Home /News /bihar /

बिहार के इन 5 शहरों में शुरू हो रही हेलीकॉप्टर सर्विस, प्लान में वाराणसी व कुशीनगर भी शामिल

बिहार के इन 5 शहरों में शुरू हो रही हेलीकॉप्टर सर्विस, प्लान में वाराणसी व कुशीनगर भी शामिल

बिहार के गया, वैशाली, राजगीर, पटना एवं बोधगया से हेलीकॉप्टर सेवा शुरू होगी.

बिहार के गया, वैशाली, राजगीर, पटना एवं बोधगया से हेलीकॉप्टर सेवा शुरू होगी.

Bihar Tourism: हेलीकॉप्टर सेवा से जुड़ने वाले पांच शहरों में से चार मुख्य रूप से बौद्ध और जैन धर्म से जुड़े पर्यटन स्थल हैं. पटना भी ऐतिहासिक शहर बनने के लिहाज से पर्यटन के लिए बहुत महत्वपूर्ण है. गया हवाई अड्डे को भी विस्तार दिया जाएगा. पर्यटन मंत्रालय की पहल पर एशियन डेवलपमेंट बैंक (एडीबी) इसमें आर्थिक व तकनीकी सहयोग करेगा. नेशनल हेलीकॉप्टर सेवा से बिहार के वैशाली, पटना, गया, राजगीर एवं बोधगया के साथ ही यूपी के वाराणसी और कुशीनगर को भी जोड़ा जाना है.

अधिक पढ़ें ...

पटना. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) अक्सर अपने संबोधनों में कहते हैं कि पर्यटन के विकास से रोजगार के अवसर बढ़ते हैं. इसको लेकर केंद्र सरकार विभिन्न स्तरों पर सक्रिय भी है. बिहार में भी टूरिज्म क्षेत्र में असीम संभावनाएं हैं. इसी क्रम में रामायण सर्किट व बौद्ध सर्किट (Ramayana Circuit and Buddhist Circuit) के लिए परिवहन सेवाओं का लगातार विस्तार किया जा रहा है. बिहार सरकार भी प्रदेश में पर्यटन का विकास को लेकर विभिन्न योजनाओं पर कार्य कर रही है. बिहार में पर्यटन की संभावना को देखते हुए बौद्ध सर्किट से जुड़े स्थलों तक देश-विदेश के पर्यटकों के पहुंचने की सुविधा के मद्देनजर इन्हें हवाई मार्ग से भी जोड़ा जाएगा. बौद्ध सर्किट से जुड़े तमाम शहरों तक विदेशी पर्यटकों को आसानी से पहुंचाने के लिए यह हेलीकॉप्टर सेवा शुरू की जा रही है.

उड़ान सेवा के तहत वैशाली को हेलीकाप्टर सेवा से जोडऩे की प्रक्रिया शुरू हो गई है. वहीं गया हवाई अड्डे को भी विस्तार दिया जाएगा. पर्यटन मंत्रालय की पहल पर एशियन डेवलपमेंट बैंक (एडीबी) इसमें आर्थिक व तकनीकी सहयोग करेगा. नेशनल हेलीकाप्टर सेवा से बिहार के वैशाली, पटना, गया, राजगीर एवं बोधगया के साथ ही यूपी के वाराणसी और कुशीनगर को भी जोड़ा जाना है.

एडीबी के सुझाव एवं उसकी कार्ययोजना को देखते हुए राज्य सरकार के कई विभागों, एजेंसियों एवं संबंधित जिलों के जिलाधिकारी के साथ 13 जनवरी को विकास आयुक्त विमर्श कर चुके हैं. यह बिहार सरकार के रिवाइवल आफ इंडिया एज ए ग्लोबल सेंटर आफ बुद्धिस्ट कल्चर एंड टूरिज्म एजेंडे का भाग है. एक और बैठक के बाद केंद्र सरकार को प्रस्ताव भेजा जाएगा.

एडीबी के इंडिया डायरेक्टर ने मुख्य सचिव से बैठक आयोजित करने का आग्रह किया है. बैठक में वैशाली, पटना, गया और नालंदा जिलों के अतिरिक्त मुजफ्फरपुर, पूर्वी चंपारण, पश्चिम चंपारण एवं भागलपुर के डीएम शामिल किए जाएंगे. वैशाली के डीएम ने बताया कि वैशाली के बौद्ध सर्किट में शामिल रहने से यहां नेशनल लेवल के हेलीपैड एवं अन्य निर्माण पर चर्चा हुई है.

यहां यह बता दें कि भगवान बुद्ध की कर्मस्थली तथा उनके अस्थि अवशेष प्राप्ति स्थल वैशाली में करीब 550 करोड़ की लागत से राष्ट्रीय बुद्ध सम्यक दर्शन संग्रहालय का निर्माण हो रहा है. इसके लिए जिला प्रशासन ने 72 एकड़ भूमि का अधिग्रहण किया है. राष्ट्रीय स्तर के निर्माणाधीन संग्रहालय में भगवान बुद्ध का अस्थि कलश आम श्रद्धालुओं के दर्शनार्थ रखा जाएगा. इसके साथ ही उनसे जुड़ी अनेक प्राचीनतम वस्तुएं भी रखी जाएंगी. आडिटोरियम और ध्यान केंद्र के साथ ही समृद्ध संग्रहालय में पुरातात्विक उत्खनन से प्राप्त वस्तुओं को भी प्रदर्शित किए जाने की योजना है.

Tags: Bihar latest news, Buddhist Circuit, Gaya news, Helicopter, Nalanda hindi news, Patna News Update, Prime Minister Narendra Modi, Religious Circuit, Tourism, Udaan scheme to connect new cities in UP, Udan, Vaishali news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर