JDU ने कसी अजय आलोक पर नकेल, जवाब में बोले- परेशानी हो तो पार्टी से निकाल क्यों नहीं देते?

जेडीयू के पूर्व प्रवक्ता अजय आलोक की फाइल फोटो
जेडीयू के पूर्व प्रवक्ता अजय आलोक की फाइल फोटो

अजय आलोक जेडीयू (JDU) के कद्दावर नेता माने जाते हैं. वह न्यूज चैनल्स पर होने वाले डिबेट में काफी समय से जेडीयू का प्रतिनिधित्व करते आ रहे थे.

  • Share this:
पटना. हाल के दिनों में पार्टी लाइन से अलग होकर बयान देने वाले जेडीयू (JDU) नेता अजय आलोक (Ajay Alok) के खिलाफ पार्टी ने बड़ी कार्रवाई की है. पार्टी ने स्‍पष्‍ट शब्‍दों में अजय आलोक को मीडिया या फिर ट्वीट (Tweet) के जरिये बयान न देने का निर्देश दिया है. पार्टी प्रवक्ता राजीव रंजन प्रसाद ने कहा कि जेडीयू नेता के तौर पर अब अजय आलोक मीडिया में कोई भी बयान जारी नहीं दे सकते हैं. इसके साथ ही अजय आलोक के प्रवक्ता के पद से हटने के बाद से ही पार्टी ने उनके सारे बयानों को खारिज कर दिया है.

प्रवक्ता पद से हटने के बाद भी अजय आलोक के दिए गए बयानों को पार्टी ने अनुशासन का उल्‍लंघन माना है. जेडीयू प्रवक्ता राजीव रंजन ने कहा कि अजय आलोक पार्टी लाइन से अलग हटकर बयान देते रहे हैं, लेकिन अब उनके बयानों को पार्टी बर्दाश्त नहीं करेगी. पार्टी ने पहले भी अजय आलोक को चेतावनी दी थी, इसके बावजूद अजय आलोक बयान देते रहे.

आलोक का पलटवार



पार्टी की इस कार्रवाई का अजय आलोक ने दो टूक जवाब दिया है. अजय आलोक ने कहा कि अगर मेरे बयानों और पार्टी में मेरे रहने से इतनी ही परेशानी है तो मुझे पार्टी से निकाल दें. या फिर मुझे कहें तो मैं अभी पार्टी की सदस्यता से भी इस्तीफा दे दूं. आलोक ने कहा, 'मुझे आश्चर्य इस बात से है कि जब हमने पार्टी लाइन के खिलाफ कोई बयान ही नहीं दिया तो पार्टी मुझसे परेशान ही क्यों है. यह बेहद हास्यास्पद है.' आलोक के मुताबिक, पार्टी ने न तो मुझे कोई नोटिस दिया है और न ही मौखिक रूप से बयान देने की कोई मनाही की है. जेडीयू नेता ने कहा कि उन्‍हें न्यूज 18 के जरिये ही पता चल रहा है कि उनके बयानों को पार्टी ने खारिज किया है और आगे बयान देने की मना किया है.
इनपुट- अमित कुमार सिंह

ये भी पढ़ें- सेल्फी लेने के चक्कर में 80 फीट उंचे झूले से जमीन पर आ गिरी युवती, हालत नाजुक

ये भी पढ़ें- 'जल प्रलय' से उबरे पटना को डंस रहा डेंगू का डंक, 800 पार पहुंची मरीजों की संख्या
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज