प्रशांत किशोर के ट्वीट पर गिरिराज सिंह का पलटवार, बोले- अवैध लोगों से किसी को प्रेम क्यों?
Patna News in Hindi

गिरिराज सिंह (Giriraj Singh) ने कहा कि अमित शाह (Amit Shah) जब बोलते हैं तो कई लोगों को बुरा लगता है. कोई कहता है हम अपने राज्य में नहीं लागू होने देंगे, लेकिन देश के गृह मंत्री का बयान देश हित में है.

  • News18 Bihar
  • Last Updated: November 21, 2019, 11:08 AM IST
  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
नई दिल्ली.गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने बुधवार को कहा कि पूरे देश में नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजन (NRC) लागू की जाएगी. इसके बाद से ही मामले ने एक बार फिर तूल पकड़ लिया है. इस मुद्दे पर जेडीयू के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर (JDU National Vice President Prashant Kishore) ने ट्वीट कर सवाल उठाया था कि बीजेपी शासित राज्यों के कितने मुख्यमंत्रियों से इस मसले पर सलाह ली गई है. अब इसी मुद्दे पर बीजेपी नेता और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह (Giriraj Singh) ने PK पर पलटवार किया है. उन्होंने कहा कि अवैध से किसी को प्रेम क्यों?

गिरिराज सिंह ने PK के ट्वीट पर कहा, 'सहमति और आम सहमति का क्या सवाल है. NRC से उन्हें निकाला जाएगा जो अवैध हैं. अवैध से किसी को प्रेम क्यों? चाहे सहमति हो या असहमति, अवैध तो अवैध है. उसे देश में रहने का अधिकार नहीं है. भारत कोई धर्मशाला नहीं है.'

ममता पर भी साधा निशाना
केंद्रीय मंत्री ने अमित शाह के बयान को आधार बनाते हुए ममता बनर्जी पर भी निशाना साधा. उन्होंने कहा कि वे जब बोलते हैं तो कई लोगों को बुरा लगता है. कोई कहता है हम अपने राज्य में नहीं लागू नहीं होने देंगे, लेकिन देश के गृह मंत्री का बयान देशहित में है. उन्होंने कहा कि बंगाल और बिहार में घुसपैठिए का दबाव जहां दिखता है, वहां NRC लागू करनी चाहिए.



गिरिराज सिंह बिहार के सीमावर्ती जिलों में घुसपैठियों के मुद्दे उठाते रहते हैं. (फाइल फोटो)




'इंदिरा गांधी में नहीं थी इच्‍छाशक्ति'
बीजेपी नेता ने कहा कि इंदिरा गांधी ने भी वर्ष 1971 में असम में यही बात कही थी, लेकिन उनमें इच्छाशक्ति नहीं थी. उन्होंने कहा था कि घुसपैठियों को रखने की ताक़त हमारे पास नहीं है. हालांकि, वह कठमुल्लों के आगे झुक गईं. वोट के सौदागरों के आगे झुक गईं.

बता दें कि प्रशांत किशोर प्रशांत ने ट्वीट कर कहा था कि 15 से अधिक राज्यों में गैर-बीजेपी मुख्यमंत्री हैं और ये ऐसे राज्य हैं जहां देश की 55 फ़ीसदी से अधिक जनसंख्या है. उन्होंने आगे कहा कि आश्चर्य यह है कि उनमें से कितने लोगों से एनआरसी पर विमर्श किया गया और कितने अपने-अपने राज्यों में इसे लागू करने के लिए तैयार हैं!



बता दें कि बुधवार को संसद में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने एक बार फिर कहा कि एनआरसी को पूरे देश में लागू किया जाएगा.

इनपुट- अमितेश

ये भी पढ़ें
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading