बिहार से चलने वाली 22 ट्रेनों के लिए नहीं मिल रहे यात्री, अबतक सिर्फ 15% टिकट की बुकिंग
Patna News in Hindi

बिहार से चलने वाली 22 ट्रेनों के लिए नहीं मिल रहे यात्री, अबतक सिर्फ 15% टिकट की बुकिंग
झांसी में श्रमिक स्पेशल ट्रेन में एक मजदूर का शव मिला है

IRCTC Ticket Booking: पूर्व-मध्य रेलवे के सीपीआरओ राजेश कुमार का कहना है कि 4 लाख 62 हज़ार बर्थ मे अबतक सिर्फ़ 60 हज़ार के आस पास बर्थ की बुकिंग हो पाई है.

  • Share this:
पटना. भारतीय रेलवे (Indian Railway) 1 जून से देश भर में दो सौ यात्री ट्रेनों का परिचालन शुरू करने जा रहा है, जिसमें से 22 जोड़ी ट्रेनें बिहार से चलेंगी. इन ट्रेनों के लिए 22 मई से टिकटों का आरक्षण (Train Ticket Booking) भी शुरू हो चुका है, लेकिन कोरोना (Coronavirus) के डर के कारण इन ट्रेनों में अबतक पंद्रह प्रतिशत टिकट ही बुक हो पाए हैं. लोग कोरोना के डर से सफ़र करने से बच रहे हैं और इसका सीधा नुकसान रेलवे को हो रहा है.

22 ट्रेनों में सिर्फ़ 15 प्रतिशत टिकट बुकिंग

बिहार के बाहर से लाखों श्रमिक बिहार आ रहे हैं. श्रमिकों को बिहार लाने में ट्रेनें कम पड़ रही हैं, लेकिन श्रमिकों की तादाद ख़त्म नहीं हो रही. दूसरी तरफ़ 1 जून से शुरू हो रही यात्री ट्रेनों में टिकट के ख़रीदार नहीं मिल रहे हैं. दरअसल 1 जून से जो 22 ट्रेनें बिहार से चलने वाली हैं, लेकिन उसके टिकटों की बिक्री पर कोरोना का ग्रहण लगा हुआ है. रेलवे के अधिकारी का कहना है कि इन बाईस ट्रेनों में रेलवे 4 लाख 62 हज़ार बर्थ की बुकिंग कर रहा है, लेकिन अबतक सिर्फ़ 15 प्रतिशत बर्थ ही बुक हो पाई हैं. रेलवे के सीपीआरओ राजेश कुमार का कहना है कि 4 लाख 62 हज़ार बर्थ मे अबतक सिर्फ़ 60 हज़ार के आसपास बर्थ की बुकिंग हो पाई है.



टिकट कटाने वालों से अधिक रीफंड लेने वालों की है भीड़



रेलवे के अधिकारी के बयान से ये साफ़ ज़ाहिर है की लोग कोरोना के डर से बहुत ज़रूरत परने पर हीं यात्रा कर रहे है. इसकी तस्वीर रेलवे रिज़र्वेशन काउंटरों पर भी दिख रही है जहां टिकट कटाने वालों की संख्या ना के बराबर है और टिकट केंसिल कराने वालों की भरमार है. ऐसे हीं कुछ लोगों से हमारी टीम ने बात की तो उन लोगों का कहना था कि हमलोगों ने बच्चों की गर्मी की छुट्टी को देखते हुए बाहर घूमने का टिकट लिया था लेकिन अब कोरोना के चलते बाहर जाना मुमकिन नहीं है इस वजह से हम टिकट का रीफ़ंड लेने आए हैं.

रेलवे को नुक़सान की आशंका

जिस हिसाब से इन 22 ट्रेनों में टिकट बुकिंग़ की रफ्तार है उससे तो अंदाजा लगाया जा रहा है कि अगर बुकिंग की यही रफ्तार रही तो रेलवे को इसका नुकसान उठाना पड़ सकता है. रेलवे ने जब यात्री ट्रेनें शुरू करने का ऐलान किया था तब ये माना जा रहा था कि इन ट्रेनों में टिकट मिलना काफ़ी कठिन होगा, लेकिन जिस तरह से इन ट्रेनों में बुकिंग की रफ्तार से यही लगता है कि लोगों की यात्रा पर कोरोना का डर भारी पड़ रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading