बिहार सरकार का बड़ा फैसला, बाढ़ प्रभावितों को मिलेगी 6 हजार की मदद, सर्वे के बाद अनुदान
Patna News in Hindi

बिहार सरकार का बड़ा फैसला, बाढ़ प्रभावितों को मिलेगी 6 हजार की मदद, सर्वे के बाद अनुदान
बाढ़ पीड़ितों के लिए बिहार सरकार ने बड़ा फैसला लिया है.

Bihar Flood Updates: वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग (Video Confrencing) के जरिए बाढ़ की स्थिति की समीक्षा उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी (Sushil Modi) ने की. उन्होंने कहा कि सरकार की ओर से सभी बाढ़ (Flood) प्रभावित परिवारों को छह-छह हजार रुपये की सहायता राशि दी जाएगी.

  • Share this:
पटना. बिहार (Bihar) के सीतामढ़ी, शिवहर और दरभंगा जिले के बाढ़ प्रभावित प्रखंडों के भाजपा अध्यक्षों और विधयकों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बाढ़ की स्थिति की समीक्षा उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी (Sushil Modi) ने की. उन्होंने कहा कि सरकार की ओर से सभी बाढ़ प्रभावित परिवारों को छह-छह हजार रुपये की सहायता राशि दी जाएगी, इसके लिए सूची बनाने का निर्देश दिया गया है. इसके साथ ही पानी कम होते ही कृषि विभाग फसल के नुकासन का सर्वेक्षण करेगा. नुकसान की भरपाई के लिए कृषि इनपुट अनुदान के साथ ही मृत मवेशियों और कच्चे मकानों की क्षति के लिए भी राशि दी जाएगी.

आंकलन करके दिया जाएगा अनुदान

बिहार सरकार के मुताबिक आंकलन के बाद यदि आवश्यकता होगी है तो वर्षा आधारित फसल क्षेत्र के लिए 6,800 रुपये और सुनिश्चित सिंचाई वाले क्षेत्रों के लिए 13,500 रुपये प्रति हेक्टेयर की दर से अधिकतम दो हेक्टेयर के लिए कृषि इनपुट अनुदान दिया जाएगा.



मवेशियों के मरने पर दिया जाएगा मुआवजा
इसके साथ ही बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में कच्चे मकानों के क्षतिग्रस्त होने पर 95,100 और झोपड़ी के लिए 4,100 रुपये दिए जाएंगे. गाय, भैंस, बैल जैसे बड़े मवेशी के मरने पर 30 हजार और भेड़, बकरी आदि के लिए 3 हजार रुपये देने का प्रावधान किया गया है.

बाढ़ क्षेत्र में राहत कार्य में तेजी

सरकार का कहना है कि बाढ़ पीड़ित क्षेत्रों में पर्याप्त मात्रा में सर्पदंश सहित अन्य दवाएं और पॉलीथिन शीट उपलब्ध कराए जा रहे हैं. इसका आवश्यकता अनुसार वितरण किया जा रहा है. राज्य सरकार के निर्देश पर दरभंगा सहित अन्य इलाकों में हेलीकाॅप्टर से फुड पैकेट का वितरण और बड़ी संख्या में सामुदायिक रसोई भी चलाए जा रहे हैं.

भाजपा नेताओं ने रखी समस्या

समीक्षा के दौरान प्रखंड अध्यक्षों और विधायकों ने बताया कि स्थानीय प्रशासन तत्पर है. मगर बाढ़ की वजह से फसलों के नुकसान के साथ धान के करीब 80 फीसद बिचड़े नष्ट हो गए हैं. सड़कों के क्षतिग्रस्त होने से अनेक क्षेत्रों में आवागमन बाधित हो गया है. भाजपा नेताओं ने और अधिक नावों की आवश्यकता पर जोर दिया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading