लाइव टीवी

छात्र संघ चुनाव: PU के दंगल में ताल ठोंकने को तैयार हैं बेटियां, चुनौती अध्यक्ष बनने की

jyoti mishra | News18 Bihar
Updated: November 28, 2019, 3:18 PM IST
छात्र संघ चुनाव: PU के दंगल में ताल ठोंकने को तैयार हैं बेटियां, चुनौती अध्यक्ष बनने की
पटना विश्वविद्यालय के एक कॉलेज की छात्राएं

पटना विश्वविद्यालय (Patna University) के 21 हजार वोटरों में 50 प्रतिशत से ज्यादा महिला वोटर (Voter) हैं लेकिन इसके बाद भी आज तक कोई छात्रा अध्यक्ष (President) पद पर जगह नहीं बना पाई.

  • Share this:
पटना. पटना विश्वविद्यालय (Patna University) के छात्र संघ चुनाव (Student Union Election) के लिए छात्र संगठनों का प्रचार शुरु हो चुका है. नामांकन की प्रक्रिया भी चल रही है. इस बार के चुनाव में 21 हजार से अधिक वोटर वोटर लिस्ट में शामिल हैं. इसमें अच्छी खासी तादाद छात्राओं की भी है. चुनाव को लेकर यूनिवर्सिटी के सारे कॉलेजों में चहल-पहल बढ़ गई है. महिला कॉलेजों के बाहर भी चुनाव का पर्चा लिये यूनिवर्सिटी (University) के छात्र नजर आ रहे हैं. जो छात्राओं से खुद को या अपने कैंडिडेट को वोट करने की अपील कर रहे हैं.

जीत का भरोसा

महिला कॉलेज कि छात्राएं भी चुनाव को लेकर उत्साहित हैं. महिला कॉलेजों में छात्राओं में छात्र संघ चुनाव को लेकर काफी उत्साह है. मगध महिला कॉलेज की छात्रा सौम्पी कुमारी कहती हैं कि इस बार मगध महिला कि छात्राएं चुनाव में अच्छे पदों पर जीत दर्ज करेंगी. कॉलेज की एक और छात्रा जोत्सना का कहना है कि काफी लड़कियां चुनाव में खड़ी हो रही हैं और चुनाव में इस बार गर्ल पावर दिखेगा.

21 हजार से अधिक वोटर

पटना यूनिवर्सिटी में इस बार 21 हजार से अधिक वोटर हैं जिसमें 50 प्रतिशत से ज्यादा महिला वोटर यानी छात्राएं हैं. पटना विमेंस कॉलेज कि छात्राएं भी एलेक्शन मोड में नजर आ रही हैं. यहां कि छात्राएं वोट देने से लेकर नॉमिनेशन तक में आगे रहना चाहती हैं और अपने मुद्दों को लेकर भी सजग हैं. नेहा कहती हैं कि कॉलेज कॉउंसलर से लेकर सेंट्रल पैनल तक के पद के लिए हमारे यहां से छात्राएं नांमांकन कर रही हैं.

वोटिंग को लेकर कॉलेज सख्त

मगध महिला कॉलेज कि प्रिंसिपल से जब हमने पूछा कि वो छात्र संघ चुनाव में हिस्सा लेने के लिए छात्राओं को कैसे प्रोत्साहित करती है तो डॉ शशि शर्मा कहती हैं वो खुद राजनीति शास्त्र की छात्रा रही हैं इसलिए समझती है कि हर चुनाव जरुरी होता है. वो छात्राओं को चुनाव में हिस्सा लेने के लिए प्रोत्साहित करती है लेकिन साथ में वोटिंग के दिन उनके कॉलेज से सौ प्रतिशत वोटिंग हो इसको लेकर भी शख्त है.
Loading...

50 फीसदी वोटर आधी आबादी से

21 हजार वोटरों में 50 प्रतिशत से ज्यादा महिला वोटर हैं लेकिन इसके बाद भी आज तक कोई छात्रा अध्यक्ष पद पर जगह नहीं बना पाई. पटना वीमेंस कॉलेज में करीब 4700 वोटर हैं वहीं, मगध महिला कॉलेज में छात्रा वोटरों की संख्या चार हजार के करीब है. इसके अलावा पीजी के विभागों और दूसरे कॉलेजों में छात्राओं की संख्या अच्छी खासी है. पटना कॉलेज की प्रिया कहती हैं लड़कियों का वोट सबको चाहिए लेकिन हमें कोई टिकट देने को तैयार नहीं होता.

चुनौती अध्यक्ष पद की

यहां तक की बड़ी-बड़ी पार्टियां भी छात्राओं को छात्र संघ चुनाव में अपना चेहरा नहीं बना रही लेकिन छात्राओं को सीट नहीं दे रही है. सबसे बड़ी बात ये है कि इतने सालों में अध्यक्ष पद पर कभी भी कोई महिला नहीं काबिज हो पाई है. पटना यूनिवर्सिटी के सारे कॉलेज में छात्र संघ चुनाव का रंग चढ़ गया है जहां छात्राएं भी कदम ताल करने को तैयार है. इनके अपने मुद्दे हैं जिनके आधार पर ये अपना कैंडिडेट चुनेंगी और खुद भी मजबूती से अपनी जगह बनाने को तैयार है.

ये भी पढ़ें- शौचालय घोटाला: अधूरा निर्माण करवा मुखिया ने जबरन निकलवा ली राशि

ये भी पढ़ें- बिहार: शराब पार्टी के दौरान IIT कैंपस में हुई थी फायरिंग, दो की हालत नाजुक

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 28, 2019, 3:08 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...