Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    बिहार: लाठीधारी होमगार्ड जवान को थमाई राइफल तो लोड करने में फंस गई गोली, अचानक दबी ट्रिगर, और...

    (प्रतीकात्मक तस्वीर)
    (प्रतीकात्मक तस्वीर)

    इस मामले में पटना के बुद्धा काॅलाेनी थाना (Buddha Colony Police Station) में केस दर्ज किया गया है और पुलिस हथियार लेकर थाना चली गई.

    • Share this:
    पटना. बुद्धा काॅलाेनी थाना स्थित न्यू पुलिस लाइन (Police line) में राइफल में फंसी गाेली निकालने के दाैरान ट्रिगर दब गयी जिससे वहां पर माैजूद हाेमगार्ड के जवान अघानु ऋषिदेव घायल हाे गए. शुक्रवार काे सुबह हुई इस घटना में अररिया जिले के सेमरहां थाना क्षेत्र के झेरवां गांव के रहने वाले 50 साल के अघानु का दाेनाें पैर जख्मी हाे गया. हालांकि मामला शनिवार की देर शाम को उजागर हुआ. मिली जानकारी के अनुसार आनान-फानन में उसे पीएमसीएच (PMCH) ले जाया गया जहां आईसीयू में इलाज चल रहा है और अब खतरे से बाहर है.

    राइफल में फंस गई गोली

    घटना के बारे में जो जानकारी मिली है उसके अनुसार शुक्रवार काे छठ की ड्यूटी के लिए पुलिस लाइन में हाेमगार्ड जवान की ड्यूटी लगाई जा रही थी. ड्यूटी के लिए इन्हें रायफल व मैग्जीन दिया जा रहा था. अघानु काे जब रायफल मिली ताे उन्हाेंने कुछ समझे-बूझे गाेली लोड कर दी. इसके बाद वह गोली निकालना चाह रहे थे पर गोली चैंबर में फंस गई. इस बीच उनके साथी होमगार्ड विनोद साव ने उनके हाथ से राइफल ले लिया और गोली निकालने लगे, लेकिन उनसे भी गोली नहीं निकल रही थी.



    बताया जा रहा है कि जब काफी देर तक मशक्कत के बाद भी दोनों से गोली नहीं निकली तो फिर तीसरे होमगार्ड जवान ने राइफल ले लिया. गोली निकालने के दौरान उनसे ट्रिगर दब गयी और गोली चल गई. यह गोली अघानु के पैर के एड़ी के पास लगी और गाेली निकलते हुए दूसरे पैर की एड़ी में लग गई. बता दें कि अघानु समेत तीन जवान कटिहार से छठ की ड्यूटी में पटना आए थे.
    बंदूक वापस लेकर लाठी थमा दी गई लाठी

    बताया जा रहा है किगाेली चलने से अघानु के घायल हाेने के बाद जिन 50 जवानाें काे राइफल और बंदूक ड्यूटी के लिए दी गई थी जो सबाें से वापस ले ली गई है. दरअसल पुलिस लाइन के अधिकारियाें काे लगा कि कहीं छठ घाट पर भीड़-भाड़ में कुछ इसी तरह की घटना इनमें से किसी जवान ने कर दी ताे बड़ा हादसा हाे सकता है.  इसकी आशंका काे देखते हुए सबाें से रायफल और बंदूक वापस ले लिया और उन्हें लाठी व डंडा देकर ड्यूटी के लिए भेज दिया गया.

    जिस हाेम गार्ड से गाेली चली वह हाे गया फरार

    मिली जानकारी के अनुसार जिस होमगार्ड गाेली निकालने के दाैरान ट्रिगर दबने से गाेली चली और अघानु घायल हाे गया, वह जवान माैके से फरार हाे गया. वह खुद भागा या भगा दिया गया, यह ताे जांच के बाद पता चलेगा. इस मामले में विनोद साव का बयान दर्ज किया गया है जबकि अघानु का बयान दर्ज नहीं हाे सका है. इस मामले में बुद्धा काॅलाेनी में केस दर्ज किया गया है और बुद्धा काॅलाेनी थाना की पुलिस हथियार लेकर थाना चली गई. चाैंकाने वाली बात यह है कि घटना शुक्रवार काे हुई पर बुद्धा काॅलाेनी थाना की पुलिस काे सूचना शनिवार काे दी गई.  बुद्धा काॅलाेनी थानेदार रविशंकर सिंह ने कहा कि शनिवार काे सूचना मिली थी.

    जवान के पैर के आर-पार हो गई गोली

    पुलिस लाइन के प्रभारी सार्जेंट मेजर मुकेश कुमार ने बताया कि छठ में व्यस्त रहने की वजह से स्थानीय थाने काे सूचना नहीं दी जा सकी. उनका दावा है कि राइफल साफ करने के दाैरान गाेली चली.  दाेनाें पैर जख्मी है.  बहुत देर बाद डॉक्टर को दोनों पैर में गोली लगने का पता चली. अघानु को जब इलाज के लिए पीएमसीएच ले जाया गया तो गोली जिस पैर में फंसी थी उसका इलाज शुरू हाे गया. काफी देर बाद जब दूसरे पैर से खून निकला तो डाॅक्टराें काे पता चला कि पहले एक पैर में  में गोली लगी थी और पार होकर दूसरे पैर में लगी.  फिर दाेनाें पैर का इलाज शुरू हुआ.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज