होम /न्यूज /बिहार /पटना में वार्ड सदस्य के पुत्र को दिनदहाड़े गोलियों से भूना, मौके पर हुई मौत

पटना में वार्ड सदस्य के पुत्र को दिनदहाड़े गोलियों से भूना, मौके पर हुई मौत

पटना में हुई वार्ड सदस्य के बेटे की हत्या के बाद अस्पताल में मौजूद लोग

पटना में हुई वार्ड सदस्य के बेटे की हत्या के बाद अस्पताल में मौजूद लोग

Patna Crime News: पटना में हुई हत्या की इस घटना की वजह चुनावी रंजिश बताई जा रही है. मृतक के परिवार के लोगों ने बताया कि ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

पटना में दिनदहाड़े हुई घटना के बाद से आरोपी फरार हैं
मृतक की मां वार्ड की सदस्य निर्वाचित हुई हैं
हत्या की इस घटना के बाद स्थानीय पुलिस जांच में लगी है

पटना. राजधानी पटना में अपराध का ग्राफ लगातार बढ़ता जा रहा है. ताजा मामला पटना के गौरीचक थाना क्षेत्र के सुडीहा गांव का है जहां चुनावी रंजिश में अपराधियों ने एक युवक की गोली मारकर हत्या कर दी. मृतक के परिजनों द्वारा घटना की जानकारी पुलिस को दिए जाने के बाद पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव को अपने कब्जे में लिया और उसे पोस्टमार्टम के लिए नालंदा मेडिकल कॉलेज भेज दिया है.

मृतक की पहचान सुडीहा पंचायत की वार्ड सदस्य किरण देवी के पुत्र वीरेंद्र कुमार के रूप में की गई है. बताया जाता है कि वीरेंद्र कुमार अपने पिता रामपति रविदास के साथ बाइक पर सवार होकर अपने गांव से अरवल जा रहा था. इसी दौरान घर से थोड़ी ही दूर पर गांव के ही रहने वाले सुबोध कुमार और उसके समर्थकों ने उसे घेर लिया और उसके सिर में दो गोलियां मार दी, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई. घटना के संबंध में पूछे जाने पर मृतक के चाचा गणेश रविदास ने बताया कि गांव के ही रहने वाले सुबोध कुमार और उसके तीन अन्य साथियों ने मिलकर उनके भतीजे की गोली मारकर हत्या कर दी.

गणेश रविदास ने बताया कि पिछले वर्ष हुए पंचायत चुनाव के वार्ड सदस्य पद पर मृतक की मां किरण देवी ने जीत हासिल की थी, वहीं सुबोध के समर्थक की चुनाव में हार हो गई थी. उन्होंने बताया की उसी घटना के बाद से दोनों परिवार के बीच विवाद चल रहा था और विवाद के क्रम में ही सुबोध ने गोली मारकर वीरेंद्र की हत्या कर दी. मृतक के चाचा ने बताया कि किराना की दुकान चलाने वाले वीरेंद्र कुमार से मुफ्त में सिगरेट नहीं मिलने पर सुबोध कुमार की वीरेंद्र कुमार के साथ हाल ही में झगड़ा भी हुआ था.

मौके पर मौजूद गौरीचक थाने के चौकीदार गणेश चंद्रवंशी ने हत्या की पुष्टि करते हुए हत्या का कारण चुनावी रंजिश करार दिया है. चौकीदार ने बताया की पिछले वर्ष हुए पंचायत चुनाव के बाद से दोनों परिवार के बीच विवाद चल रहा था और विवाद के क्रम में ही सुबोध कुमार और उसके समर्थकों द्वारा वीरेंद्र की हत्या की गई है. घटना के बाद से सभी आरोपी फरार बताए जाते हैं. पुलिस फरार आरोपियों की गिरफ्तारी को लेकर सघन छापेमारी अभियान में जुटी है. इस मामले में गौरीचक थानाध्यक्ष कृष्णा कुमार ने जल्द ही सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिए जाने का भरोसा दिलाया है.

Tags: Bihar News, Crime In Bihar, Murder, PATNA NEWS

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें