अपना शहर चुनें

States

Big News: 27 जनवरी से कक्षा 1 से 8 तक के बच्‍चे भी जा सकते हैं स्‍कूल, सरकार कर रही तैयारी

27 जनवरी से खुल सकते हैं प्राइमरी स्कूल (प्रतीकात्मक तस्वीर)
27 जनवरी से खुल सकते हैं प्राइमरी स्कूल (प्रतीकात्मक तस्वीर)

शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ( Principal Secretary of Education Department Sanjay Kumar) ने बताया कि 25 जनवरी को क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक होगी और 27 जनवरी से छोटे बच्चों के लिए शर्तों के साथ स्कूल खोलने की अनुमति दी जा सकती है.

  • Share this:
पटना. स्कूली बच्चों से जुड़ी बड़ी खबर यह है कि अब क्लास 1 से लेकर 8 तक के बच्चों को भी जल्द ही स्कूल जाने की अनुमति मिल सकती है. शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार (Principal Secretary of Education Department Sanjay Kumar) ने न्यूज 18 को जानकारी देते हुए बताया कि इस महीने के अंत तक क्लास 1 से 8 तक के लिए स्कूल खोले जाने का सरकार फैसला ले सकती है. इसको लेकर 25 जनवरी तक मुख्य सचिव की अध्यक्षता में क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप (Crisis Management Group) की बैठक होगी. प्रधान सचिव ने कहा कि 4 जनवरी से क्लास 9 से 12 तक की कक्षाएं संचालित हो रही हैं, जिनमें 50 प्रतिशत में 30 प्रतिशत बच्चों की उपस्थिति देखी जा रही है. ऐसे में अब उसी पैटर्न पर क्लास 1 से 8 तक के बच्चों की भी पढ़ाई शुरू हो, इस पर जल्द फैसला होगा.

संजय कुमार ने साफ कहा कि अब तक कहीं से किसी प्रकार की अप्रिय खबरें नहीं आई हैं और सही फीडबैक मिल रहा है. ऐसे में 25 जनवरी को क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक होगी और 27 जनवरी से छोटे बच्चों के लिए शर्तों के साथ स्कूल खोले जा सकते हैं. बता दें कि राज्य में 4 जनवरी सरकार ने 9वीं कक्षा से लेकर 12वीं तक के लिए स्कूल खोलने का आदेश दिया था जिसके बाद मुंगेर, नवादा, पटना समेत कई जिलों में शिक्षक से लेकर छात्र तक कोरोना संक्रमण के शिकार हुए थे. मामला प्रकाश में आने के बाद शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने स्वास्थ्य विभाग को पत्र लिखकर अनुरोध किया था कि राज्य के सरकारी स्कूलों में रेंडमली छात्रों और शिक्षकों की कोरोना जांच की जाए.

स्वास्थ्य विभाग ने इस पर अमल करते हुए जांच की कार्रवाई भी तेज कर दी है और कई जिलों में सैम्पल जांच की प्रक्रिया भी जारी है. ऐसे में अब इंतजार करना होगा कि क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक में क्या फैसला लिया जाता है. अगर स्कूल खोल दिये जाते हैं तो अभिभावक छोटे बच्चों को स्कूल भेजने पर सहमति जताते हैं या नही, यह भी एक बड़ा सवाल है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज