अपना शहर चुनें

States

लालू यादव को लेकर सॉफ्ट हुए पप्पू यादव, फिर तेजस्वी-तेजप्रताप के खिलाफ उगली आग

जन अधिकार पार्टी के अध्यक्ष और पूर्व सांसद पप्पू यादव भी नियोजित शिक्षकों के साथ धरने पर बैठ गए हैं. (फाइल फोटो)
जन अधिकार पार्टी के अध्यक्ष और पूर्व सांसद पप्पू यादव भी नियोजित शिक्षकों के साथ धरने पर बैठ गए हैं. (फाइल फोटो)

पप्पू यादव ने कहा कि लालू यादव जी के दोनों लाल डरे हुए हैं और वर्ष 2020 में ये बुरी तरह से हारेंगे. उन्‍होंने विधानसभा चुनाव में सशर्त लालू यादव का साथ देने की बात कही है.

  • Share this:
जन अधिकार पार्टी के संयोजक और पूर्व सांसद पप्पू यादव ने लालू यादव के साथ जाने के संकेत दिए हैं. हालांकि, उन्होंने इसके लिए एक शर्त भी रखी है. पप्पू यादव ने पटना में प्रेस वार्ता के दौरान कहा कि लालू यादव के साथ वह पहले कभी थे और आज भी हैं. वह उनकी विचारधारा के साथ शुरू से खड़े रहे हैं. पप्‍पू यादव ने कहा कि वह लालू यादव के बेटों की तरह नहीं हैं जो सत्ता की खातिर अपने पिता को जेल में बंद रखते हैं.

तनाव में हैं लालू

पूर्व सांसद ने कहा कि लालू यादव आज बहुत तनाव में हैं और इस बुरे समय में हम उनके साथ खड़े हैं. मैं विधानसभा चुनाव में उनका साथ देने को तैयार हूं, लेकिन मैं साथ तभी जाऊंगा जब लालू जी इन लोगों से दूर होंगे. पप्पू यादव ने लालू परिवार पर निशाना साधते हुए कहा कि राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव को तबाह करने की तैयारी में है.



कुछ हुआ तो परिवार जिम्मेवार
पप्पू यादव ने लालू के परिवार पर भी हमला बोला. उन्‍होंने कहा कि यदि लालू यादव को कुछ होता है तो इसके लिए केवल और केवल उनका परिवार ही जिम्‍मेदार होगा. इसकी पूरी जिम्मेदारी एक मां और उनके तीन बच्चों पर होगी. पप्पू ने तेजस्वी, तेजप्रताप और राबड़ी देवी पर बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि ये लोग स्वार्थी हैं और जनता इन सबकी नौटंकी देख रही है. जनता उन्हें कभी माफ नहीं करेगी. पूर्व सांसद ने कहा कि विपक्ष के नेता को अपने पद पर रहने का कोई अधिकार नहीं है. नेता प्रतिपक्ष किसी काम के नहीं हैं और जनता इनसे मुक्ति चाहती है.

डरे हुए हैं लालू के दोनों लाल

पप्पू यादव ने कहा कि लालू यादव के दोनों लाल डरे हुए हैं और वर्ष 2020 में ये बुरी तरह से हारेंगे. दोनों भाइयों की संगठन में भी कोई पकड़ नहीं है. लालू यादव की पार्टी को दोनों भाइयों ने बर्बाद कर दिया है. पप्पू यादव ने राज्य की बिगड़ते कानून-व्यवस्था और मुजफ्फरपुर में बच्चों की मौत को लेकर आंदोलन करने की घोषणा की और कहा कि वह 16 जुलाई को पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ विधानसभा का घेराव करेंगे.

जवाबदेही से भाग रही सरकार

पप्‍पू यादव ने कहा कि बिहार में स्वास्थ्य सेवाएं चरमरा गई है. सैकड़ों बच्चों की मौत के गुनाहगार बिहार और केंद्र की दोनों सरकार है, लेकिन सरकार अपनी जिम्मेदारियों से भाग रही है. यही कारण है कि अब तक बच्चों की मौत को लेकर किसी की जवाबदेही तय नहीं हुई है. बिहार में अब तो सुशासन की सरकार है फिर भी जनता आज क्यों डरी हुई है? बच्चे क्यों असुरक्षित हैं? सुशासन बाबू को इसका जवाब देना होगा.

इनपुट- अमित कुमार सिंह
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज