लाइव टीवी

पवन वर्मा पर भड़के JDU नेता अजय आलोक, कहा- शांत रह कर अपना धंधा-पानी करें
Patna News in Hindi

News18Hindi
Updated: January 30, 2020, 12:00 PM IST
पवन वर्मा पर भड़के JDU नेता अजय आलोक, कहा- शांत रह कर अपना धंधा-पानी करें
JDU नेता अजय आलोक ने पवन वर्मा पर हमला किया है. (फाइल फोटो)

जेडीयू (JDU) नेता अजय आलोक ने निशाना साधते हुए कहा कि जब नीतीश कुमार (Nitish Kumar) सीएम बने थे, तब पवन वर्मा का जन्म भी नहीं हुआ था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 30, 2020, 12:00 PM IST
  • Share this:
पटना: बिहार में सियासी हलचलों के बीच जेडीयू (JDU) नेता अजय आलोक ने एक बार फिर पवन कुमार वर्मा पर जबरदस्त हमला किया है. उन्होंने कहा कि जब वह पार्टी से अलग हो ही गए हैं तो शांत रहें और अपना धंधा-पानी करें. दरअसल, पूर्व राज्यसभा सांसद पवन वर्मा ने दिल्ली में बीजेपी (BJP) के साथ पार्टी के गठबंधन का विरोध करते हुए खुला खत लिखा था और सीएम नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) पर कई गंभीर आरोप लगाए थे.

पैरों में गिर गए थे पवन
पवन वर्मा पर जेडीयू नेता अजय आलोक ने निशाना साधते हुए कहा, 'जब नीतीश सीएम बने थे, तब पवन वर्मा का जन्म भी नहीं हुआ था. वह अपनी औकात में रहकर बात करें. उनको जानता ही कौन है? रिटायरमेंट के बाद पवन पैरों में गिर गए थे. इनको शर्म आनी चाहिए. उन्हें राज्यसभा की पेंशन भी नीतीश के कारण ही मिल रही है.'

जेडीयू ने पार्टी से निकाला
गौरतलब है कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने लंबी खींचतान के बाद पार्टी उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर और पूर्व राज्यसभा सांसद पवन वर्मा को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया है. जेडीयू के मुताबिक, ये दोनों नेता लगातार पार्टी के खिलाफ बयानबाजी कर रहे थे. पार्टी ने कहा कि प्रशांत किशोर और पवन वर्मा लगातार पार्टी नेतृत्व के खिलाफ सवाल खड़ा कर रहे थे. सीएम नीतीश कुमार ने उन्हें बार-बार कहा था कि वह अपनी बात को पार्टी के सही मंच पर रखें. मगर इन दोनों लोगों ने लगातार पार्टी के खिलाफ आवाज बुलंद की और इसलिए पार्टी ने इन्हें बाहर निकाल दिया.

नीतीश के सलाहकार भी रहे हैं पवन
राजनीति में आने से पहले पवन वर्मा एक पूर्व भारतीय विदेश सेवा अधिकारी रहे हैं. साथ ही वह बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के सलाहकार भी रहे. जेडीयू ने उन्हें साल 2014 में राज्यसभा भेजा. वह जून 2014 से जुलाई 2016 तक राज्यसभा सांसद रहे. पवन वर्मा प्रमुख अंग्रेजी अखबारों के लिए स्तंभकार भी हैं.

ये भी पढ़ें: जेडीयू ने की प्रशांत किशोर और पवन वर्मा पर बड़ी कार्रवाई, पार्टी से बाहर निकाला

ये भी पढ़ें: पवन वर्मा के बाद अब PK को CM नीतीश की दो टूक, कहा- JDU छोड़कर जाना चाहें, तो जाएं

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 30, 2020, 11:32 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर