Assembly Banner 2021

NDA में सीटों के चयन पर फंसा है पेच, BJP की सीटों पर JDU-LJP की दावेदारी ने बढ़ाई 'टेंशन'

फाइल फोटो

फाइल फोटो

एलजेपी ने भी मोटे तौर पर अपनी सीटों को सार्वजनिक कर दिया है. एलजेपी नवादा से अपने उम्मीदवार उतारने की बात कह रही है. ऐसे में बीजेपी के लिए दुविधा की स्थिति है.

  • Share this:
बिहार में एनडीए गठबंधन में बीजेपी, जेडीयू और एलजेपी के बीच सीटों के बंटवारे का फॉर्मूला 17:17:6 का है. हालांकि एनडीए के भीतर सीटों के चयन को लेकर रार अभी थमा नहीं है. इस बीच जेडीयू ने अपने हिस्से की सीटों का चयन कर लिया है. जेडीयू ने जो सीटें अपने हिस्से में रखी हैं, उनमें से 2014 के चुनाव में 14 सीटों पर बीजेपी ने पिछला चुनाव लड़ा था.

एलजेपी ने भी मोटे तौर पर अपने सीटों को सार्वजनिक कर दिया है. एलजेपी नवादा से अपने उम्मीदवार उतारने की बात कह रही है. ऐसे में बीजेपी के लिए दुविधा की स्थिति है. तीन दलों के गठबंधन में अब भी तीन सीटें ऐसी हैं बीजेपी-जेडीयू और एलजेपी के लिए मुश्किल का सबब बनी है.

ये भी पढ़ें- 'पाटलिपुत्र-पटना साहिब से JDU नहीं खड़ा करेगी अपना प्रत्याशी, 18 तक NDA की सीटों का ऐलान'



दरअसल जेडीयू के पास लोकसभा की दो ही सीट नालंदा और पूर्णिया है. इसके साथ जेडीयू बीजेपी और आरएलएसपी (एनडीए से अलग हो चुकी उपेन्द्र कुशवाहा की पार्टी) और बीजेपी के खाते वाली पाटलिपुत्र (जेडीयू दावेदारी वापस ले सकती है), जहानाबाद, काराकाट, औरंगाबाद, बक्सर, वाल्मीकिनगर, सीतामढ़ी, दरभंगा, बांका, किशनगंज, झंझारपुर, सुपौल, मधेपुरा और गोपालगंज पर अपना दावा ठोकने जा रही है.
इनमें से पाटलिपुत्र सीट से बीजेपी सांसद रामकृपाल यादव फिलहाल केंद्रीय मंत्री हैं. वहीं बक्सर के बीजेपी सांसद अश्विनी कुमार चौबे भी केंद्रीय मंत्री हैं. जबकि एलजेपी की मुंगेर सीट पर भी जेडीयू ने अपनी दावेदारी पेश करने का फैसला लिया है.

ये भी पढ़ें-  बड़ा दिल दिखाए RJD-कांग्रेस, हर कुर्बानी को रहे तैयार: मुकेश सहनी

माना जा रहा है कि नवादा सीट एलजेपी के खाते में जा सकती है. वहां से बीजेपी के सांसद गिरिराज सिंह भी फिलहाल केंद्रीय मंत्रिपरिषद के सदस्य हैं. जाहिर है इनमें दो-तीन सीटों पर पेच फंस सकता है. दूसरी ओर नवादा, वैशाली, समस्तीपुर, हाजीपुर, खगड़िया और जमुई सीटें एलजेपी के लिए पक्की मानी जा रही है.

ये भी पढ़ें-  JDU ने जारी किया नया स्लोगन - 'सच्चा है, अच्छा है-चलो नीतीश के साथ चलें'

वहीं बीजेपी अररिया, पटना साहिब, कटिहार, गया, आरा, भागलपुर, बेतिया, मोतिहारी, शिवहर, उजियारपुर, मधुबनी, छपरा, महाराजगंज, सीवान, बेगूसराय, मुजफ्फरपुर और सासाराम पर अपने उम्मीदवार उतारने जा रही है. हालांकि इन सीटों पर अभी नाम तय नहीं किए गए हैं, लेकिन इसके लिए तीनों पार्टियों के शीर्ष नेतृत्व की जल्द बैठक होने वाली है.

ये भी पढ़ें-  लोकसभा चुनाव 2019: सारण सीट से लालू प्रसाद के समधी की संभावित उम्मीदवारी के क्या हैं मायने
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज