श्मशान घाटों पर हो रही थी अवैध वसूली, News 18 की खबर के बाद पटना डीएम ने दिए जांच के आदेश

पटना के बांस घाट पर अवैध वसूली का खेल. (सांकेतिक तस्वीर)

पटना के बांस घाट पर अवैध वसूली का खेल. (सांकेतिक तस्वीर)

Patna News: बांसघाट पर विद्युत शवदाह गृह में दो मशीनें लगी हुई हैं पर इसकी जिम्मेदारी संभाल रहे लोगों ने एक मशीन को जान बूझकर बंद कर दिया है. जब भीड़ बढ़ जाती है तो पैसे का खेल शुरू होता है.

  • Share this:
पटना. बिहार की राजधानी पटना के विभिन्न श्मशान घाटों पर चिता की आग ठंडी नहीं हो पा रही है. शव जलाने के लिए मृतकों के परिजनों को घंटों इंतजार करना पड़ रहा है. वहीं, इस कठिन समय में भी कुछ लोग (माफिया) शवों के अंतिम संस्कार में भी अवैध वसूली कर रहे हैं. ऐसा ही एक मामला मामला न्यूज़ 18 ने पटना के बांस घाट का उजागर किया जिसका बड़ा असर हुआ है. पटना के डीएम चंद्रशेखर सिंह ने शव के अंतिम संस्कार में अवैध वसूली मामले में जांच का आदेश दिया है.. डीएम ने मामले को गम्भीर बताते हुए तीन सदस्यीय जांच कमिटी का भी गठन किया है.

डीएम ने सुधीर कुमार, नगर दंडाधिकारी,प्रतिभा कुमारी, कार्यपालक पदाधिकारी और सुशील वर्मा, पणन पदाधिकारी को जांच कर 24 घंटे के भीतररिपोर्ट सौंपने का आदेश दिया है. साथ ही स्थलीय जांच कर सभी घाटों की दीवारों पर दाह संस्कार का दर लिखने का आदेश दिया है.

यह है पूरा मामला

दर एक तरफ जहां कोरोना के बढ़े मामलो ने लोगों की परेशानियां बढ़ा दीं हैं वहीं मृतकों की संख्या बढ़ने के साथ ही श्मशान घाटों पर भी अंतिम संस्कार के लिए लोगों की भीड़ बढ़ गई है. आलम यह है कि पटना के बांसघाट पर दिनभर लोग अपने परिजनों के शव जलाने को लाइन में  खड़े रह रहे हैं. वहीं यहां पर अवैध वसूली का भी खेल चल रहा है.
हर दिन लाए जा रहे 30-40 शव

कोरोना का मामला बढ़ने के बाद पटना के बांस घाट पर हर दिन लगभग 30 से 40 शव लाए जा रहे हैं. यहां लोगों के लिए सबसे बड़ी समस्या यहां फैली अव्यवस्था है. अपने परिजनों के शव को लेकर लोग सुबह से शाम तक भूखे प्यासे अपनी बारी का इंतजार कर रहे है साथ ही लोगो से अवैध पैसे की भी वसूली हो रही है जिसे बुधवार को न्यूज़ 18 ने उजागर किया था.

जिला प्रशासन ने तय कर रखा है रेट



जिला प्रशासन के नियमों के मुताबिक बांसघाट पर विद्युत शवदाह गृह में सामान्य मौत पर जलाने के लिए 300 रु शुल्क है जबकि कोरोना से मौत पर निःशुल्क किया जाता है. पर यहां बढ़ी भीड़ से व्यवस्था के नाम पर दलाल 16 हजार रुपये तक वसूल रहा है. न्यूज़ 18 ने इस पूरे मामले को उजागर करते हुए घंटों से अपने परिजनों के अंतिम संस्कार करने की बारी का इंतजार कर रहे लोग प्रशासन पर कुव्यवस्था का आरोप लगाते हैं.

न्यूज 18 की खबर का असर

बता दें कि बांसघाट पर विद्युत शवदाह गृह में दो मशीनें लगी हुई हैं पर इसकी जिम्मेदारी संभाल रहे लोगों ने एक मशीन को जान बूझकर बंद कर दिया है. जब भीड़ बढ़ जाती है तो पैसे का खेल शुरू होता है. न्यूज़ 18 ने जब  इस पूरे मामले को उजागर किया तो प्रशासन की नींद टूटी और डीएम ने पूरे मामले के जांच का आदेश दिया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज