लाइव टीवी

'तीन राज्यों में जीत से कांग्रेस मदमस्त, लेकिन सत्ता में हिस्सेदारी लालू यादव के स्वभाव और व्यवहार में नहीं'
Patna News in Hindi

News18 Bihar
Updated: February 9, 2019, 3:05 PM IST
'तीन राज्यों में जीत से कांग्रेस मदमस्त, लेकिन सत्ता में हिस्सेदारी लालू यादव के स्वभाव और व्यवहार में नहीं'
केसी त्यागी (फाइल फोटो)

जेडीयू नेता ने दावा किया कि एनडीए का बढ़ता हुआ जनाधार है उसमें गठबंधन को 35 सीटों पर बढ़त है, जिसे झेलना हम और रालोसपा को छोड़िए, आरजेडी की बूते की भी बात नहीं होगी. उन्होंने कांग्रेस पर तंज कसते हुए कहा कि तीन राज्यों की सफलता ने कांग्रेस को मदमस्त कर दिया है.

  • Share this:
राष्ट्रीय लोक समता पार्टी और हिन्दुस्तानी आवाम मोर्चा में पड़ी फूट पर जेडीयू नेता केसी त्यागी यादव ने तंज कसा है. उन्होंने कहा कि ईर्ष्या और विद्वेषों पर आधारित दलों के पास ना ठोस जमीन है, ना विचारधारा. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के खिलाफ निंदा अभियान का हिस्सा हैं ये दल. आने वाले दिनों में इस तरह के और भी विस्फोट इन दलों में होंगे. उन्होंने कांग्रेस और आरजेडी के बीच सीट बंटवारे को लेकर फंसे पेच पर कहा कि लालू यादव किसी को स्पेस नहीं देते. सत्ता में हिस्सेदारी उनके स्वभाव और व्यवहार में नहीं है.

जेडीयू नेता ने दावा किया कि एनडीए का बढ़ता हुआ जनाधार है उसमें गठबंधन को 35 सीटों पर बढ़त है. जिसे झेलना हम और रालोसपा को छोड़िए, आरजेडी की बूते की भी बात नहीं होगी. उन्होंने कांग्रेस पर चुटली के लेते हुए कहा कि तीन राज्यों की सफलता ने कांग्रेस को मदमस्त कर दिया है.

ये भी पढ़ें-  'आंखों में आंखें डालकर राजनीति करे कांग्रेस, मोदीजी की ईमानदारी पर कोई माई का लाल उंगली नहीं उठा सकता'

यूपी में कोई स्पेस ना मिलने के बाद कांग्रेस का सारा दारोमदार बिहार पर है. लालू प्रसाद अगर स्पेस छोड़ते तो हम भी उनसे अलग ना होते. सत्ता में हिस्सेदारी उनके स्वभाव और व्यवहार में नहीं. अगर कांग्रेस और राजद में रिश्ते खराब हो तो आश्चर्य नहीं होगा.

केसी त्यागी के बयान के बाद आरजेडी ने इसपर कहा कि रालोसपा और हम के टूटने से महागठबन्धन पर कोई असर नहीं पड़ने वाला है. पार्टी के सांसद और प्रवक्ता मनोज झा ने कहा कि नागमणि का कब और कहां आना-जाना है ये उन्हें भी नहीं मालूम. वे  कई दलों में रह चुके हैं इसलिए उनके जाने से न तो महागठबंधन पर कोई असर पड़ेगा और न ही रालोसपा पर. उन्होंने दावा किया कि चुनाव तारीख की घोषणा होने से पहले सीटों का बंटवारा हो जाएगा.

ये भी पढ़ें- 15 फरवरी से कांग्रेस की पिच पर नई राजनीतिक पारी का आगाज करेंगे कीर्ति आजाद !

आपको बता दें कि रालोसपा के दो विधायक ललन पासवान और सुधांशु शेखर के साथ पार्टी के राष्ट्री उपाध्यक्ष भगवान कुशवाहा भी पार्टी छोड़ चुके हैं. वहीं कार्यकारी अध्यक्ष नागमणि को भी पद से हटाते हुए कारण बताओ नोटिस दिया गया है.जबकि जीतन राम मांझी की पार्टी हम के राष्ट्रीय प्रवक्ता दानिश रिजवान और प्रदेश अध्यक्ष वृषिण पटेल ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है.

इनपुट- दिवाकर

ये भी पढ़ें-  जगदेव बाबू के नाम से क्यों जुड़ना चाहता है हर राजनीतिक दल, जानिए कारण

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 9, 2019, 2:48 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर