• Home
  • »
  • News
  • »
  • bihar
  • »
  • पटना एयरपोर्ट पर IPS अमिताभ ठाकुर और एयरलाइन्स कर्मिंयों के बीच नोंकझोंक, बोर्डिंग कार्ड दिखाने को लेकर हुई बहस

पटना एयरपोर्ट पर IPS अमिताभ ठाकुर और एयरलाइन्स कर्मिंयों के बीच नोंकझोंक, बोर्डिंग कार्ड दिखाने को लेकर हुई बहस

IPS अधिकारी और एयरलाइन्स कर्मियों में बहसबाजी हुई.

IPS अधिकारी और एयरलाइन्स कर्मियों में बहसबाजी हुई.

सीआईएसएफ के अधिकारियों का दावा है कि आईजी रैंक के अमिताभ ठाकुर ने नियम की जानकारी होने पर ही बोर्डिंग कार्ड दिखाने की बात कही. इस दौरान तकरार बढ़ते देख मौके पर सीआईएसएफ के अधिकारी भी पहुंच गए.

  • Share this:
पटना. राजधानी के जयप्रकाश नारायण इंटरनेशनल एयरपोर्ट (Jayprakash Narayan International Airport) पर आज उस समय अजीबोगरीब स्थिति उतपन्न हो गई जब यूपी कैडर के चर्चित आईपीएस अधिकारी अमिताभ ठाकुर (Amitabh Thakur ) और एयरलाइन्स कर्मियों में बोर्डिंग कार्ड दिखाने को लेकर जमकर तकरार हो गई. दरअसल लखनऊ से इंडिगो (Indigo) फ्लाइट पटना पहुंचा था और उसे कोलकाता तक जाना था. पटना पहुंचने के बाद इंडिगो फ्लाइट के कर्मचारियों ने नियमानुसार सभी यात्रियों का बोर्डिंग कार्ड चेक करना शुरू किया, लेकिन इस पर एयरलाइन्स कर्मियों और IPS अधिकारी के बीच बहस शुरू हो गई.

सीआईएसएफ अधिकारियों की मानें तो बोर्डिंग कार्ड दिखाने को लेकर IPS अमिताभ ठाकुर और एयरलाइन्स के लोगों के बीच तकरार हो गई. सीआईएसएफ के अधिकारियों का दावा है कि आईजी रैंक के अमिताभ ठाकुर ने नियम की जानकारी होने पर ही बोर्डिंग कार्ड दिखाने की बात कही. इस दौरान तकरार बढ़ते देख मौके पर सीआईएसएफ के अधिकारी भी पहुंच गए.

सीआईएसएफ के कमांडेंट ने न्यूज़ 18 को बताया की बाद में एयरलाइन्स  के अधिकारियों ने आईपीएस अधिकारी को बोर्डिंग कार्ड के नियमों की सारी जानकारी दी. इसके  बाद अमिताभ ठाकुर ने कार्ड दिखाया और वे फ्लाइट से पटना में उतर गए. सीआईएसएफ के अधिकारियों ने दावा किया है कि आईपीएस अधिकारी को पटना में ही उतरना था.

सीआईएसएफ कमांडेंट ने इस मामले में उन अफवाहों को खारिज किया है जिसमे अमिताभ ठाकुर के कोलकाता जाने और सीआईएसएफ के जवान द्वारा बदसलूकी की बात कही जा रही थी.

उधर आईजी अमिताभ ठाकुर ने न्यूज़ 18 से बात करते हुए बताया कि पटना एयरपोर्ट पर इंडिगो के कर्मियों ने बोर्डिंग कार्ड के मामले में अमर्यादित व्यवहार किया. यही नहीं मौके पर पहुंचे सीएआईएसएफ के इंसपेक्टर रैंक के अफसर ने अपमानजनक भाषा मे बात की.

उन्होंने कहा की इंस्पेक्टर रैंक के इस अफसर ने नेमप्लेट नहीं लगा रखा था. उन्होंने कहा कि भले ही उन्हें पटना उतरना था, लेकिन अकारण एक आईपीएस अधिकारी को रोककर रखना गलत है.

कौन हैं अमिताभ ठाकुर

1992 बैच के आईपीएस अधिकारी अमिताभ ठाकुर मूल रूप से बिहार के रहनेवाले हैं. यूपी के सात जिलो में एसपी का पद संभाला चुके अमिताभ ठाकुर एक तेजतरर्रार और कड़क पुलिस अफसर के रुप मे जाने जाते हैं. अमिताभ ठाकुर नेशनल आरटीआई फोरम के संस्थापक भी रहे  हैं. उनकी पत्नी भी एक सामाजिक कार्यकर्ता हैं.

जिन दिनों फेसबुक पर 'आई हेट गांधी' नामक एक फेसबुक ग्रुप में महात्मा गांधी पर अमर्यादित  टिप्पणी की गई थी, उस वक्त अमिताभ दंपती ने  फेसबुक के खिलाफ ही  एफ़आईआर दर्ज करा दिया था. कुछ दिनों बाद फेसबुक से उस ग्रुप को प्रतिबंधित भी कर देना  पड़ा था. ठाकुर दंपती के इस काम की उन दिनों  सोशल मीडिया पर काफी सराहना हुई थी.

साल 2015 में अमिताभ ठाकुर ने उस वक्त सनसनी फैला दी थी जब पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव पर धमकी देने का आरोप लगाते हुए कहा था कि उनके पास एक ऑडियो टेप है, जो फोन पर रिकॉर्ड की गई है.

ये भी पढ़ें

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन