पटना में बन रहे डाॅल्फिन रिसर्च सेंटर की स्थापना के लिए बिहार सरकार ने केंद्र से मांगी मदद
Patna News in Hindi

पटना में बन रहे डाॅल्फिन रिसर्च सेंटर की स्थापना के लिए बिहार सरकार ने केंद्र से मांगी मदद
डॉल्फिन रिसर्च सेंटर

Dolphin Research Center: पटना में बन रहे इस रिसर्च सेंटर में डॉल्फिन संरक्षण को लेकर कई तरह के प्रोजेक्ट्स पर काम होंगे. भारत में डाॅल्फिन की आधी आबादी (1,464) बिहार में है.

  • Share this:
पटना. बिहार सरकार ने पटना विश्वविद्यालय परिसर (PU Campus) में स्थापित होने जा रहे  ‘डाॅल्फिन रिसर्च सेंटर’ के लिए केन्द्र से मदद मांगी है. केन्द्रीय पर्यावरण और जलवायु परिवर्तन मंत्री प्रकाश जावेडकर (Prakash Javdekar) के साथ हुई बातचीत सह बैठक में बिहार सरकार ने ये मांग की. देश भर के पर्यावरण मंत्रियों की हुई वर्चुअल बैठक में बिहार सरकार ने बताया कि राज्य सरकार द्वारा बिहार के तीन शहरों भागलपुर, गोपालगंज और गया में नगर वन (City Forest) विकसित किए जाएंगे, इसके साथ ही गंगा (Ganga River) सहित पांच नदियों के किनारे पौधारोपण और प्रत्येक जिले के 4-5 चयनित स्कूलों में ‘स्कूल नर्सरी’ खोले जाएंगे.

15 अगस्त को PM ने की थी घोषणा

15 अगस्त को लालकिले की प्राचीर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने अपने भाषण में ‘प्रोजेक्ट डाॅल्फिन’ (Dolphin Project) प्रारंभ करने की घोषणा की है. चूंकि बिहार सरकार की पहल पर ही 5 अक्टूबर, 2009 को भारत सरकार द्वारा डाॅल्फिन को ‘नेशनल एक्युटिक एनिमल’ घोषित किया गया था और पूरे देश की डाॅल्फिन की आधी आबादी (1,464) बिहार में है, इसलिए डाॅल्फिन शोध संस्थान के लिए बिहार को केन्द्र सरकार से मदद की अपेक्षा है



तीन शहरों में बनेगा सिटी फ़ॉरेस्ट
भारत सरकार की योजना के तहत बिहार में तीन जगहों भागलपुर के जयप्रकाश उद्यान (10 हेक्टेयर), गोपालगंज के थावे (12.28 हेक्टेयर) और गया के ब्रह्मयोनि पहाड़ (50 हेक्टेयर) में नगर वन विकसित किए जाएंगे. केन्द्र सरकार ने प्रत्येक नगर वन के लिए 2-2 करोड़ रुपए का प्रावधान किया है.

पांच नदियों के किनारे होगा प्लांटेशन

प्रदूषण से प्रभावित गंगा सहित पांच नदियों सिरसिया (मोतिहारी), परमार (अररिया), पुनपुन (पटना), रामरेखा (बेतिया) व सिकरहना (बेतिया) के किनारे पौधारोपण किया जाएगा. गंगा के किनारे पिछले तीन वर्षों में 7.63 लाख पौधे लगाए गए हैं.  2020-21 में 3.17 लाख पौधारोपण किया जाना है. भारत सरकार की अगले पांच वर्षों (2020-21 से 2024-25) तक प्रति वर्ष देश के एक हजार स्कूलों में प्रति स्कूल एक हजार पौधे तैयार करने की योजना के अन्तर्गत बिहार के भी सभी जिलों के 4-5 विद्यालयों को चयन किया जा रहा है, जहां कक्षा छह से लेकर आठ के विद्यार्थियों को पौधा उगाने व पौधारोपण संबंधी ज्ञान को पाठ्येतर गतिविधि के तौर पर पढाया जायेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading