Home /News /bihar /

Lockdown: बाहर फंसे 27 लाख लोगों को लाने के लिए बिहार सरकार ने की नॉन स्टॉप ट्रेनों की मांग

Lockdown: बाहर फंसे 27 लाख लोगों को लाने के लिए बिहार सरकार ने की नॉन स्टॉप ट्रेनों की मांग

बिहार के डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी ने कहा कि इस समय उन्हें बना बनाया भोजन देना विकल्प नहीं है. (फाइल फोटो)

बिहार के डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी ने कहा कि इस समय उन्हें बना बनाया भोजन देना विकल्प नहीं है. (फाइल फोटो)

बिहार सरकार (Government Of Bihar) के मुताबिक 27 लाख से ज्यादा लोगों ने आपदा अनुदान की राशि का आवेदन दिया है. ऐसे हालात में बिहार सरकार यह समझ रही है 27लाख से ज्यादा लोग बिहार से बाहर फंसे हुए हैं.

पटना. केंद्र सरकार (Guideline Of MHA) की तरफ से लॉकडाउन में अलग-अलग जगहों पर फंसे लोगों को वापस लाने के लिए हरी झंडी मिल गई है. लेकिन केंद्र के इस फैसले के बीच बिहार सरकार (Nitish Government) को इस बात की चिंता हो गई कि आखिर कैसे दूर-दराज के लोगों को वापस बुलाया जाए. मुंबई, गुजरात, हरियाणा तमाम जगहों से छात्र और प्रवासी मजदूरों (Migrant Labors) को किन साधनों से वापस बुलाया जाए? इसको लेकर बिहार सरकार ने अब केंद्र सरकार से नॉनस्टॉप ट्रेन चलाने की मांग की है.

लोगों को बस से लाना व्यवहारिक नहीं

बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा है कि बसों से छात्रों और प्रवासी मजदूरों को वापस बुलाना व्यावहारिक नहीं लगता है क्योंकि बस से छह से सात दिन का समय लग सकता है. यह व्यवहारिक नहीं जान पड़ता है इसलिए केंद्र सरकार ऐसी ट्रेन की व्यवस्था करे जो सीधे एक जगह से दूसरी जगह ही रुके और प्रवासी मजदूर और छात्र उससे वापस बिहार लौट जाएं. सुशील मोदी ने यह भी कहा कि ट्रेनों पर छात्रों के खाने-पीने की व्यवस्था हो ताकि उनकी यात्रा ठीक से हो जाए.

27 लाख से ज्यादा लोगों ने दिया आवेदन

बिहार सरकार के मुताबिक 27 लाख से ज्यादा लोगों ने आपदा अनुदान की राशि का आवेदन दिया है. ऐसे हालात में बिहार सरकार यह समझ रही है कि 27 लाख से ज्यादा लोग बिहार से बाहर फंसे हुए हैं और वो सभी वापस बिहार आना चाहते हैं. ऐसे में सुशील मोदी ने कहा कि इतने सारे लोगों के लिए बस चलाना संभव नहीं हो पाएगा. उनके लिए ट्रेनों की जरूरत पड़ेगी और यह ट्रेन नॉनस्टॉप एक जगह से दूसरी जगह जाएगी. बाकी जो लोग आसपास के राज्यों में फंसे हैं उनको बस से लाया जा सकता है.

दूर-दराज जगहों से आये है आवेदन

बिहार सरकार के मुताबिक दिल्ली से पांच लाख से ज्यादा लोगों ने, महाराष्ट्र से दो लाख 68 हजार लोगों ने, कर्नाटक से एक लाख से ज्यादा लोगों ने और गुजरात के सूरत से लेकर पोरबंदर तक के लोगों ने भी आपदा अनुदान राशि के लिए आवेदन दिया है.

ये भी पढ़ें- कोटा में फंसे बिहार के बच्चों को लाने के लिए पप्पू यादव ने भेजी 30 बसें

रेलपुल से गंगा नदी में गिरा UP से बिहार लौट रहा प्रवासी मजदूर, शव की तलाश जारी

Tags: Bihar Government, Bihar News, Migrant laborers, PATNA NEWS, Sushil kumar modi

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर