'रीयल धोनी' के आगे कैसे कमजोर ठहरे 'रील लाइफ धोनी', 5 प्वाइंट्स में जानें क्या कहते हैं विशेषज्ञ
Patna News in Hindi

'रीयल धोनी' के आगे कैसे कमजोर ठहरे 'रील लाइफ धोनी', 5 प्वाइंट्स में जानें क्या कहते हैं विशेषज्ञ
महेंद्र सिंह धोनी और सुशांत सिंह राजपूत के व्यक्तित्व अलग-अलग कैसे?

आखिर रील लाइफ का धोनी रीयल लाइफ के धोनी के आगे किन कारणों से कमजोर पड़ गया? पटना की जानी-मानी मनोचिकित्सक (Psychiatric) डॉ. बिंदा सिंह ने इन कारणों को बड़े ही स्पष्ट तरीके से समझाया है.

  • Share this:
पटना. भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) पर बनी फिल्म  'एमएस धोनी- द अनटोल्ड स्टोरी' (MS Dhoni - The Untold Story)  में लीड रोल निभाकर सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) ) देशभर में लोकप्रिय हो गए थे. ये फिल्म काफी हिट रही थी और तब इसने 220 करोड़ की कमाई की थी. इस फिल्म में सुशांत सिंह को एमएस धोनी के कैरेक्टर को अपने भीतर उतारने के लिए कड़ी मेहनत करनी पड़ी थी. धोनी की आदतों मसलन, खाना-पीना, चाल जैसी तमाम बातों के बारे उन्होंने बड़ी बारीकी से समझा था. तभी वह रीयल धोनी जैसे ही पर्दे पर दिखे और हिट हो गए.

मगर अफसोस बड़े पर्दे पर यानी रील लाइफ में ब्लू जर्सी में एमएस धोनी जैसा चौका-छक्का मारने वाला सुशांत 'रीयल धोनी' जैसा नहीं निकला. रील लाइफ के धोनी ने जीवन की परेशानियों से संघर्ष करने के बजाय खुद को ही खत्म कर डाला, जबकि रीयल धोनी यानी महेंद्र सिंह धोनी को कभी भी संघर्ष से मुंह मोड़ते हुए नहीं देखा गया. जाहिर है ऐसे में सवाल उठता है कि आखिर रील लाइफ का धोनी, रीयल लाइफ के धोनी के आगे किन कारणों से कमजोर पड़ गया. बिहार की जानी मानी मनोचिकित्सक (Psychiatric) डॉ. बिंदा सिंह ने इन कारणों को बड़े ही स्पष्ट तरीके से समझाया है.

1- अंत-अंत तक संघर्ष का जज्बा
रीयल धोनी अपने कर्म से जुझारू तो हैं ही, उनके एक्सप्रेशन में भी वह दिखता है. सुशांत और धोनी, दोनों में बेसिक अंतर यही था. आप रीयल धोनी को वॉच कीजिए तो पाएंगे कि वे विरोधियों को कभी भी अपने ऊपर हावी नहीं होने देते हैं. अंत-अंत तक संघर्ष का जज्बा रखते हैं. भारत और पाकिस्तान के बीच वर्ष 2007 के T-20 वर्ल्ड कप का वह क्षण सबको याद है. एक वक्त ऐसा लग रहा था कि अब भारत की हार तय है, तो धोनी ने योगेंद्र शर्मा को अंतिम ओवर करने को कहा और नतीजा रहा है कि वर्ल्ड कप भारत के नाम हो गया.
2- हमेशा फोकस्ड रहते हैं रीयल धोनी


बहुत से लोग अपने काम पर ही फोकस करते हैं न कि इधर-उधर की बातों पर. रीयल धोनी ऐसे ही हैं और उसका असर अपने पर नहीं होने देते. धोनी के क्रिकेट जीवन के दौरान कई महिलाओं से उनका नाम जोड़ा गया, लेकिन रीयल धोनी ने ऐसी बातों को अपने ऊपर हावी नहीं होने दिया और आज भी वे देश के रीयल हीरो कहे जाते हैं. वहीं, सुशांत ने बाहरी बातों को अपने पर हावी होने दिया. चाहे वह गर्लफ्रेंड से दूरी का मामला हो या फिर सेक्रेटरी की आत्महत्या.

3- धोनी में रियलिटी को फेस करने का जज्बा
धोनी में काफी स्थिरता है, इसलिए ही वह 'कैप्टन कूल' कहे जाते हैं. हार होने के पर भी वह अगली लड़ाई के लिए तैयार खड़े दिखते हैं और बीती बातें याद को दिल से नहीं लगाते. जमीन से उठे हुए हैं. रियलिटी को फेस करने वाला व्यक्ति स्ट्रॉन्ग होता है. यही वजह रही थी कि जब भारतीय टीम ऑस्ट्रेलिया में अच्छा प्रदर्शन नहीं कर रही थी तो धोनी ने 2014 ऑस्ट्रेलियाई दौरे पर टेस्ट से कप्तानी छोड़ दी थी. इसके बाद विराट कोहली को नेतृत्व सौंपा गया था. यानी धोनी ने रियलिटी को समझ लिया और तत्काल फैसला लिया.

4- ...जो बीत गई सो बात गई
'एमएस धोनी- द अनटोल्ड स्टोरी' (MS Dhoni - The Untold Story)  फिल्म में दिखाया गया है महेंद्र सिंह धोनी की एक गर्लफ्रेंड का एक्सीडेंट होता है और उसकी मौत हो जाती है. इसके बावजूद वे खुद को कंट्रोल करते हैं. जाहिर है ऐसी विपत्तियों से घबराकर उन्होंने जीवन नहीं छोड़ दिया. यहां फिर वह दूसरी लड़की को पसंद करते हैं और जीवन को आगे बढ़ाते हैं. हर आदमी अलग होता है. स्ट्रगल करने वाले लोग परेशानियों को पीछे छोड़ते हुए आगे बढ़ जाते हैं.

5- दोनों के व्यक्तित्व का अलग होना
हर आदमी की पर्सनैलिटी अलग-अलग होती है. एक वो होती है जो इमोशन को कंट्रोल कर लेते हैं. रीयल धोनी ऐसे ही हैं. मैदान पर भी आप कभी देखे होंगे तो रीयल धोनी कभी इमोशन नहीं दिखाते. वे छक्का मारते थे तो भी बहुत खुशी नहीं दिखाते थे और आउट होने पर भी कोई फ्रस्टेशन उनके चेहरे पर नहीं दिखता था. वे ये जानते थे कि ये खेल है और इसमें ऐसा होना ही है. जाहिर है ये उनके रीयल लीडर होने की बात को जाहिर भी करते हैं. जबकि रील लाइफ के धोनी ऐसा नहीं कर पाए.

 

ये भी पढ़ें

'हर गेंद पर छक्का मारना चाहते थे सुशांत, स्कूल के दिनों से थे क्रिकेट के शौकीन

सुशांत की मौत से टूट गए भाई, बोले- शुरू होने से पहले ही खत्म हो गई उसकी जिंदगी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज