लाइव टीवी

हूबहू PM की आवाज निकालता है ये शख्स, अंदाज ऐसा कि लोग कहते हैं 'यंग मोदी'

Rajnish Kumar | News18 Bihar
Updated: November 26, 2019, 12:27 PM IST
हूबहू PM की आवाज निकालता है ये शख्स, अंदाज ऐसा कि लोग कहते हैं 'यंग मोदी'
पटना के लोगों से बात करता पीएम नरेंद्र मोदी का फैन ज्ञानरंजन

ज्ञानरंजन पीएम नरेंद्र मोदी का कोई नया फैन नहीं है बल्कि यह उस वक्त से मोदी का दीवाना है जब वो गुजरात के मुख्यमंत्री थे.

  • News18 Bihar
  • Last Updated: November 26, 2019, 12:27 PM IST
  • Share this:
पटना. अब तक तो आपने पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के कई दीवाने देखे होंगे लेकिन बिहार के गोपालगंज (Gopalganj) का ज्ञानरंजन इन दिनों पीएम प्रेम को लेकर चर्चा में है. 25 वर्षीय ज्ञानरंजन ना सिर्फ पीएम मोदी की मिमिक्री करता है बल्कि केंद्र सरकार (Central Government) के दूत का भी रोल निभा रहा है और लोगों को जागरूक कर रहा है. पीएम मोदी इस युवा के दिलो दिमाग पर इस कदर छा गए हैं कि मानो मोदी का मिशन इनका भी वास्तविक मिशन बन गया हो. वो जहां जाता वही भीड़ जुट जाती है और लोग भी इस युवा की ना सिर्फ मिमिक्री को गौर से सुनते हैं बल्कि इनसे कई तरह की जानकारियां भी लेते हैं.

इन जिलों में कर चुका है काम

ये सच है कि पीएम मोदी के लिए हर घर दस्तक देना मुमकिन नहीं है लेकिन मोदी की अनुपस्थिति में भी लोगों को ज्ञानरंजन मोदी की याद दिलाने में पीछे नहीं हट रहा है, और मानो मोदी जी का फर्ज अदा कर रहा है. बेगूसराय, मोतिहारी, गोपालगंज, वैशाली और अब पटना के स्लम बस्तियों में चौपाल लगाकर इन दिनों ये सरकारी योजनाओं की जानकारी दे रहा है. इसके सिर्फ जेहन में मोदी नहीं बल्कि इसके मिशन में मोदी और सपने में भी मोदी ही मोदी हैं जिसकी वजह से सुबह से शाम तक यह मोदी जी का नाम जपता है.

गुजरात के सीएम रहते ही बन गया था मोदी का फैन

ज्ञानरंजन पीएम नरेंद्र मोदी का कोई नया फैन नहीं है बल्कि यह उस वक्त से मोदी का दीवाना है जब वो गुजरात के मुख्यमंत्री थे. ज्ञानरंजन को तभी से इसे मोदी का अंदाज इतना भाया कि इसने मोदी के आवाज की कॉपी करना शुरू कर दी थी पर पीएम बनने के बाद इसे सिर्फ अंदाज नहीं बल्कि उनका काम भी इतना पसंद आया कि ये उनके मिशन को अपना मिशन बना लिया है. रोज शहर-शहर और गली-गली चौपाल लगाते चलता है और ना सिर्फ लोगों की समस्याएं सुनता है बल्कि योजनाएं धरातल पर उतारने का वादा भी करता है.

बीजेपी से नहीं है संबंध

ज्ञानरंजन ज्यादातर स्लम बस्तियों में जाता है ताकि हकीकत से रू-बरू हो सके और बिजली, पानी, शिक्षा, आवास तमाम चीजों पर बातचीत करता है. भले ही ही ज्ञानरंजन बीजेपी का कोई प्रचारक नहीं है लेकिन अब यह बिहार के बाद झारखंड चुनाव में भी गांव-गांव दस्तक देगा और लोगों को मोदी के किए काम को याद दिलाएगा. मोदी का यह दीवाना जहां भी जाता है वहां इसकी आवाज सुनते ही भीड़ इकट्ठा हो जाती है और बच्चे से लेकर बूढे तक,लड़कियां से लेकर महिलाएं इससे अपनी फरियाद सुनाने लगती है और यह आश्वासन देने से भी पीछे नहीं हटता.
Loading...

भाईयों-बहनों कहते ही थम जाते हैं लोग

कई बार सरकारी कर्मचारी समझ इसे लोगों के विरोध का भी सामना करना पड़ जाता है लेकिन यह उसी वक्त मोदी जी आवाज में भाईयों एवं बहनों कहकर चुटकियों में भीड़ को शान्त करा देता है और कहता है सौगंध मुझे इस मिट्टी की मैं देश नहीं मिटने दूंगा ,मैं देश नहीं मिटने दूंगा मैं देश नहीं झुकने दूंगा. मोदी सरकार की जितनी भी योजनाएं चल रही हैं चाहे स्वच्छता अभियान के तहत शौचालय, उज्जवला योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना तमाम योजनाओं पर लोगों से राय भी लेता है और उसे बताता है कि मोदी है तो मुमकिन है और हर यह कहता है कि सबकुछ मिलेगा बस आप जागरूक हो जाईए और मोदी पर विश्वास रखिए.

महज इंटर पास है ज्ञानरंजन

स्लम बस्ती की रहनेवाली रूक्मिणी देवी ,कैलाश बैठा ,पूजा समेत कई लोगों ने इसे गौर से सुना और इतने प्रभावित हुए कि मिनटों में हर किसी की नाराजगी इसके भाषण सुनते ही खत्म हो गई और मोदी-मोदी के नारे गूंजने लगे. ज्ञानरंजन इंटर पास करने के बाद ही मिशन मोदी में जुट गया है और अब झारखंड रवाना हो रहा है क्योंकि वहां चुनाव है और मोदी के मिशन को कामयाब बनाने का इसका जुनून है.

ये भी पढ़ें- बिहार के निगम और बोर्डों में करोड़ों का घोटाला ! किसी भी वक्त लटक सकता है ताला

ये भी पढ़ें- मुजफ्फरपुर: आधे घंटे के दौरान दो लोगों को मारी गोली, एक की मौत दूसरा गंभीर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 26, 2019, 12:20 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...