'गाय की फैक्ट्री' पर बोले गिरिराज- 30 लीटर दूध देने वाली बछिया पैदा करने की तैयारी

News18 Bihar
Updated: September 4, 2019, 5:00 PM IST
'गाय की फैक्ट्री' पर बोले गिरिराज-  30  लीटर दूध देने वाली बछिया पैदा करने की तैयारी
गिरिराज ने अपने गाय की फैक्ट्री वाले बयान पर अपना पक्ष रखा. (फाइल फोटो)

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि अंतर यह होगा कि अगर 2 लीटर वाली गाय होगी और उसमें 30 लीटर वाला एम्बरियो होगा, तो बछिया 30 लीटर दूध देने वाली पैदा होगी. इसी को मैंने गाय की फैक्ट्री कहा,लेकिन लोगों ने मेरे खिलाफ राजनीतिक फैक्ट्रियां खोल दीं.

  • Share this:
नई दिल्ली. केंद्रीय पशुपालन, डेयरी और मत्स्य पालन मंत्री गिरिराज सिंह (Giriraj Singh) ने अपने गाय की फैक्ट्री (Cow Factory) वाले बयान पर सफाई दी है. उन्होंने न्यूज 18 से बात करते हुए इसके बारे में विस्तार से बताया और कहा कि उन्होने गाय की फैक्ट्री शब्द का इस्तेमाल क्यों किया था. गिरिराज सिंह ने उन लोगों पर कटाक्ष भी किया जिन्होंने उनके गाय की फैक्ट्री वाले बयान का मजाक उड़ाया था. गिरिराज सिंह ने कहा कि देश के अंदर सबसे बड़ी समस्या हो जाती है जब बछड़ा (Male Calf ) हो जाता है. इसे रोकने के लिए केवल बछिया पैदा हो जाए इस तरह की विदेशी टेक्नोलॉजी अभी इस्तेमाल होती है. लेकिन, हमारा वादा है 6 महीने में स्वदेशी टेक्नोलॉजी आ जाएगी.

IVF टेक्नोलॉजी के जरिए होगा गाय का गर्भाधान 
उन्होंने बताया कि जल्दी ही किसानों के बीच 2019-20 में 30 से 40 लाख डोज़ लेकर जाएंगे. हमने जिस फैक्ट्री की बात की IVF टेक्नोलॉजी है. एम्बरियो लैब में तैयार होगा और गाय के गर्भाधान में जाएगा तो ये गाय की फैक्ट्री ही हुई. उन्होंने यह भी कहा कि कहा कि यह टेक्नोलॉजी पूरी दुनिया में है.

'मेरे खिलाफ लोगों ने राजनीतिक फैक्ट्रियां खोल दीं'

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि अंतर यह होगा कि अगर 2 लीटर वाली गाय होगी और उसमें 30 लीटर वाला एम्बरियो होगा, तो बछिया 30 लीटर दूध देने वाली पैदा होगी. इसी को मैंने गाय की फैक्ट्री कहा,
लेकिन लोगों ने मेरे खिलाफ राजनीतिक फैक्ट्रियां खोल दीं.

किसानों की जरूरत का ध्यान रखे देश
Loading...

गिरिराज सिंह ने कहा कि मैं उनसे कहता हूं कि किसानों की जरूरत को समझें क्योंकि देश को उनकी जरूरत है. हम अगले पांच साल में सेक्स सीमेन आईवीएफ टेक्नोलॉजी को इतना आगे ले जाएंगे कि देश के किसानों की आमदनी 10 से 12 लाख करोड़ रुपए बढ़ जाएगी.

मत्स्य पालन को भी मिलेगा बढ़ावा
गिरिराज सिंह ने कहा कि मछली पालन में भी सरकार काम कर रही है.  पहले 11 हजार करोड़ का एक्सपोर्ट था, उसे 47 हज़ार करोड़ पर ले गए हैं.  मछली के प्रोडक्शन और इनलैंड फिशरी को बढ़ावा दिया जाएगा.  इस क्षेत्र में काम कर रहे लोगों की आमदनी दोगुनी करने पर भी जोर देंगे.

इनपुट- अमितेश

ये भी पढ़ें- 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 4, 2019, 4:31 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...