Bihar Assembly Election: दिल्ली बुलाए गए BJP-JDU के शीर्ष नेता, सीटों के बंटवारे पर आज ऐलान संभव

बिहार में फिलहाल सीट शेयरिंग को राजनीतिक हालात तेजी से बदल रहे हैं. (एनडीए नेताओं की फाइल फोटो)
बिहार में फिलहाल सीट शेयरिंग को राजनीतिक हालात तेजी से बदल रहे हैं. (एनडीए नेताओं की फाइल फोटो)

Bihar Assembly Election: बिहार में पहले चरण के चुनाव को लेकर एक महीने से भी कम का समय बचा है, ऐसे में उम्मीद जताई जा रही है कि एनडीए (NDA) के पहले राउंड के उम्मीदवारों का ऐलान आज हो जाएगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 30, 2020, 7:05 AM IST
  • Share this:
पटना. बिहार में विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election) की तैयारियों के बीच बुधवार का दिन खास माना जा रहा है. उम्मीद जताई जा रही है कि NDA बुधवार को सीटों के बंटवारे को लेकर आधिकारिक रूप से अंतिम फैसला ले लेगा. यही कारण है कि BJP के शीर्ष नेताओं को आनन-फानन में दिल्ली बुलाया गया है. मंगलवार की शाम जहां पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष संजय कुमार जायसवाल और संगठन प्रभारी नागेंद्र को दिल्ली बुलाया गया तो वहीं बुधवार की सुबह सुशील कुमार मोदी और मंगल पांडे को भी दिल्ली तलब किया गया है.

दूसरी ओर JDU के भी शीर्ष नेताओं को दिल्ली बुलाया गया है. जानकारी के मुताबिक, जेडीयू की तरफ से टिकट पर बातचीत कर रहे सांसद राजीव रंजन उर्फ ललन सिंह भी बुधवार की सुबह दिल्ली जाएंगे. वहां दिल्ली में बीजेपी और जेडीयू के नेताओं के बीच फाइनल बातचीत होगी. कयास ये भी लगाए जा रहे हैं कि दिल्ली में ही पहले राउंड का टिकट फाइनल करने के बाद आधिकारिक रूप से इसकी घोषणा की जाएगी.

सूत्रों से जो जानकारी मिल रही है उसके मुताबिक बुधवार को जेडीयू-बीजेपी और मांझी की पार्टी के बीच तालमेल का औपचारिक एलान किया जा सकता है. सूत्रों के हवाले से मिल रही खबर के मुताबिक अगर लोजपा एनडीए का साथ छोड़ती है तो जेडीयू के हिस्से में 127 सीटें आएंगी, हालांकि इसकी आधिकारिक पुष्टि अभी नहीं हुई है. ऐसे में सीटों का गणित चिराग के फैसले के बाद बदल भी सकती है.



बिहार चुनाव से पहले से ही एनडीए गठबंधन में लगातार नाराज चल रहे चिराग पासवान से भी बुधवार को अंतिम दौर की वार्ता हो सकती है. दरअसल, सभी की निगाहें चिराग पासवान के फैसले पर ही है और लोजपा के भी अधिकांश नेता दिल्ली में डेरा डाले हुए हैं. दोपहर तक चिराग भी अपना फैसला पार्टी के नेताओं को बता सकते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज