Home /News /bihar /

बिहार के किसानों की फसल क्षति लिए 578 करोड़ रुपए स्वीकृत, 11 मई तक कर सकते हैं आवेदन

बिहार के किसानों की फसल क्षति लिए 578 करोड़ रुपए स्वीकृत, 11 मई तक कर सकते हैं आवेदन

बिहार के डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी की फाइल फोटो

बिहार के डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी की फाइल फोटो

बिहार के उपमख्यमंत्री सुशील मोदी (Sushil Kumar Modi) ने जानकारी देते हुए कहा कि 4-6 मार्च और 13-15 मार्च को असामयिक वर्षा, ओलावृष्टि की रिपोर्ट संबंधित जिलों के डीएम से मिली है.

पटना. एक ओर जहां बिहार सरकार वैश्विक महामारी कोरोना (Coronavirus) के संक्रमण को रोकने के लिए जारी लाॅकडाउन (Lockdown) के दौरान गरीबों के राहत पैकेज पर 5 हजार करोड़ से ज्यादा खर्च कर रही है तो वहीं दूसरी ओर फरवरी और मार्च महीने में असामयिक वर्षा, ओलावृष्टि, आंधी जैसी प्राकृतिक आपदा से प्रभावित किसानों को राहत देने के लिए 578.42 करोड़ रुपए की स्वीकृति भी दी गई है. लाॅकडाउन के कारण मार्च महीने में हुई फसल क्षति का आवेदन देने से वंचितों के लिए ऑनलाइन आवेदन की तिथि 04-11 मई तक बढ़ा दी गई है. अप्रैल महीने में हुई क्षति की जिलाधिकारियों से रिपोर्ट मिलने के उपरांत अनुदान देने का सरकार शीघ्र निर्णय लेने वाली है

मई में आवेदन कर सकते है किसान

बिहार के उपमख्यमंत्री सुशील मोदी ने जानकारी देते हुए कहा कि 4-6 मार्च और 13-15 मार्च को राज्य के 23 जिलों के 196 प्रखंडों में असामयिक वर्षा, ओलावृष्टि और आंधी से 3,84,016.71 हेक्टेयर में लगी फसल की क्षति की रिपोर्ट जिला पदाधिकारियों से मिली है. स्वीकृत 1,13,017 आवेदकों को कृषि इनपुट अनुदान देने के लिए सरकार राशि भेज रही है. जो किसान 18 अप्रैल तक आवेदन नहीं दे सके थे, वे 04 से 11 मई के बीच आवेदन कर सकते हैं. उनके लिए आवेदन की तिथि बढ़ा दी गई है.

फरवरी में हुए ओलापात के लिए भी राशि निर्गत

इसी प्रकार 23 से 26 फरवरी के बीच राज्य के 11 जिलों में असमय वर्षा, ओलापात से 31929.35 हे. में लगी फसलों की क्षति की प्रतिपूर्ति के लिए भी 60 करोड़ रुपए की स्वीकृति दी गई है.

अप्रैल महीने में हुए नुकसान का बाद में होगा निर्णय

अप्रैल महीने में अलग-अलग तिथियों में विभिन्न जिलों में हुई वर्षा, ओलापात से फसलों की क्षति की रिपोर्ट के आलोक में कृषि इनपुट अनुदान देने पर सरकार शीघ्र निर्णय करने वाली है.

दो हेक्टेयर में हुए नुकसान के लिए दी जाती है राशि

बिहार सरकार आपदा को लेकर 33 प्रतिशत से अधिक फसल नुकसान होने की स्थिति में प्रति हेक्टेयर असिंचित क्षेत्र के लिए 6,800 रुपए और सिंचित क्षेत्र के लिए 13,500 रुपए का कृषि इनपुट अनुदान अधिकतम दो हेक्टेयर के लिए राशि देती है.

ये भी पढ़ें- लॉकडाउन के दौरान नवादा में नाबालिग से गैंगरेप, पुलिस ने दर्ज किया FIR

ये भी पढ़ें- CRIME in Motihari : छिनतई का माल निबटाते थे ऑनलाइन, ग्राहक बनकर पुलिस ने दबोचा

Tags: Bihar News, Heavy Storms, PATNA NEWS, Sushil kumar modi

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर