Home /News /bihar /

आखिर ऐसा क्‍या हुआ कि DSP को शौच लगी तो DRM से लेकर रेल मंत्री तक पहुंच गई बात?

आखिर ऐसा क्‍या हुआ कि DSP को शौच लगी तो DRM से लेकर रेल मंत्री तक पहुंच गई बात?

Indian Railway News: पुलिस अधिकारी ने सेकेंड एसी कोच में रिजर्वेशन कराया था. टॉयलेट में लंबी लाइन देखकर वह काफी नाराज हो गए थे. (सांकेतिक तस्‍वीर)

Indian Railway News: पुलिस अधिकारी ने सेकेंड एसी कोच में रिजर्वेशन कराया था. टॉयलेट में लंबी लाइन देखकर वह काफी नाराज हो गए थे. (सांकेतिक तस्‍वीर)

Bihar News: जयनगर से पुरी को जाने वाली एक्‍सप्रेस ट्रेन के सेकेंड एसी कोच से बिहार के एक पुलिस अधिकारी यात्रा कर रहे थे. सुबह जब वह टॉयलेट के लिए उठे तो परेशान हो गए. टॉयलेट के बाहर लोगों की लंबी कतारें लगी हुई थीं. नाराज डीएसपी ने डीआरएम और रेल मंत्रालय से इसकी शिकायत कर दी. उधर से तत्‍काल कार्रवाई करने का जवाब आया.

अधिक पढ़ें ...

    पटना. बिहार के एक पुलिस अधिकारी से जुड़ा दिलचस्‍प वाकया सामने आया है. जयनगर-पुरी एक्‍सप्रेस से यात्रा कर रहे डीएसपी की समस्‍या पर डीआरएम से लेकर रेल मंत्रालय ने संज्ञान‍ लिया और उचित कार्रवाई का भरोसा दिलाया. डीएसपी साहब जयनगर-पुरी एक्‍सप्रेस के सेकेंड एसी कोच से परिवार संग यात्रा कर रहे थे. सुबह जब उनकी नींद खुली तो वह टॉयलेट के लिए गए, लेकिन वहां का नजारा देखकर वह दंग रह गए. ट्रेन के शौचालय के बाहर लंबी कतार लगी हुई थी. ऐसे में पुलिस अधिकारी को यह समझ नहीं आया कि एसी सेकेंट क्‍लास के कोच में इतने लोग कहां से आ गए कि टॉयलेट के बाहर कतार लगी हुई है? इसके बाद बिहार के DSP ने छानबीन शुरू कर दी, जिसमें चौंकाने वाली बात सामने आई.

    दरअसल, जिस कोच से बिहार के पुलिस अधिकारी यात्रा कर रहे थे, उससे लगता हुआ स्‍लीपर कोच था. एसी सेकेंड क्‍लास के टॉयलेट में लोग न होने की वजह से यात्रियों की लंबी कतार लग गई थी. इससे एसी कोच में सवार लोगों को काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ा था. ‘दैनिक जागरण’ की रिपोर्ट के अुनसार, यह वाकया 11 दिसंबर का है. बता दें कि आमतौर पर स्‍लीपर कोच में काफी ज्‍यादा भीड़ होती है. इसके चलते स्‍लीपर कोच के टॉयलेट की स्थिति भी बेहद खराब होती है. ऐसे में इस कोच में यात्रा करने वाले यात्री टॉयलेट के लिए एसी कोच में पहुंच जाते हैं.

    डीआरएम और रेल मंत्रालय से शिकायत
    बिहार के संबंधित पुलिस अधिकारी को सुबह-सुबह टॉयलेट जाना था, लेकिन शौचालय की हालत देखकर उन्‍हें काफी परेशानी हुई थी. इससे नाराज डीएसपी ने डीआरएम और रेल मंत्री को संदेश भेजकर सख्‍त नाराजगी जताई. इसके तत्‍काल बाद उनकी तरफ से तुरंत कार्रवाई की बात कही गई. मालूम हो कि एसी कोच से लगते स्‍लीपर कोच का रास्‍ता खुला होता है, जिससे यात्री इस कोच से उस कोच में चले जाते हैं.

    Bihar Rain And Cold Alert: बिहार में आज दिनभर छाए रह सकते हैं बादल, कल बारिश के आसार

     ट्रेनों में टॉयलेट की व्‍यवस्‍था
    ट्रेनों में टॉयलेट की मुकम्‍मल व्‍यवस्‍था की जाती है. साथ ही उसके साफ-सफाई का भी ख्‍याल रखा जाता है. लेकिन, सामान्‍य और स्‍लीपर कोचों में यात्रियों की अधिकता की वजह से टॉयलेट की संख्‍या कम पड़ जाती है. इस समस्‍या से निजात पाने के लिए एसी कोच से लगते स्‍लीपर कोच के यात्री एसी कोच के टॉयलेट का इस्‍तेमाल करते हैं.

    Tags: Bihar police, Indian Railway news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर