होम /न्यूज /बिहार /नीतीश को पीएम कैंडिडेट बनाने की जदयू ने फिर उठाई मांग, महागठबंधन के सहयोगी दलों ने चौंकाया!

नीतीश को पीएम कैंडिडेट बनाने की जदयू ने फिर उठाई मांग, महागठबंधन के सहयोगी दलों ने चौंकाया!

नीतीश कुमार को विपक्ष का पीएम उम्मीदवार बनाने की जदयू की मांग.

नीतीश कुमार को विपक्ष का पीएम उम्मीदवार बनाने की जदयू की मांग.

Bihar News: गुजरात विधानसभा चुनाव के बीच जदयू ने एक बार फिर विपक्ष की ओर से पीएम पद का मुद्दा उठा दिया है. जदयू के नेता ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

जदयू के नेता गुलाम रसूल बलियावी ने फिर नीतीश कुमार को पीएम कैंडिडेट बनाने की मांग की.
महागठबंधन के सहयोगी दलों- कांग्रेस, लेफ्ट और राजद की इस प्रतिक्रिया से खड़े हो रहे सवाल.
वर्ष 2024 लोकसभा चुनाव में जदयू की ओर से नीतीश कुमार को पीएम कैंडिडेट बताया जा रहा.

पटना. वर्ष 2024 के लोकसभा चुनाव के लिए नीतीश कुमार लगातार देशभर के नेताओं से मुलाकात कर गैर बीजेपी दलों को एकजुट करने की मुहिम में लगे हुए हैं. इसी बीच जदयू ने एक बार फिर से इस मांग को उठा सियासत गर्मा दी है कि नीतीश कुमार को 2024 के लोकसभा चुनाव में प्रधानमंत्री का उम्मीदवार बनाया जाए. हालांकि, जदयू की इस मांग के बाद महागठबंधन में शामिल सहयोगी कांग्रेस पार्टी और वाम दलों ने इशारों में नीतीश की दावेदारी पर सवाल खड़ा कर दिया तो राजद ने भी इशारों में जवाब दिया.

दरअसल, जेडीयू के राष्ट्रीय महासचिव गुलाम रसूल बलियावी ने विपक्ष की तरफ से नीतीश कुमार के नाम को प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार के तौर पर आगे बढ़ाने की मांग कर दी है. उन्होंने कहा कि देश स्तर पर सीएम नीतीश कुमार सभी विपक्षी दलों को एक करने में लगे हैं. एक बहुत बड़ी आबादी इंतजार कर रही है कि देश के नेतृत्व के लिए नीतीश कुमार का नाम मिलकर आगे बढ़ाएं तो 3 महीने के अंदर भारत की राजनीति में इंकलाब आ जाएगा.

बलियावी ने कहा, हमारे नेता ने सब को एक मंच पर आने का निमंत्रण दिया और लोगों के घर वे खुद चल कर गए. एक मंच पर आइए अगर नीतीश कुमार के चेहरे को विपक्षी दलों की तरफ से आगे बढ़ाया जाता है, तो 2024 में कोई चुनौती नहीं, कोई लड़ाई ही नहीं बचेगी. वहीं, जदयू के प्रदेश प्रेसिडेंट उमेश कुशवाहा भी मानते हैं कि नीतीश कुमार पीएम पद के सबसे योग्य उम्मीदवार हैं और देश की जनता भी इसे बेहतर समझती है. फिलहाल वो गैर बीजेपी विरोधियों को एकजुट करने में जुटे हुए हैं.

एक तरफ जदयू के नेता नीतीश कुमार को पीएम दावेदार बता रहे हैं, वहीं उनके सहयोगी वाम दल के नेता इस तरह से किसी के नाम को अभी पीएम पद के लिए आगे करने की बात को गलत बताते हैं. वाम दल के नेता माले विधायक महबूब आलम साथ में ये भी कहना नहीं भूलते कि इसकी अभी कोई जरूरत नहीं है. अभी जरूरत है कि तमाम बीजेपी विरोधी दलों को एकजुट करे जब 2024 का परिणाम आएगा तब किसी नाम को तय कर लिया जाएगा.

वहीं, कांग्रेस एमएलसी प्रेमचंद्र मिश्रा भी जदयू नेताओं की मांग को नीतीश कुमार के हवाले से ही खारिज करते दिखते हैं. कहते हैं जब नीतीश कुमार ने खुद ही कई मौकों पर इसका खंडन कर दिया है तो उनके पार्टी के नेता ये मांग करते हैं. इसका कोई मतलब नहीं है, अभी जरूरी है बीजेपी के खिलाफ मजबूती से लड़ाई लड़ने की जिसकी लड़ाई राहुल गांधी पद यात्रा के जरिए कर रहे हैं. अब जब 2024 का लोकसभा चुनाव का समय आएगा तब तय किया जाएगा. कौन होगा चेहरा अभी इसकी कोई जरूरत नहीं है.

वहीं राजद प्रवक्ता एजाज अहमद इशारों में नीतीश कुमार को विरोधी एकता को बनाने वाले मजबूत नेता के तौर पर जरूर मानते हैं और ये भी कहते हैं फिलहाल नीतीश जी गैर बीजेपी विरोधियों को एकजुट करने में लगे हुए हैं. साथ ही ये भी कहते हैं कि 2024 में नीतीश कुमार बड़े नेता के तौर पर उभरेंगे.

Tags: Bihar News, Bihar politics, CM Nitish Kumar, PATNA NEWS

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें