लाइव टीवी

बिहार के इस बाहुबली को मिला गिरिराज सिंह का 'आशीर्वाद', भाई के लिए वोट मांगने पहुंचे नवादा

Amrendra Kumar | News18 Bihar
Updated: April 3, 2019, 10:40 AM IST
बिहार के इस बाहुबली को मिला गिरिराज सिंह का 'आशीर्वाद', भाई के लिए वोट मांगने पहुंचे नवादा
गिरिराज सिंह के साथ सूरजभान

गिरिराज सिंह ने 2014 में नवादा से लोकसभा चुनाव जीता था और वो इसी सीट से चुनाव लड़ना चाहते थे लेकिन इस बार उन्हें नवादा के बजाए बेगूसराय भेज दिया गया. नवादा में चंदन की लड़ाई वहां के बाहुबली विधायक रहे राजबल्लभ यादव की पत्नी विभा देवी से है

  • Share this:
लोकसभा चुनाव को लेकर बिहार में प्रचार का दौर चरम पर है. प्रचार की इस कड़ी में जिन चेहरों पर सबकी नजरें हैं उनमें एक चेहरा गिरिराज सिंह का भी है. मोदी कैबिनेट के मंत्री गिरिराज सिंह यूं तो बेगूसराय सीट से पार्टी के प्रत्याशी हैं लेकिन वो वोट अपने सहयोगी दलों के लिए भी मांग रहे हैं. बुधवार को गिरिराज अपने पुराने इलाके यानी नवादा में हैं जहां वो लोजपा प्रत्याशी चंदन कुमार के लिए वोट मांगेंगे.

गिरिराज की सीट से एनडीए ने लोजपा के चंदन कुमार को टिकट दिया है जो बाहुबली सूरजभान के छोटे भाई हैं. इस सीट से पहले गिरिराज सिंह सांसद हुआ करते थे जो उनके स्वजातीय हैं. चुकि नवादा में भूमिहार वोटरों की संख्या निर्णायक हैं ऐसे में एनडीए की जीत को सुनिश्चित करने के लिए गिरिराज ने चंदन कुमार का भी सपोर्ट किया है. यही कारण है कि वो चंदन के पक्ष में न केवल वोट मांगने नवादा जा रहे हैं बल्कि वहां रोड शो भी करेंगे. ऐसे में माना जा रहा है कि सूरजभान को गिरिराज सिंह का आशीर्वाद मिल गया है.



जनसंपर्क शुरू करने से पहले गिरिराज सिंह ने बुधवार की सुबह महारानी स्थान और अशोक धाम में पूजा अर्चना की और भगवान का आशीर्वाद लिया. गिरिराज सिंह ने 2014 में नवादा से लोकसभा चुनाव जीता था और वो इसी सीट से चुनाव लड़ना चाहते थे लेकिन इस बार उन्हें नवादा के बजाए बेगूसराय भेज दिया गया. नवादा में चंदन की लड़ाई वहां के बाहुबली विधायक रहे राजबल्लभ यादव की पत्नी विभा देवी से है. इस सीट से जहां एनडीए की साख दांव पर है वहीं सूरजभान भी बड़ी जीत हासिल कर अपने भाई को राजनीति में लाना चाहते हैं.

नवादा में चंदन कुमार के पक्ष में वोट मांगने वाले गिरिराज सिंह की मेहनत कितना रंग दिखाती है इसका पता तो 23 मई को लगेगा लेकिन उनके सपोर्ट ने इस बात को जाहिर करने की कोशिश की है कि गिरिराज की नाराजगी अब पार्टी नेतृत्व से कम हो गई है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 3, 2019, 10:40 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर