होम /न्यूज /बिहार /

अब पटना जिले के 20 प्रखंडों की 64 पंचायतों से होगा कचरे का उठाव, यहां देखें पूरी लिस्ट

अब पटना जिले के 20 प्रखंडों की 64 पंचायतों से होगा कचरे का उठाव, यहां देखें पूरी लिस्ट

पटना जिले की 64 पंचायतों से भी अब कचरे का उठाव होगा.

पटना जिले की 64 पंचायतों से भी अब कचरे का उठाव होगा.

Patna News: स्वच्छ भारत मिशन के तहत अब पटना जिला के गांव में भी कचरा उठाने की तैयारी शुरू की जा रही है. नगर निगम के द्वारा अभी तक सिर्फ पटना के नगर निगम और नगर परिषद क्षेत्र में कचरा उठाया जाता था, लेकिन अब गांव में भी कचरे की गाड़ी कचरा उठाने जाएगी. पटना जिला की 64 पंचायतों के 244 गांव में कचरा उठाया जाएगा. पहले चरण के तहत जिन प्रखंडों के पंचायतों में कचरा उठाया जाएगा इनमें अथमलगोला, बख्तियारपुर, बाढ़, बिहटा, बेलछी, दनियावा, धनरूआ, दुल्हिन बाजार, दानापुर, फतुहा, रूपसपुर, मनेर, मसौढ़ी, मोकामा, नौबतपुर, पालीगंज पंडारक, पटना सदर, फुलवारीशरीफ, पुनपुन और संपतचक शामिल हैं.

अधिक पढ़ें ...

पटना. राजधानी पटना के साथ-साथ अब गांव में भी कचरे की गाड़ी घूमते हुए नजर आएगी. जिला प्रशासन और नगर निगम के द्वारा इसकी तैयारी की जा रही है. अगले हफ्ते से गांव में भी कचरा उठाने का काम शुरू कर दिया जाएगा. पटना डीएम चंद्रशेखर सिंह की अध्यक्षता में जिला जल एवं स्वच्छता समिति की बैठक में यह निर्णय लिया गया कि पटना जिले की कुल 309 पंचायतों में पहले चरण के तहत 64 पंचायतों में गांव से कचरा उठाने का काम शुरू किया जाएगा. बाकी के बचे 245 पंचायतों में दूसरे चरण के तहत कचरा उठाने का काम किया जाएगा. बैठक में दावा किया गया कि 31 मार्च के पहले सभी पंचायतों में सुव्यवस्थित तरीके से कचरा उठाने का काम शुरू हो जाएगा.

पहले चरण के तहत जिन प्रखंडों के पंचायतों में कचरा उठाया जाएगा इनमें अथमलगोला, बख्तियारपुर, बाढ़, बिहटा, बेलछी, दनियावा, धनरूआ, दुल्हिन बाजार, दानापुर, फतुहा, रूपसपुर, मनेर, मसौढ़ी, मोकामा, नौबतपुर, पालीगंज पंडारक, पटना सदर, फुलवारीशरीफ, पुनपुन और संपतचक शामिल हैं. इन प्रखंडों के पंचायतों में कचरा उठाने के लिए हर वार्ड में ठेला गाड़ी की व्यवस्था की गई है.

कचरे को इकट्ठा करने के लिए कर्मचारी की भी नियुक्ति की गई है और पंचायत स्तर पर एक-एक ई रिक्शा का भी प्रबंध किया गया है, जिससे गांव में घूम घम कर कचरा उठाया जाएगा.वार्ड स्तर पर कचरे का संग्रहण केंद्र बनाया जाएगा और हर पंचायत में एक पर्यवेक्षक की भी नियुक्ति की जाएगी.

इसके साथ ही प्रत्येक घर को दो-दो डस्टबिन भी दिया जाएगा. गांव में कचरा उठाने के साथ-साथ अब लोहिया स्वच्छ बिहार अभियान के तहत ग्राम पंचायतों में बेस्ट प्रोसेसिंग यूनिट का भी निर्माण किया जाना है.

Tags: Bihar latest news, Patna News Update, Swachh Bharat Mission

अगली ख़बर