Home /News /bihar /

गायघाट रिमांड होम मामला: पीड़िता ने हाईकोर्ट में याचिका दाखिल कर लगाई सुरक्षा की गुहार, नौकरी और 50 लाख मुआवजे की भी मांग

गायघाट रिमांड होम मामला: पीड़िता ने हाईकोर्ट में याचिका दाखिल कर लगाई सुरक्षा की गुहार, नौकरी और 50 लाख मुआवजे की भी मांग

गायघाट रिमांड होम मामले में पीड़िता ने हाईकोर्ट में इंटरवीन पिटिशन दाखिल की है.

गायघाट रिमांड होम मामले में पीड़िता ने हाईकोर्ट में इंटरवीन पिटिशन दाखिल की है.

Gayghat Remand Home Case: पीड़िता ने पटना हाईकोर्ट में इंटरवीन पिटिशन दायर की है. याचिका में कोर्ट को बताया गया है कि पटना डीएम को पीड़िता की तरफ से शिकायत की गई थी. इसके बाद भी प्राथमिकी दर्ज नहीं हुई, बल्कि उसे भटकने के लिए छोड़ दिया गया. पीड़िता ने कोर्ट से सुरक्षा की गुहार लगाई है.

अधिक पढ़ें ...

रिपोर्ट- रीतु रोहिनी

पटना. बिहार का नाम एक बार फिर शर्मसार हुआ है. पटना के गायघाट स्थित महिला रिमांड होम में लड़कियों के साथ जिस तरह से गलत काम हुआ है, इससे सभी वाकिफ हैं. सबके मन में यही चल रहा है कि कैसे इन लड़कियों को न्याय मिले. इसी मामले में लड़कियों की लड़ाई को न्याय की चौखट तक पहुंचाने के लिए पटना हाईकोर्ट में साक्ष्यों के साथ बातों को रखने के लिए महिला विकास मंच की लीगल एडवाइजर व वकील मीनू कुमारी ने दो इंटरवीन पिटिशन तैयार की है. पहली पिटिशन दाखिल भी की जा चुकी है और दूसरी की तैयारी है.

शनिवार को लीगल एडवाइजर वकील मीनू कुमारी ने बताया कि उत्तर प्रदेश की रहने वाली पीड़िता के हवाले पटना हाईकोर्ट में पहले इंटरवीन पिटिशन दायर की गई है. इसके जरिए पटना हाई कोर्ट को बताया गया है कि पटना डीएम को पीड़िता की तरफ से कंप्लेंट की गई थी. इसके बाद भी प्राथमिकी दर्ज नहीं हुई . हमें भटकने के लिए छोड़ दिया गया. जिसके बाद वीडियो वायरल हो गया. बात लड़की की सुरक्षा पर बन आई है. इसके जरिए कई चीजों का उल्लंघन हुआ. इस कारण  राज्य सरकार सारी चीजों को कॉम्प्लेसेन्ट करें.

पिटिशन के जरिए पीड़िता को प्रोटक्शन देने की मांग की गई है. साथ ही उसके जीवन जीने के लिए सरकारी नौकरी की मांग की गई है. ताकि समाज में लड़की सामान्य लड़की की तरह पीड़िता भी भविष्य में अपना जीवन जी सके. शुक्रवार को पीड़िता के हवाले से यह इंटरवीन पिटिशन को पटना हाई कोर्ट में दाखिल किया जा चुका है. गायघाट के रिमांड होम में रहकर जिस तरह से लड़की की जिंदगी खराब हुई है. उसके लिए पिटिशन के माध्यम से लड़की को ₹50 लाख मुआवजा दिलवाने की मांग भी की गई है.

वकील मीनू कुमारी लगातार सवाल उठा रही है, वह बताती है कि इसके लिए महिला विकास मंच की तरफ से सोमवार यानी 7 फरवरी को दूसरा इंटरवीन पेटिशन पटना हाईकोर्ट में दाखिल किया जाएगा.दूसरी पिटिशन के जरिए गायघाट रिमांड होम के अंदर कितनी कमियां है उनके बारे में बताएंगे. गलत करतूतों को उजागर करेंगे. सारी जानकारियां को दूसरी पेटिशन में कंपाइल किया जाएगा.

साफ तौर से गायघाट रिमांड होम मामले की जांच सड़क से लेकर संसद तक और कोर्ट तक कराने के लिए महिला विकास मंच सामने आ गई है. किसी भी तरह से महिला विकास मंच चाहती है कि गायघाट रिमांड होम मामले में जिस तरह से जानकारियां सामने आई है उसकी तह तक जानी चाहिए और भविष्य में इस तरह की बात किसी और लड़कियों के साथ ना हो यह सुनिश्चित कराई जानी चाहिए.

Tags: Bihar latest news, Patna high court, PATNA NEWS

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर