कोरोना की तीसरी लहर से कैसे लड़ेगा बिहार, स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने बताया पूरा प्लान

बिहार के स्वास्थ्य मंत्री ने कहा है कि कोरोना की तीसरी लहर से लड़ने के लिए बिहार पूरी तरह से तैयार है (फाइल फोटो)

Corona Third Wave: कोरोना के थर्ड वेब से लड़ने की तैयारियों के संबंध में बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने बताया कि सूबे के 1600 अस्पतालों के भवनों को नए तरीके से बनाया जाएगा और 135 नए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बनेंगे.

  • Share this:
पटना. कोरोना के संभावित तीसरी लहर (Corona Third Wave) को देखते हुए बिहार सरकार ने कमर कस ली है. स्वास्थ्य विभाग की तरफ से राज्य भर के सभी अस्पतालों के लिए आधुनिक उपकरण खरीदे जा रहे हैं. बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे (Minister Mangal Pandey) का दावा है कि अगले 10 दिनों में कोरोना के इलाज से संबंधित सभी उपकरणों को अस्पतालों में पहुंचा दिया जाएगा. बिहार में कोरोना की दूसरी लहर में सैकड़ों लोगों की जाने गईं हैं. आम लोगों के साथ-साथ सरकार को भी बुनियादी सुविधाओं पर सोचने को मजबूर कर दिया था, ऐसे में अब बारी है संभावित तीसरे लहर की और उससे बचने के उपायों की जिसके लिए सरकार ने अपनी तैयारी पूरी कर ली है.

मंगल पांडेय ने कहा कि इसके लिए बिहार सरकार ने व्यापक तैयारी की है. अगले 10 दिनों में मेडिकल कॉलेज से लेकर अतिरिक्त स्वास्थ्य केंद्रों तक ऑक्सीजन समेत अन्य उपकरण पहुंच जायेंगे. स्वास्थ्य विभाग ने जिले के हिसाब से जरूरतों की सूची और सामान जिलों को भेजना शुरू कर दिया है. स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय का कहना है कि बिहार करके दिखायेगा. कोरोना की संभावित तीसरी लहर को लेकर सरकार की तैयारी फिलहाल जारी है. सरकार ने तय किया है कि सभी मेडिकल कॉलेज से लेकर एपीएचसी तक संसाधन उपलब्ध कराया जाएगा, जिसके अंतर्गत बिहार में 119 ऑक्सीजन प्लांट लगाए जा रहे .

मेडिकल कॉलेज में क्रायोजनिक ऑक्सीजन टैंक लगाए जा रहे हैं. सदर अस्पताल में 40 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर, सभी अनुमंडल अस्पतालों में 25 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर 10 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर 5 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर और एपीएसई पर दो-दो कंसंट्रेटर की व्यवस्था की गई है. D टाइप सिलेंडर अनुमंडल अस्पताल में 25 ,जिला अस्पताल में 60 ,और B टाइप सिलेंडर सभी PHC में 10, CHC में 20 उपलब्ध होगा .सभी सदर अस्पतालों में 10 बाइपैक मसीन और अनुमंडल अस्पतालों में 5 बाईपैक मशीन लगाए जाएंगे .

कोरोना की दूसरी लहर पहली से ज्यादा खतरनाक रही और तीसरी लहर को लेकर चर्चाओं का दौर चल रहा है. इसमें कहा जा रहा है कि बच्चों पर ज्यादा असर होगा. इसको देखते हुये सरकार ने मेडिकल सामान अस्पतालों में पहुंचाने साथ साथ आधारभूत संरचनाओं को बेहतर करने के लिए 1600 अस्पतालों के भवनों को नए तरीके से बनाये जाने और 135 नए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बनाने की प्रक्रिया शुरू कर दी हैै .

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.