Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    मुसलमानों ने नीतीश की पार्टी को किया खारिज तो जदयू नेता का छलका दर्द! बोले- कोई किसी के विकास के लिए क्यों काम करेगा?

    मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपने मुख्यमंत्रित्व काल में मुस्लिम समुदाय के लिए अनेकों काम किए.
    मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपने मुख्यमंत्रित्व काल में मुस्लिम समुदाय के लिए अनेकों काम किए.

    इस बार के बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Elections) में नीतीश कुमार (Nitish Kumar) की जदयू ने 11 सीटों पर मुस्लिम उम्मीदवारों को टिकट दिए थे, लेकिन पार्टी से एक कैंडिडेट भी नहीं जीत सका.

    • News18Hindi
    • Last Updated: November 14, 2020, 1:42 PM IST
    • Share this:
    पटना. बिहार विधानसभा चुनाव परिणामों (Bihar Assembly Election Results) में जैसे-तैसे एनडीए (NDA) बहुमत तो पा गया लेकिन, सीएम नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) की पार्टी JDU के लिए चुनाव परिणाम कई मायने में निराशाजनक रहा. जिस बात से JDU सबसे ज़्यादा निराश हैं वो यह कि जदयू के टिकट पर एक भी मुस्लिम विधायक का नहीं जीत पाए. इस बात की कसक जदयू नेताओं की बातों से साफ झलक रही है.  रह-रह कर  JDU के नेताओं की बातों में यह दर्द भी  छलक रहा है.  JDU MLC ग़ुलाम रसूल बलियावी (Ghulam Rasool Baliyavi) ने न्यूज़ 18 से बातचीत अपनी पीड़ा का इजहार करते हुए कहा कि आख़िर क्यों कोई किसी के विकास के लिए काम करेगा? जितना काम नीतीश कुमार ने मुस्लिम समुदाय (Muslim community) के लिए किया उतना किसी न नहीं किया, फिर भी मुस्लिम समुदाय ने ऐसा क्यों किया पता नहीं.

    बता दें कि इस बार के चुनाव में 19 मुस्लिम विधायक जीते हैं, जबकि 2015 में 24 मुस्लिम विधायक चुने गए थे. आरजेडी के टिकट पर सबसे ज्यादा 8 मुस्लिम जीते हैं, जबकि दूसरे नंबर 5 मुस्लिम विधायक इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) से चुने गए हैं. इसके अलावा कांग्रेस के चार, सीपीआई (माले) से एक और एक बसपा के टिकट पर जीत हासिल की है जबकि जेडीयू से एक भी मुस्लिम नहीं जीत सका. वहीं, 2015 के चुनाव में आरजेडी से 11, कांग्रेस से 7, जेडीयू से 5 और सीपीआई (माले) से एक मुस्लिम विधायक चुने गए थे.

    बता दें कि इस चुनाव में नीतीश कुमार की जदयू ने 11 सीटों पर मुस्लिम उम्मीदवारों को टिकट दिए थे. जेडीयू ने पूर्वी चंपारण के सिकटा से खुर्शीद, शिवहर से शरफुद्दीन को, अररिया से शगुफ्ता अजीम, ठाकुरगंज से नौशाद आलम, कोचाधामन से मो. मुजाहिद आलम, अमौर से सवा जफर, दरभंगा ग्रामीण से फराज फातमी, कांटी से मो. जमाल, मढ़ौरा से अलताफ राजू, महुआ से आस्मा परवीन और डुमरांव से अंजुम आरा को टिकट दिया था. लेकिन, एक भी प्रत्याशी जीत नहीं सके.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज