Assembly Banner 2021

Bihar Weather Update: अप्रैल में ही मई-जून जैसे तेवर दिखा रही गर्मी, 40 डिग्री के करीब पहुंचा तापमान

बिहार में गर्मी ने अपना रंग दिखाना शुरू कर दिया है (सांकेतिक चित्र)

बिहार में गर्मी ने अपना रंग दिखाना शुरू कर दिया है (सांकेतिक चित्र)

Bihar Weather News: बिहार में गर्मी पड़ने के साथ ही लोगों को जल संकट की समस्या सताने लगी है. पटना के कई इलाकों में जलस्तर अभी से ही काफी नीचे जाने लगा है.

  • Share this:
पटना. बिहार की राजधानी पटना समेत अन्य जिलों में गर्मी (Heat Wave) के तेवर अभी से ही तल्‍ख हो गए हैं. अप्रैल में ही मई-जून जैसी गर्मी ने लोगों को परेशान कर दिया है. पटना का अधिकतम तापमान 38 डिग्री तक चला गया है. मौसम विभाग के जानकारों की मानें तो आने वाले एक सप्ताह में मौसम का मिजाज कुछ ऐसा ही रहेगा. बिहार में 16 अप्रैल तक अधिकतम तापमान 38 डिग्री के आसपास रहने की संभावना है, जबकि न्यूनतम तापमान 4 अप्रैल को 17-18 डिग्री रहा.

मौसम के इस मिजाज से पटना के लोगों में इस बात का डर है कि गर्मी बढ़ने से शहर में जल संकट की स्थिति न उत्पन्न हो जाए. हालांकि, इस बाबत नगर निगम ने कमर कस ली है. नगर निगम के अधिकारियों का कहना है कि गर्मी बढ़ने के बावजूद शहर के लोगों को पानी के लिए जूझना नहीं होगा, इसकी तैयारी कर ली गई है.

जलस्तर नीचे जाने से पानी की हो सकती है समस्या 
पटना के कई इलाकों में गर्मी के मौसम में पानी की कमी होने लगती है. इनमें मीठापुर, जक्कनपुर, पीरमुहानी, पटना सिटी समेत कई इलाके शामिल हैैं. इन जगहों का जलस्तर गर्मियों में काफी नीचे चला जाता है. नगर निगम के दावों के मुताबिक शहर में फिलहाल 117 पंप हैं. 99 पंपों से रोजाना 230 एमएलडी पानी की सप्लाई होती है. शहर में 264 एमएलडी पानी की सप्लाई की आवश्यकता है, यानी करीब 34 एमएलडी पानी की सप्लाई अभी ही कम है. ऐसे में आने वाले समय में क्या होगा इसका सहज अंदाजा लगाया जा सकता है.
नई कॉलोनियां बनीं चुनौती


नगर निगम के मौजूदा आंकड़ों के मुताबिक पानी की सप्लाई मांग के अनुसार नहीं हो रही है. शहर का विकास लगातार हो रहा है. नई कॉलोनियां बस रही हैं, ऐसे में नगर निगम के सामने कई चुनौतियां हैं. सालों से जर्जर पड़ी पाइपलाइन ठीक से काम नहीं कर रही हैं, उन्हें ठीक करना होगा. जर्जर पाइपलाइन के कारण हर दिन 25 प्रतिशत पानी की बर्बादी होती है.

शहर में है 1200 किमी पुरानी पाइपलाइन
पाइपलाइन के संबंध में नगर निगम के दावों की बात करें तो उसके मुताबिक पाइपलाइन विस्तार का काम जारी है. आबादी बढ़ने से लगभग 2000 किमी पाइपलाइन और बिछानी है. मौजूदा समय में शहर में 1200 किमी पुरानी पाइपलाइन है. पटना नगर निगम के आयुक्त हिमांशु शर्मा ने कहा कि विभाग पूरी कोशिश कर रहा है कि पटना के लोगों को पानी की किल्लत न हो.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज