आने वाले दिनों में पूरी दलित समुदाय का देश का सबसे बड़ा चेहरा बन सकते हैं. आने वाले दिनों में 5 जुलाई को होने वाले स्वर्गीय रामविलास पासवान की जयंती के मौके पर चिराग पासवान की प्रस्तावित बिहार यात्रा को हम पूरी तरह से समर्थन देंगे. नीतीश कुमार को बिहार से हटाने के लिए आने वाले दिनों में जरूरत पड़ी तो अपने पार्टी को चिराग के पार्टी में मर्ज भी कर लेंगे.

जीतन राम मांझी को भी साथ आने का दिया न्योता
पूर्व सांसद अरुण कुमार ने चिराग का खुलकर समर्थन करने की घोषणा करते हुए हम प्रमुख जीतन राम मांझी को भी साथ आने का न्योता दिया है. अरुण कुमार ने कहा कि जीतन राम मांझी गांव और गरीबों के अच्छे नेता हैं इसलिए कभी-कभी सरकार की खामियों को भी खुलकर सामने रखते हैं. ऐसे मौके पर सभी को साथ आकर बिहार को मजबूत बनाना चाहिए.

नीतीश कुमार से इस्तीफे की कर डाली मांग
पूर्व सांसद अरुण कुमार ने चिराग का साथ देते हुए बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमला बोलते हुए इस्तीफे की मांग कर डाली. अरुण कुमार ने कहा कि अब समय आ गया है कि नीतीश कुमार इस्तीफा देकर घर बैठे और अच्छी-अच्छी किताबें पढ़ें, क्योंकि बिहार उनसे नहीं संभल रहा है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.