बिहार: पत्नी कह रही 'सात जन्मों का नाता', पति बता रहा 'जबरिया शादी'! पुलिस से भी नहीं सुलझ पाया मामला

जबरन शादी का आरोप लगा दानापुर में दूल्हे ने दुल्हन को छोड़ा.

जबरन शादी का आरोप लगा दानापुर में दूल्हे ने दुल्हन को छोड़ा.

Bihar News: लड़का पक्ष के अनुसार लड़की पक्ष के लोगों पर ही आरोप लगा दिया कि हथियार के बल पर शादी करायी गयी इसलिए मजबूरन आराम से सिंदूर लगा दी. इस शादी का वीडियो भी बनाया गया, लेकिन उसमे हथियार लिए लोगों का वीडियो नहीं आया.

  • Share this:

पटना. कहते हैं शादी सात जन्मों का नाता होता है, लेकिन दानापुर के परसाबाजर थाना में एक ऐसा मामला सामने आया है जिसमें विवाह के बाद ही दूल्हा अपनी पत्नी को साथ रखने से इनकार कर रहा है और परिजन परेशान हो रहे हैं. पत्नी सात जन्मों का साथ निभाने का वादा कर रही है पर पति एक दिन भी साथ रहने को तैयार नहीं हो रहा है. लड़का जबरिया (जबरदस्ती) शादी का आरोप लगा रहा है और अब वह युवती को किसी भी हाल में रखना नहीं चाहता है. जबकि युवती के भाई और मां उसे हर हाल उसके ससुराल में बसाना चाहते हैं.

मामला दानापुर के फुलवारीशरीफ प्रखंड के सकरैचा गांव का है जहां के रहनेवाले संजय साव के बेटा चुनचुन साव की शादी पास गांव तारनपुर की रहनेवाली युवती के साथ तब करवाई गई जब युवक गांव के एक शादी समारोह में आया हुआ था. बताया जा रहा है कि इसी दौरान वह एक युवती से मिलने पहुंच गया. फिर क्या था ग्रामीणों ने उसे पकड़ा और फिर गांव के मंदिर में ही शादी करा दी. पर हद तब हो गई जब शादी के अहले सुबह ही दूल्हा चकमा देकर गांव से फरार हो गया.

दुल्हन पक्ष का कहना है सबकुछ देकर शादी किया गया लेकिन क महीने के अन्दर ही ससुराल के लोग भगा दिये हैं. गांव के लोगों के मुताविक गांव में एक शादी समारोह में आया तो रात में लड़की से मिलने पहुंच गया. गांव के लोगों ने  पकड़ लिया. जब लड़के से पूछा गया तो वह अपनी मर्जी से शादी करने को तैयार हो गया. फिर गांव के मंदिर में शादी करा दी गई. लेकिन, लड़का छोड़कर भाग गया.  जब एक महीना हो गया तो लड़की को उसके ससुराल पहुंचा दिया गया, पर उसे ससुरालवाले और लड़का रखाने को तैयार नहीं हुआ.

तब मामला जानीपुर पुलिस को बताया गया. पुलिस ने भी इस मामले को गंभीरता से नहीं लिया और ना ही कोई कार्रवाई की गई. यही नहीं इस मामले को लेकर जानीपुर परसा बाजार और गौरीचक में भी गुहार लगा चुके हैं, लेकिन कहीं सुनवाई नहीं हो रही है. वहीं, दूल्हा चुनचुन से जब पूछा गया कि आखिर लड़की को रखने से इनकार क्यों कर रहा है तो उसने  बताया कि उसकी जबरन शादी करवाई गई है इसलिए लड़की को नहीं रखेंगे.
लड़के का आरोप है कि लड़की की पहले से भी कुरथौल में शादी करवाई गई थी. उसने लड़की पक्ष के लोगों पर ही आरोप लगा दिया कि हथियार के बल पर शादी करायी गयी इसलिए मजबूरन आराम से सिंदूर लगा दी. इस शादी का वीडियो भी बनाया गया, लेकिन उसमे हथियार लिए लोगों का वीडियो नहीं आया. चुनचुन अब जबरदस्ती की शादी मानते हुए किसी भी सूरत में दुल्हन रखने को तैयार नहीं है. बहरहाल दुल्हन की शादी तो हुई, लेकिन अब दूल्हा के नहीं रखे जाने के बाद पारिजन और युवती अब सदमे में हैं. आरोप यह भी कि पुलिस भी मदद नहीं कर रही है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज