'लाशों के बीच मरीजों का इलाज', वायरल वीडियो को स्वास्थ्य मंत्री ने कहा- 'भ्रामक'
Patna News in Hindi

'लाशों के बीच मरीजों का इलाज', वायरल वीडियो को स्वास्थ्य मंत्री ने कहा- 'भ्रामक'
बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने वायरल वीडियो को भ्रामक बताया है. (फाइल फोटो)

वायरल वीडियो (Viral Video) में कहा जा रहा है कि ये बिहार के एकमात्र कोरोना डेडिकेटेड अस्पताल NMCH का हाल है, जिस ICU में मरीज हैं वहीं पिछले कई दिनों से लाशें पड़ी हुई हैं.

  • Share this:
पटना. बिहार के एक मात्र कोविड अस्पताल नालंदा मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल यानि NMCH  में कोरोना मरीज़ों की स्थिति को लेकर वायरल वीडियो पर स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय (Health Minister Mangal Pandey) ने सफाई देते हुए  कहा है कि यह बिल्कुल भ्रामक व गलत है. उन्होंने कहा कि अधीक्षक से मैंने साफ तौर पर पूछा है डेड बॉडी 2 दिनों तक रखी हुई थी. लेकिन उन्होंने कहा यह गलत समाचार है. स्वास्थ्य मंत्री ने अधीक्षक के हवाले कहा कि सब कुछ प्रॉपर तरीके से चल रहा है. इसी अस्पताल से सैकड़ों लोग स्वस्थ होकर गए हैं.

मंगल पांडेय ने बताई बॉडी डिस्पोजल की प्रक्रिया

मंगल पांडेय ने वायरल वीडियो के बारे में स्थिति स्पष्ट करते हुए कहा,  जहां तक किसी के दुखद मृत्यु और आगे के संस्कार की बात है उसके लिए प्रोटोकॉल बना हुआ है कि कोविड 19 पेशेंट की अंत्येष्टि किस तरह करनी है. एक प्रक्रिया है जब किसी की डेथ होती है तो जिला प्रशासन परिवार को सूचना देता है. उसके बाद उसकी बॉडी को मेडिकल तरीके से सैनिटाइज किया जाता है, फिर बॉडी को डिस्पोजल किया जाता है.



वायरल वीडियो में अस्पताल की लापरवाही पर सवाल
बता दें कि एक दिन पहले एक वी़डियो वायरल हो रहा था जिसमें ये कहा जा रहा था कि ये बिहार के एकमात्र कोरोना डेडिकेटेड अस्पताल NMCH का हाल है, जिस ICU में मरीज हैं वहीं पिछले कई दिनों से लाशें पड़ी हुई हैं. मरीजों को देखने के लिए न कोई डॉक्टर मौजूद है न कोई नर्स. मरीजों के परिजनों को भी कोई सुरक्षा किट नहीं दी गई है.

तेजस्वी यादव ने भी ट्वीट किया था वायरल वीडियो

इस वीडियो को नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने भी ट्वीट किया था और लिखा था, बिहार की भयावह स्थिति देखिए. कोरोना वार्ड में 2 दिन से मृत मरीज़ों के शव रखे हैं. स्वस्थ मरीज बगल वाले बेड पर लेटे हैं. कोई डॉक्टर, नर्स और कर्मी नहीं है। परिजन देखभाल कर रहे हैं. डॉक्टर, नर्स और वेंटिलेटर मुख्यमंत्री आवास भेज दिए गए है चूंकि वहां भी 60 कोरोना पॉज़िटिव केस है.

बहरहाल वायरल वीडियो में साफ दिख रहा था कि बिस्तर पर लाश पड़ी हुई दिख रही है, वीडियो बनाने वाला लगातार बोल रहा है कि दो दिनों से लाशें ऐसे ही रखी हैं. उस वार्ड में न तो कोई डॉक्टर नज़र आ रहा है न ही नर्स का अता-पता है. हालांकि मामले का सच क्या है ये अब भी सामने आना बाकी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading